दाऊद पर कबूलनामे से पलटा पाकिस्तान, कहा- हमारे देश में नहीं है अंडरवर्ल्ड डॉन

पाकिस्तान के झूठ पर झूठ बोलने का सिलसिला जारी है। पहले दाऊद की अपने यहां मौजूदगी को स्वीकार करने वाले पाकिस्तान ने अब इसे नकारते हुए कहा है कि अंडरवर्ल्ड डॉन हमारे यहां नहीं है।

 Now Pakistan officially denies the presence of underworld don Dawood Ibrahim in Pakistan
दाउद पर कबूलनामे से पलटा पाक, कहा- हमारे यहां नहीं है डॉन 

मुख्य बातें

  • दाऊद इब्राहीम पर कूबलनामे से पलटा पाकिस्तान, कहा- मीडिया रिपोर्ट्स निराधार
  • इससे पहले शनिवार को पाकिस्तान ने पहली बार दाऊद की मौजूदगी की थी स्वीकार
  • एफएटीएफ के कड़े प्रतिबंधों की वजह से पाकिस्तान पर है भारी दवाब

इस्लामाबाद: शनिवार को पाकिस्तान ने पहली बार माना कि भारत का मोस्ट वांटेड आतंकवादी और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम उसकी धरती पर मौजूद है लेकिन अपनी आदत से मजबूर पाकिस्तान ने कुछ ही घंटे बाद ऐसी पलटी मारी कि उससे हर कोई हैरान रह जाएगा। कुछ ही घंटे बाद पाकिस्तान ने दाऊद इब्राहिम की मौजूदगी को आधिकारिक तौर पर नकारते हुए कहा कि उसकी जमीन पर दाऊद इब्राहीम मौजूद नहीं है। उल्टा पाकिस्तान ने मीडिया के सिर इसका ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि मीडिया की रिपोर्ट निराधार और भ्रामक है।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने जारी किया बयान

 पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि पाकिस्तान और भारतीय मीडिया में कुछ सूचीबद्ध लोगों (दाऊद इब्राहीम) का जिक्र यह कहते हुए किया जा रहा है कि वो पाकिस्तान में मौजूद हैं। यह दावा निराधार और भ्रामक है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि वो इन लोगों पर किसी तरह के नए प्रतिबंध लगा रहा है। तो इससे साफ है कि पाकिस्तान ने दाऊद को लेकर फिर से पलटी मारी है।

पाकिस्तानी मीडिया ने भी किया था दावा

 पाकिस्तान लगातार अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद वित्तपोषण पर निगरानी रखने वाली संस्था ‘वित्तीय कार्रवाई कार्य बल’ (एफएटीएफ) की ‘संदिग्ध सूची’ से बाहर आने की कोशिशे कर रहा है और उसके इस कदम को इसी से जोड़कर देखा जा रहा था जिससे उसने अब पलटी मार ली है। इससे पाकिस्तानी मीडिया में कहा जा रहा था कि 88 प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों और हाफिज सईद, मसूद अजहर और दाऊद इब्राहिम समेत उनके आकाओं पर कड़े वित्तीय प्रतिबंध लगाये हैं। 

कौन है दाऊद इब्राहीम
दाऊद इब्राहीम भारत का मोस्ट वांटेड आतंकवादी है। दाऊद कई गैरकानूनी कारोबार में शामिल है और 1993 मुंबई बम धमाके के बाद वह भारत के लिए मोस्ट वांटेड आतंकवादी है। वर्ष 2003 में अमेरिका ने दाऊद को वैश्विक आतंकवादी घोषित किया था। भारत पाकिस्तान से लागातर दाऊद को सौंपने की मांग करता रहा है ताकि उसपर उसके अपराधों का मुकदमा चलाया जा सके। उसके कराची में रहने की खबर है।
 

.


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर