पंजशीर में मसूद को झटका, तालिबान के साथ लड़ाई में मारे गए मसूद के प्रवक्ता फहीम दश्ती 

Afghanistan Crisis Updates : पंजशीर घाटी में तालिबान और राष्ट्रीय प्रतिरोध मोर्चा (NRF) के बीच पिछले कई दिनों से भीषण लड़ाई चल रही है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे को नुकसान पहुंचाने का दावा किया है।

Fahim Dashty, spokesperson of Ahmad Massoud’s NRF, killed in fighting with Taliban in Panjshir
पंजशीर घाटी पर अभी नहीं हुआ है तालिबान का कब्जा।  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • पंजशीर घाटी में तालिबान और एनआरएफ के बीच पिछले कई दिनों से लड़ाई जारी है
  • इस लड़ाई में दोनों पक्षों ने एक दूसरे को भारी नुकसान पहुंचाने का दावा किया है
  • पंजशीर घाटी पर तालिबान का अभी तक कब्जा नहीं हो पाया है, मसूद ने की है शांति की पेशकश

नई दिल्ली : अफगानिस्तान की पंजशीर घाटी में तालिबान के खिलाफ संधर्ष का मोर्चा खोलने वाले राष्ट्रीय प्रतिरोध मोर्चा (एनआरएफ) के मुखिया अहमद मसूद का झटका लगा है। रिपोर्टों में दावा किया गया है कि पंजशीर घाटी में रविवार को तालिबान से लड़ाई के दौरान एनआरएफ के प्रवक्ता फहीम दश्ती मारे गए हैं। एनआरएफ ने अपने एक फेसबुक पोस्ट में दश्ती के मारे जाने की पुष्टि की है। 

मसूद के ताजिकिस्तान भाग जाने का दावा
अफगान मीडिया के हवाले से कहा जा रहा है कि अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ताजिकिस्तान भाग गए हैं। सालेह की बेटी खालिदा सालेह ने बताया था कि उनका बाकी का परिवार और रिश्तेदार काबुल में छिपा हुआ है। मसूद पर अफगान मीडिया तालिबान के हवाले से बता रहा है कि अहमद मसूद ताजिकिस्तान भाग गए हैं जबकि मसूद की NRF के सूत्र उनकेपंजशीर में ही होने का दावा कर रहे हैं।

फेसबुक पोस्ट में दश्ती के मारे जाने की पुष्टि 
इस पोस्ट में कहा गया है, 'गहरी पीड़ा एवं अफसोस के साथ हमें यह कहना पड़ रहा है कि हमने आज अपने दो प्यारे भाइयों, साथियों एवं फाइटर्स को खो दिया। फासीवादी समूह से लड़ते हुए आमिर साहेब मसूद के कार्यालय के प्रमुख और जनरल साहिब अब्दुल वदूद झोर को हमने खोया है। इनकी शहादत को सलाम।' अफगानिस्तान के पत्रकार फ्रूद बेजहान ने भी अपने एक ट्वीट में दश्ती के मारे जाने की पुष्टि की है। 

मसूद ने की समझौते की पेशकश
इससे पहले एनआरएफ के नेता अहमद मसूद ने कहा कि वह तालिबान के साथ अपनी लड़ाई खत्म करने के लिए तैयार हैं। हालांकि, उन्होंने शर्त रखी कि तालिबान को पंजशीर एवं अंदराब इलाकों से अपने लड़ाकों को हटाना होगा। रिपोर्टों के मुताबिक अपने एक बयान में मसूद ने कहा कि अफगानिस्तान में शांति कायम करने के लिए एनआरएफ तत्काल लड़ाई रोकने के लिए तैयार है। लेकिन इसके लिए तालिबान को पंजशीर एवं अंदराब में अपने हमले रोकने होंगे। 

दोनों पक्षों का एक-दूसरे को नुकसान पहुंचाने का दावा
रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान ने पंजशीर के कुछ जिलों पर अपना नियंत्रण कर लिया है, इसके बाद एनआरएफए के प्रमुख की ओर से यह बयान आया है। तालिबान प्रवक्ता बिलाल करीमी का कहना है कि राजधानी बाराजात में एनआरएफ के साथ लड़ाई जारी है। पंजशीर घाटी को छोड़कर तालिबान का पूरे अफगानिस्तान पर नियंत्रण हो गया है। 

तालिबान का दावा-पंजशीर के कई जिलों पर किया कब्जा
इस इलाके पर अपना कब्जा पाने के लिए तालिबान और मसूद के एनआरएफ के बीच भीषण लड़ाई हो रही है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे को काफी क्षति पहुंचाने का दावा किया है। तालिबान का दावा है कि उसने पंजशीर घाटी के कई जिलों पर कब्जा कर लिया है जबकि एनआरएफ का कहना है कि उसने 1000 से ज्यादा तालिबान लड़ाकों को मार गिराया है और कई मोर्चों से उन्हें पीछे धकेला है।  

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर