भारत ने कोविड-19 से तबाही झेली है, चीन दे हर्जाना : डोनाल्‍ड ट्रंप

कोरोना वायरस संक्रमण की उत्‍पत्ति को लेकर चीन पर उंगली उठाने वाले अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने अब भारत का जिक्र करते हुए कहा है कि चीन को इस महामारी से हुई तबाही के लिए हर्जाना देना चाहिए।

डोनाल्‍ड ट्रंप ने कोविड-19 से हुई तबाही के लिए चीन से हर्जाने की मांग की है
डोनाल्‍ड ट्रंप ने कोविड-19 से हुई तबाही के लिए चीन से हर्जाने की मांग की है  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

मुख्य बातें

  • कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर डोनाल्‍ड ट्रंप ने एक बार फिर चीन पर निशाना साधा है
  • अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति ने कहा कि चीन को अमेरिका को 10 खरब डॉलर का हर्जाना देना चाहिए
  • भारत का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि इसने हाल ही में कोविड-19 महामरी से तबाही झेली है

वाशिंगटन : कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर चीन को सवालों के घेरे में खड़ा करने वाले अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने इस वैश्विक महामारी को लेकर एक बार फिर बीजिंग को निशाने पर लिया है। खास बात यह है कि इस बार उन्‍होंने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अमेर‍िका, भारत सहित दुनिया के अन्‍य देशों में हुई तबाही के लिए चीन से हर्जाने की मांग की है।

फॉक्‍स न्‍यूज को दिए हालिया इंटरव्‍यू में अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति ने कहा, 'भारत ने कोरोना वायरस महामारी से तबाही झेली है। इस वैश्विक महामारी के लिए चीन जिम्मेदार है और उसे दुनिया को हर्जाना देना चाहिए।' उन्‍होंने अमेरिका के लिए 10 खरब डॉलर के हर्जाने की मांग चीन से की तो भारत का हवाला देते हुए कहा कि मौजूदा वक्‍त में यह सबसे खराब सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट का सामना कर रहा है।

'चीन को दुनिया को हर्जाना देना चाहिए'

उन्होंने कहा, 'देखिये, भारत में क्या हो रहा है। भारत ने हाल ही में कोविड-19 की तबाही झेली है। वास्तव में सभी देश तबाह हुए हैं। चीन को दुनिया को हर्जाना देना चाहिए। ऐसा वह अपनी क्षमता के अनुसार कर सकते हैं।' चीन पर सीधे आरोप लगाते हुए उन्‍होंने कहा, 'देखिये कैसे उनके किए की वजह से देश बर्बाद हुए, भले वह दुर्घटना हो या नहीं। मैं उम्मीद करता हूं कि वह हादसा ही था।'

पूर्व अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा, 'भले ही यह अक्षमता या हादसे की वजह से हुआ, भले यह दुर्घटनावश हुआ, लेकिन आप इससे प्रभावित देशों को देखें। वे अब कभी पहले जैसे नहीं होंगे। हमारा देश भी बुरी तरह से प्रभावित हुआ है, लेकिन अन्य देश हमसे भी अधिक प्रभावित हुए हैं।'

कोरोना वायरस कहां से आया?

कोरोना वायरस संक्रमण की उत्‍पत्ति का पता लगाने पर जोर देते हुए ट्रंप ने कहा, 'जो सबसे महत्वपूर्ण है, वह ये पता लगाना है कि ये (कोरोना वायरस) कहां से आया, कैसे आया? निश्चित तौर पर चीन को मदद करनी चाहिए।'

यहां उल्‍लेखनीय है कि कोरोना वायरस संक्रमण का पहला केस चीन के वुहान में नवंबर 2019 में सामने आया था, जिसके बाद यह घातक संक्रामक रोग देखते ही देखते पूरी दुनिया में फैल गया। ट्रंप इसे लेकर हमेशा से चीन पर उंगली उठाते रहे हैं। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर