North Korea ने एक महीने में 3 बार किया मिसाइल टेस्‍ट, क्‍या हैं Kim Jong-Un के इरादे?

दुनिया
भाषा
Updated Jan 14, 2022 | 17:45 IST

उत्‍तर कोरिया ने एक महीने के भीतर कम से कम 3 बार मिसाइल का परीक्षण किया गया है। समझा जा रहा है कि किम जोंग-उन की अगुवाई वाले उत्‍तर कोरियाई प्रशासन ने अमेरिका द्वारा नई पाबंदियों के ऐलान के जवाब में ये परीक्षण किए हैं।

उत्‍तर कोरियाई सरकार की ओर से मुहैया कराई गई तस्‍वीर, जिसमें कहा गया है कि 11 जनवरी को हाइपरसोनिक मिसाइल का लॉन्‍च किया गया है और इसे देखते सुप्रीम लीडर किम जोंग-उन
उत्‍तर कोरियाई सरकार की ओर से मुहैया कराई गई तस्‍वीर, जिसमें कहा गया है कि 11 जनवरी को हाइपरसोनिक मिसाइल का लॉन्‍च किया गया है और इसे देखते सुप्रीम लीडर किम जोंग-उन  |  तस्वीर साभार: AP

सियोल : दक्षिण कोरिया और जापान के अधिकारियों ने कहा कि उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को कम से कम एक बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है। इस महीने यह तीसरी बार है जब उत्तर कोरिया ने मिसाइल परीक्षण किया है। अमेरिका के जो बाइडन प्रशासन ने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों के कारण उस पर नयी पाबंदियां लगाई हैं और समझा जाता है कि यह परीक्षण उन्हीं पाबंदियों के जवाब में किया गया है।

दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने बताया कि मिसाइल पूर्व की दिशा में दागी गई, हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि मिसाइल कहां जाकर गिरी। उन्होंने मिसाइल के बारे में विस्तार से कोई और जानकारी नहीं दी। जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय और रक्षा मंत्रालय ने भी कहा कि उन्हें उत्तर कोरिया के इस परीक्षण का पता चला और वह निश्चित रूप से एक बैलिस्टिक मिसाइल है।

यहां 11 दिनों तक लोगों को हंसना मना है, उत्तर कोरिया में खुशी मनाने, शराब पीने पर लगा बैन

जापान के तट रक्षक ने एक सुरक्षा परामर्श जारी करते हुए कहा कि एक वस्तु संभवतः गिरी थी। तट रक्षक ने कोरियाई प्रायद्वीप और जापान के साथ-साथ पूर्व चीन सागर और उत्तर प्रशांत के बीच मौजूद जहाजों से आग्रह किया है कि वे 'आगे दी जाने वाली जानकारी पर नजर बनाए रखें।'

This photo provided by the North Korean government shows what it says a test launch of a hypersonic missile on Jan. 11, 2022 in North Korea. Independent journalists were not given access to cover the event depicted in this image distributed by the North Korean government. The content of this image is as provided and cannot be independently verified. Korean language watermark on image as provided by source reads: "KCNA" which is the abbreviation for Korean Central News Agency. (Korean Central News Agency/Korea News Service via AP)

बाइडन प्रशासन के पाबंदियों के ऐलान से बढ़ा टकराव

बाइडन प्रशासन ने बुधवार को उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के जवाब में उसके मिसाइल कार्यक्रमों के लिए उपकरण और प्रौद्योगिकी प्राप्त करने में भूमिका को लेकर पांच उत्तर कोरियाई लोगों पर प्रतिबंध लगाया। बाइडन प्रशासन ने यह भी कहा कि वह संयुक्त राष्ट्र से नए प्रतिबंधों की मांग करेगा।

इससे पहले उत्तर कोरिया ने मंगलवार को कहा था कि उसके नेता किम जोंग उन ने हाइपरसोनिक मिसाइल के सफल परीक्षण का अवलोकन किया और दावा किया कि इस परीक्षण से देश की परमाणु 'युद्ध से बचाव' की क्षमता में इजाफा होगा। 

This photo provided by the North Korean government shows North Korean leader Kim Jong Un, right, looks at the monitors as a test launch of a missile on Jan. 11, 2022 in North Korea. Independent journalists were not given access to cover the event depicted in this image distributed by the North Korean government. The content of this image is as provided and cannot be independently verified. Korean language watermark on image as provided by source reads: "KCNA" which is the abbreviation for Korean Central News Agency. (Korean Central News Agency/Korea News Service via AP)

उत्‍तर कोरिया में Kim Jong-Un के बॉडी डबल का इस्‍तेमाल! नई तस्‍वीरों से गहराया रहस्‍य, जानिये जासूसी एजेंसी ने क्‍या कहा?

उत्तर कोरिया के आधिकारिक 'कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी' (केसीएनए) ने विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के हवाले से कथित हाइपरसोनिक मिसाइल के परीक्षण को सही ठहराया और इसे आत्मरक्षार्थ अभ्यास बताया। मिसाइल दागे जाने के कुछ घंटे पहले उत्तर कोरिया ने एक बयान जारी कर इस महीने के पहले के मिसाइल परीक्षणों को लेकर बाइडन प्रशासन की तरफ से लगाई गईं नयी पाबंदियों की निंदा की। उत्तर कोरिया ने आगाह किया कि अगर अमेरिका टकराव वाला रुख बरकरार रखता है तो वह और कदम उठाएगा।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर