'चीन को चुकानी होगी बड़ी कीमत, अमेरिका के साथ ठीक नहीं किया' कोरोना संकट पर ट्रंप का बड़ा हमला 

Covid-19 crisisun America: ट्विटर पर पोस्ट अपने एक वीडियो में ट्रंप ने कहा, 'मैं आपसे यह कहना चाहता हूं कि आपकी गलती की वजह से कोरोना का संकट उत्पन्न नहीं हुआ। यह चीन की गलती है।

Donald Trump says China will pay big price for pandemic
'चीन को चुकानी होगी बड़ी कीमत, अमेरिका के साथ ठीक नहीं किया' कोरोना संकट पर ट्रंप का बड़ा हमला।  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • कोरोना संकट के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर चीन पर बोला हमला
  • अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि चीन को इसके लिए एक बड़ी कीमत चुकानी होगी
  • अमेरिकी नागरिकों को कोविड-19 की दवा मुफ्त दिलाने का भरोसा दिया

वाशिंगटन : कोरोना संकट पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर चीन पर बड़ा हमला बोला है। अपने एक वीडियो संदेश में ट्रंप ने इस महामारी के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि चीन ने दुनिया को जिस संकट में डाला है उसके लिए उसे एक भारी कीमत चुकानी होगी। ट्विटर पर पोस्ट अपने एक वीडियो में ट्रंप ने कहा, 'मैं आपसे यह कहना चाहता हूं कि आपकी गलती की वजह से कोरोना का संकट उत्पन्न नहीं हुआ। यह चीन की गलती है और चीन ने अमेरिका एवं बाकी दुनिया के साथ जो किया है, उसके लिए वह एक भारी कीमत चुकाने जा रहा है।' 

कोरोना संक्रमण की चपेट में हैं ट्रंप
ट्रंप इस समय खुद कोरोना की चपेट में हैं, उन्होंने इसे 'ईश्वर का आशीर्वाद' बताया है क्योंकि इससे उन्हें महामारी का इलाज करने वाली दवाओं के बारे में ज्यादा जानकारी हुई है। ट्रंप गत सोमवार शाम वाल्टर रीड अस्पताल से ह्वाइट हाउस लौटे। ह्वाइट हाउस लौटने के बाद यह उनका पहला वीडियो है। अस्पताल में जिस तरह से उनका इलाज हुआ उससे ट्रंप काफी खुश बताए जा रहे हैं। उन्होंने अमेरिकी नागरिकों को कोविड-19 की दवा मुफ्त में उपलब्ध कराने का वादा किया है। 

अस्पताल से डिस्चार्ज होकर ह्वाइट हाउस आए
पिछले सप्ताह अमेरिकी राष्ट्रपति और मेलानिया दोनों की कोविड-19 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। कोरोना से संक्रमित होने की जानकारी खुद ट्रंप ने दी। ट्रंप ने कहा कि उनकी और मेलानिया ट्रंप की कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। रिपोर्ट आने के बाद उन्होंने खुद को क्वरंटाइन कर लिया है। बाद में अमेरिकी राष्ट्रपति को अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों का कहना है कि ट्रंप की हालत अभी स्थिर है। बता दें कि अमेरिकी में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव अभियान जोरों पर है। ट्रंप के संक्रमित होने से उनके चुनाव प्रचार पर असर हुआ है। ट्रंप और डेमोक्रेट पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन के बीच दूसरा प्रेसिडेंशियल डिबेट 15 अक्टूबर को होनी है। 

पहले भी चीन को सुनाई है खरी-खोटी
यह पहली बार नहीं है जब कोरोना संकट के लिए ट्रंप ने चीन को खरी-खरी खोटी सुनाई है। इसके पहले भी वह कई बार कोरोना संकट के लिए चीन को सीधे तौर पर कठघरे में खड़ा कर चुके हैं। ट्रंप का दावा है कि चीन ने समय रहते इस महामारी के बारे में दुनिया को नहीं बताया और इसके बारे में जानकारियां छिपाईं। हालांकि चीन अमेरिकी राष्ट्रपति के आरोपों को खारिज करता आया है।

चीन के वुहान शहर से फैला कोरोना का संक्रमण
बीजिंग का कहना है कि वह खुद इस महामारी का शिकार हुआ है। कोरोना संकट के लिए अमेरिका के अलावा चीन अन्य देशों के भी निशाने पर है। कोरोना संकट को लेकर देश उस पर संदेह करते हैं। गत दिसंबर में चीन के हुबोई प्रांत के वुहान शहर में कोविड-19 के केस मिलने शुरू हुए। इसके बाद यह महामारी दुनिया के अन्य हिस्सों में फैली।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर