भारत ने मेडागास्कर को दीं 15,000 साइकिलें, एंटानानारिवो में मनाया गया 76वां स्वतंत्रता दिवस

मेडागास्कर और कोमोरोस के एंटानानारिवो में भारत का 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। इस मौक पर भारत के राजदूत ने अपने देश की तरफ से मेडागास्कर को 15,000 साइकिलें गिफ्ट में दी।

India donates 15,000 bicycles to Madagascar, celebrates 76th Independence Day in Antananarivo
मेडागास्कर को भारत ने दी साइकिलें  |  तस्वीर साभार: ANI

एंटानानारिवो (मेडागास्कर): भारत ने सोमवार को अपने 76वें स्वतंत्रता दिवस पर मेडागास्कर को 15,000 साइकिलें गिफ्ट में दीं। मेडागास्कर और कोमोरोस में देश के राजदूत, अभय कुमार और मेडागास्कर के प्रधानमंत्री, क्रिश्चियन नत्से एक साथ साइकिल पर सवार हुए। मेडागास्कर और कोमोरोस के एंटानानारिवो में भारतीय दूतावास के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने एक ट्वीट में कहा कि भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर भारत ने मेडागास्कर को 15000 साइकिलें दान कीं। पीएम क्रिश्चियन नटसे और राजदूत अभय ने हिंद महासागर के दो पड़ोसियों के बीच बढ़ते सहयोग और एकजुटता के प्रतीक के रूप में एक साथ साइकिल चलाई।

इस बीच, एंटानानारिवो में 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। समारोह में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। इस अवसर पर राजदूत द्वारा राष्ट्रीय ध्वज भी फहराया गया। स्वतंत्रता दिवस से पहले एंटानानारिवो में भारतीय दूतावास की इमारत को भारतीय तिरंगे की रोशनी में देखा गया। इस बीच, एंटानानारिवो में टाउन हॉल भी भारत के स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर तिरंगे से जगमगा उठा।

हिंद महासागर के दो पड़ोसियों के बीच संबंध सभी क्षेत्रों में बढ़ रहे हैं। दोनों देश स्वस्थ और मजबूत संबंध शेयर करते हैं जो आगे बढ़ रहे हैं और दोनों देशों के बीच स्वास्थ्य, शिक्षा, संस्कृति, सूचना और यात्रा जैसे प्रमुख क्षेत्रों में कई समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने दी 76वें स्वतंत्रता दिवस की बधाई, अपने भारत दौरे को किया याद, बोले- और मजबूत हो संबंध

आजादी का अमृत महोत्सव भारत की आजादी के 75 साल और भारत के लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को मनाने के लिए भारत सरकार की एक पहल है। यह कार्यक्रम हर जगह भारतीयों को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित करता है। कार्यक्रम का उद्देश्य राष्ट्रीय ध्वज के साथ संबंध को औपचारिक या संस्थागत रखने के बजाय अधिक व्यक्तिगत बनाना है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर