Dom Raja Death: वाराणसी के डोमराजा का निधन, पीएम मोदी और सीएम योगी ने जताया दुख

Domraja Jagdish Chaudhary dies: आम चुनाव 2019 में पीएम मोदी के प्रस्तावकों में से एक डोमराजा जगदीश चौधरी का मंगलवार को वाराणसी में निझन हो गया।

Dom Raja Death: वाराणसी के डोमराजा का निधन, पीएम मोदी से इस तरह था कनेक्शन
पीएम मोदी के प्रस्ताव रहे डोमराजा जगदीश चौधरी का निधन 

मुख्य बातें

  • डोम राजा जगदीश चौधरी का वाराणसी में निधन
  • 2019 के आम चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी के थे प्रस्तावक
  • पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ ने जताया दुख

वाराणसी। 2019 के आम चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी के प्रस्तावक रहे डोम राजा जगदीश चौधरी का निधन हो गया। मंगलवार सुबर तबीयत खराब होने के बाद उन्हें सिगरा स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। परिवार वालों का कहना है कि एकाएक उनकी तबीयत खराब हो गई और अस्पताल ले जाया गया। लेकिन  भर्ती होने के कुछ समय के बाद ही उनकी मौत हो गई। 
 

पीएम मोदी ने जताया दुख
डोमराजा के निधन पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया औक संवेदना जाहिर की। उन्होंने कहा कि डोम राजा जगदीश चौधरी जी के निधन से गहरा दुख पहुंचा है। वो काशी की संस्कृति में रचे बसे थे और वहां की सनातन परंपरा के संवाहक रहे। उन्होंने जीवनपर्यंत सामाजिक समरसता के लिए काम किया

सीएम योगी ने भी जताया दुख
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने डोमराजा के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। सीएम योगी ने ट्वीट में कहा, 'सामाजिक समरसता की भावना के प्रतीक पुरुष, काशीवासी डोमराजा श्री जगदीश चौधरी जी का निधन अत्यंत दुःखद है। श्री जगदीश चौधरी जी का कैलाशगमन सम्पूर्ण भारतीय समाज की एक बड़ी क्षति है। बाबा विश्वनाथ से प्रार्थना है कि आपको अपने परमधाम में स्थान प्रदान करें।'

2019 के चुनाव में पीएम मोदी के थे प्रस्तावक
2019 के लोकसभा चुनाव में जगदीश चौधरी पीएम नरेंद्र मोदी के प्रस्तावक बने थे। पहली बार ऐसा हुआ था जब किसी राजनैतिक दल ने डोम राजा परिवार के सदस्य को चुुनाव में प्रस्तावक बनाया था। तब जगदीश चौधरी ने इस बात को लेकर खुशी का भी इजहार किया था। प्रस्तावक बनाए जाने के बाद उन्होंने कहा था, ‘पहली बार किसी राजनीतिक दल ने हमें यह पहचान दी है और वह भी खुद प्रधानमंत्री ने। डोमराजा परिवार का इतिहास सदियों पुराना है। मशहूर मणिकर्णिका और हरिश्चंद्र श्मशान घाट पर वर्षों से इनके ही परिवार के लोग अंतिम संस्कार के लिए मुखाग्नि देते हैं। काशी में करीब पांच हजार लोग इनकी बिरादरी से जुड़े हैं। 

Varanasi News in Hindi (वाराणसी समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर