Varanasi Fraud Accused Arrested: 300 करोड़ की ठगी का भंडाफोड़, 2 अरेस्ट, ये था इनकी ठगी का अंदाज

Varanasi Fraud Accused Arrested: क्राइम ब्रांच ने दो शातिर घोटालेबाजों को दबोचा है। दोनों पर 3 सौ करोड़ की ठगी का आरोप है। पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपियों की लंबे समय से तलाश थी। दोनों पर ठगी के सैंकड़ो मामले दर्ज थे।

Varanasi Fraud Accused Arrested
3 सौ करोड़ की ठगी का खुलासा, 2 अरेस्ट  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • वाराणसी क्राइम ब्रांच ने दो शातिर घोटालेबाजों को दबोचा
  • दोनों पर 3 सौ करोड़ की ठगी का आरोप
  • दोनों आरोपियों पर ठगी के सैंकड़ो मामले दर्ज थे

Varanasi Fraud Accused Arrested: वाराणसी कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच ने दो शातिर घोटालेबाजों को दबोचा है। दोनों पर 3 सौ करोड़ की ठगी का आरोप है। अपराध शाखा की टीम ने अरुणेश सीता और बालचंद चौरसिया को अरेस्ट किया है। पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपियों की लंबे समय से तलाश थी। दोनों आरोपियों पर ठगी के सैंकड़ो मामले दर्ज थे। आरोपियों पर मामले दर्ज होने के बाद पुलिस इन्हें पकड़ने के लिए काफी मेहनत की है। 

अब बलिया जनपद से दोनों पुलिस के हाथ लगे हैं। पुलिस के मुताबिक अब आरोपियों से घोटालों के बारे में जानकारी मिलने की आशा जगी है। पुलिस के मुताबिक करोड़ों की ठगी का मास्टर माइंड अरुणेया सीता है। आरोपियों ने यूपी सहित पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित कई राज्यों में लोगों से ठगी की है। इनके खिलाफ कई राज्यों में आपराधिक मामले दर्ज हैं। 

मास्टरमाइंड ने उगले ये राज 

अपराध शाखा इंचार्ज अंजनी पांडे के मुताबिक, क्राइम ब्रांच की टीम के लखनऊ से हत्थे चढ़ने के बाद शातिर ठग अरुणेश सीता ने पुलिस को बताया कि, उसकी गैंग ने चार साल में रकम दुगुनी करने का झांसा देकर कई लोगों से ठगी की है। आरोपी के मुताबिक उन्होंने लोगों से फ्रॉड बॉन्ड स्किम के जरिए करीब 3 सौ करोड़ रुपए ऐंठे हैं। क्राइम ब्रांच को अब इस बात की राहत है कि, आर्थिक अपराध के पेंच सुलझाने में कामयाबी मिली है। क्राइम ब्रांच के मुताबिक गिरोह के मुख्य सरगना से पूछताछ में मिली जानकारी के बाद इनकी फेक कंपनी के निदेशक बालचंद चौरसिया को बलिया जनपद से अरेस्ट किया है। देश के कई प्रदेशों की पुलिस के लिए चुनौती बन चुके दोनों आरोपियों को क्राइम ब्रांच की टीम के एसआई राजकुमार पांडेय व सूरज तिवारी ने दबोचा है। पुलिस अब दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर पीसी रिमांड पर लेकर आगे की पूछताछ करेगी।  

ऐसे फैलाया ठगी का नेटवर्क

अपराध शाखा इंचार्ज अंजनी पांडे के मुताबिक, बिहार के पटना का रहने वाला अरुणेश सीता पहले एक कंपनी में क्षेत्रीय प्रबंधक के तौर पर के पद पर बिहार और पश्चिम बंगाल में तैनात था। बाद में 2010 में अनिल त्रिवेदी और राशिद के साथ दिल्ली में खुद का ऑफिस खोलकर कई फेक कंपनियां बनाई। इसके बाद देश के कई बड़े शहरों में नटवर्क फैलाया। इसके बाद अपनी गैंग के लोगों को उच्च पदों पर तैनात कर ठगी का खेल शुरू किया। पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि, आरोपी ठगी के रुपयों से पटना में होटल खोला व दिल्ली में मॉल, कॉम्पलेक्स खोले। कई शहरों में जमीनें खरीदी। मुख्य आरोपी ने एक कंपनी लॉन्च कर कई भोजपुरी फिल्मों में भी पैसा इंवेस्ट किया। इसके अलावा ठगी के पैसों से मंहगे होटलों में पार्टियां करता था। वहीं आरोपी ऐश की जिंदगी बिता रहा था। 

Varanasi News in Hindi (वाराणसी समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर