चीनी जनता के विरोध के बाद चीन सरकार झुक गई, भारत से जुड़े कोरोना संबंधित ट्वीट को हटाना पड़ा

भारत में कोरोना से होने वाली मौतों के बारे चीनी एजेंसी के ट्वीट का चीन में ही जबरदस्त विरोध हुआ। आम लोगों के विरोध के बाज सोशल मीडिया पोस्ट को हटा दिया गया।

चीनी जनता के विरोध के बाद चीन सरकार झुक गई, भारत से जुड़े कोरोना संबंधित ट्वीट को हटाना पड़ा
भारत में कोरोना संबंधित जानकारी के बारे में की गई थी विवादित टिप्पणी 

मुख्य बातें

  • भारत में कोरोना के आंकड़े जिस दिन चार लाख के पार गए थे उस दिन चीन ने किया था ट्वीट
  • चीन के लोगों ने अपनी ही सरकार को इस मुद्दे पर घेरा
  • चीन ने दोनों देशों में आग का किया था जिक्र, हमारी आग स्पेस मिशन के लिए और भारत की आग चिताओं के लिए

दुनिया के अलग अलग देश कोरोना महामारी का सामना कर रहे हैं। भारत उनमें से एक है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर कि भयावहता को इस बात से समझा जा सकता है अस्पताल, आक्सीजन की कमी का रोना रो रहे हैं तो दूसरी तरफ श्मशान घाटों पर शवों को जलाने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। इस संबंध में चीन की टॉप लॉ एनफोर्समेंट ने भारत की खिल्ली उड़ाते हुए पोस्ट किया। लेकिन बड़ी बात यह है कि चीन में इसकी आलोचना के बाद उस पोस्ट को हटा लिया गया है। 

सरकारी एजेंसी की तरफ से की गई थी ट्वीट
कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना और उसके लीगल अफेयर्स की कमीशन की तरफ से ट्वीट किया गया था कि जिसमें स्पेस मिशन के लिए भेजे जाने वाले सैटेलाइट की लांचिंग में आग को दिखाया गया था और उसके साथ भारत में चिताओं की धधकती ज्वाला दिखाई गई थी। इसके साथ ही कैप्शन दिया गया कि चीन की आग और भारत की आग में कितना फर्क है, हालांकि उसे बाद में हटा लिया गया।

चीनी जनता को था ऐतराज
चीन के लोगों ने इस पर ऐतराज जताया और लोगों के मूड को देखते हुए उस पोस्ट को हटा लिया गया। लोगों का कहना था कि महामारी के इस दौर में हम इस तरह की हरकत कैसे कर सकते हैं। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि आने वाले दिन में व्यवहारिक तरीके से भारत को और मदद भेजी जाएगी। चीन के नागरिकों ने कहा कि महामारी का सामना कोई भी मुल्क आगे भी कर सकता है, ऐसे में देश की शीर्ष एजेंसियों को सोच समझ कर बयान देना चाहिए। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर