Sri Lanka: श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया ने प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को नियुक्त किया वित्त मंत्री

दुनिया
भाषा
Updated May 25, 2022 | 15:06 IST

Sri Lanka New Finance Minister: श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को बुधवार को देश का नया वित्त मंत्री नियुक्त किया गया है। राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने उन्हें ये जिम्मेदारी सौंपी है।

Sri Lankan President Gotabaya appointed Prime Minister Ranil Wickremesinghe as Finance Minister
श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे।  |  तस्वीर साभार: AP
मुख्य बातें
  • रानिल विक्रमसिंघे को बनाया गया श्रीलंका का नया वित्त मंत्री
  • राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने किया नियुक्त
  • अभी आर्थिक संकट से जूझ रहा है श्रीलंका

Sri Lanka New Finance Minister: श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को बुधवार को देश का नया वित्त मंत्री नियुक्त किया है। एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई। 73 साल के रानिल विक्रमसिंघे को राष्ट्रपति ने वित्त, आर्थिक स्थिरता और राष्ट्रीय नीति मंत्री के रूप में शपथ दिलाई।  पांच बार प्रधानमंत्री रहे विक्रमसिंघे को श्रीलंका में पैदा हुए बड़े आर्थिक संकट के कारण उभरे राजनीतिक संकट के बाद 12 मई को फिर से नियुक्त किया गया था। 

हाल ही में प्रधानमंत्री बने हैं रानिल विक्रमसिंघे

उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे का स्थान लिया, जिन्होंने आर्थिक संकट से निपटने के लिए एक सर्वदलीय अंतरिम सरकार नियुक्त करने की अपने भाई की योजना को अंजाम तक पहुंचाने के लिए पद से इस्तीफा दे दिया था। रानिल विक्रमसिंघे के कार्यालय ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने द्वीप के अन्य देशों के साथ संबंधों को फिर से स्थापित किया, संविधान में 21 संशोधनों के मसौदे के साथ संवैधानिक सुधार के लिए कदम उठाए, ईंधन की आपूर्ति सुनिश्चित की और वह अंतरिम बजट की तैयारी कर रहे हैं।

Ranil Wickremesinghe : श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री होंगे रानिल विक्रमसिंघे, आज ले सकते हैं शपथ

श्रीलंका ने आर्थिक मदद के लिए आईएमएफ से बात शुरू की

रानिल विक्रमसिंघे के पास 225 सदस्यीय विधानसभा में केवल अपनी एक सीट है। वह लचर अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के अपने तत्काल कार्य में समर्थन के लिए अन्य राजनीतिक दलों पर निर्भर हैं। श्रीलंका ने अप्रैल के मध्य में अपने दिवालिया होने की घोषणा करते हुए कहा था कि वह इस साल अंतरराष्ट्रीय ऋण का भुगतान नहीं पाएगा। श्रीलंका ने आर्थिक मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से बात शुरू की है।

एक नेता जो दूरदर्शी नीतियों से अर्थव्यवस्था का प्रबंधन कर सकता है, जानें श्रीलंका के नए PM रानिल विक्रमसिंघे के बारे में

रानिल विक्रमसिंघे ने ऐसे समय में पदभार संभाला है, जब सरकार द्वारा अर्थव्यवस्था को ठीक से न संभालने के लिए सड़कों पर विरोध प्रदर्शन हो रहे थे। गोटबाया राजपक्षे के राष्ट्रपति पद से इस्तीफे की मांग को लेकर नौ अप्रैल से विरोध प्रदर्शन जारी है। हालांकि गोटबाया ने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर