BJP नेता नूपूर शर्मा के विवादित बयान पर बोले पाकिस्तान के PM शहबाज शरीफ- 'पैगंबर के लिए हर मुस्लिम मरने को तैयार'

बीजेपी नेता नूपूर शर्मा की पैगंबर मुहम्मद पर विवादित टिप्पणी को लेकर बवाल मचा हुआ है, अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने इसपर अपनी बात रखी है।

Shahbaz Sharif on Nupur sharma
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ 

नई दिल्ली: पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad) पर विवादित टिप्पणी करने वाली बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) को पार्टी ने प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है, नूपुर शर्मा को 6 साल के लिए प्राथमिक सदस्यता निलंबित किया गया है साथ ही नवीन कुमार जिंदल को भी पार्टी की सदस्यता से निष्कासित किया गया है, नवीन जिंदल, दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता हैं वहीं इस मसले पर भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने भी अपनी बात रखी है।

गौर हो कि बीजेपी प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर किए गए बयान को लेकर इन दिनों बवाल मचा हुआ है। इसके बाद नुपुर शर्मा ने अपने बयान के लिए माफी भी मांग ली है। 

शहबाज शरीफ ने कहा कि, 'मैं हमारे प्यारे पैगंबर मोहम्मद के बारे में भारत के बीजेपी नेता की आहत करने वाली टिप्पणियों की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं। हमने बार-बार कहा है कि मोदी के नेतृत्व में भारत धार्मिक स्वतंत्रता को रौंद रहा है और मुस्लिमों को सता रहा है। दुनिया को इस बारे में ध्यान देना चाहिए और भारत को कड़ी फटकार लगानी चाहिए।'

कतर ने भारतीय राजदूत को किया तलब

उधर कतर ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ की गई टिप्पणियों पर भारतीय राजदूत को समन जारी किया है। इसके जवाब में कतर में भारतीय राजदूत दीपक मित्तल ने कहा कि ट्वीट फ्रिंज तत्वों के विचार हैं। कतर के विदेश मामलों के मंत्रालय ने भारतीय राजदूत को तलब किया और उन्हें एक आधिकारिक नोट दिया कि कतर ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ भारत में सत्तारूढ़ दल के एक नेता द्वारा की गई टिप्पणी को पूरी तरह से अस्वीकृत किया और इसकी निंदा की।

नोट में संकेत दिया गया कि दुनिया भर में दो अरब से अधिक मुसलमान पैगंबर मोहम्मद के मार्गदर्शन का पालन करते हैं। इन अपमानजनक टिप्पणियों से धार्मिक घृणा को बढ़ावा मिलेगा। 

कतर विदेश मंत्रालय द्वारा जारी बयान के संबंध में एक मीडिया प्रश्न के उत्तर में कतर में भारतीय दूतावास के प्रवक्ता ने कहा कि राजदूत ने विदेश कार्यालय में एक बैठक की जिसमें भारत में व्यक्तियों द्वारा धार्मिक व्यक्तित्व को बदनाम करने वाले कुछ आपत्तिजनक ट्वीट्स के संबंध में चिंता व्यक्त की गई। राजदूत ने बताया कि ट्वीट किसी भी तरह से भारत सरकार के विचारों को नहीं दर्शाते हैं। ये फ्रिंज एलिमेंट्स के विचार हैं। भारत सरकार सभी धर्मों को सर्वोच्च सम्मान देती है। अपमानजनक टिप्पणी करने वालों के खिलाफ पहले ही कड़ी कार्रवाई की जा चुकी है। 

नुपुर शर्मा ने अपने विवादित बयान के लिए मांग ली माफी

वहीं बीजेपी नेता नुपुर शर्मा ने लिखा कि मैं पिछले कई दिनों से टीवी डिबेट पर जा रही थी, जहां रोजाना मेरे आराध्य शिव जी का अपमान किया जा रहा था। मेरे सामने यह कहा था जा रहा था कि वो शिवलिंग नहीं फव्वारा है, दिल्ली के हर फुटपाथ पर बहुत शिवलिंग पाए जाते हैं, जाओ जा के पूजा कर लो। मेरे सामने बार-बार इस प्रकार से हमारे महादेव शिव जी के अपमान को मैं बर्दाश्त नहीं कर पाई और मैंने रोष में आके कुछ चीजें कह दीं। अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची हो तो मैं अपने शब्द वापिस लेती हूं। मेरी मंशा किसी को कष्ट पहुंचाने की कभी नहीं थी।


 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर