बदल सकते हैं देश में सभी लोगों के मोबाइल नंबर, 10 की जगह होंगे 11 अंक?

TRAI Telecom recommendation: भारत में आने वाले समय में मोबाइल नंबर 10 के बजाय 11 अंकों के हो सकते हैं और साथ ही सबके नंबर में बदलाव भी आ सकता है।

TRAI Telecom recommendation
टेलीकॉम सेक्टर को लेकर ट्राई की सिफारिशें (प्रतीकात्मक तस्वीर) 

मुख्य बातें

  • TRAI ने टेलीकॉम क्षेत्र से जुड़े बदलावों को लेकर की सिफारिश
  • भारत में बदल सकते हैं सभी लोगों के मोबाइल नंबर
  • 10 के बजाय अब 11 अंकों का हो सकता है नंबर

नई दिल्ली: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) टेलीकॉम क्षेत्र से जुड़ी 5 सिफारिशें की हैं। दूरसंचार निकाय यूनिफाइड नंबरिंग प्लान ’बनाने पर जोर दे रहा है ताकि देश में फिक्स्ड लाइन (लैंडलाइन) और मोबाइल सेवाओं के लिए पर्याप्त संख्या में संसाधन बनाए जा सकें। इससे मौजूदा समय के लोगों के फोन नंबर बदल सकते हैं और साथ ही मौजूदा मोबाइल नंबरों को फिक्स्ड लाइन कनेक्शन से डायल करने के लिए आगे से 0 लगाने की जरूरत होगी। ट्राई की सिफारिशें जनवरी में आयोजित खुली चर्चा (ओपन हाउस डिस्कशन/ ओएचडी) के दौरान हुई बातचीत के आधार पर ली गई है।

ट्राई की प्रमुख सिफारिशें वर्तमान 10 अंकों के मोबाइल नंबरों को 11 अंकों में बदल देना है। इसके साथ ही, भविष्य में जो नए नंबर सामने आने वाले हैं, वे अलग-अलग अंकों से शुरू हो सकते हैं।

लैंडलाइन कॉल के लिए आगे '0' लगाना होगा
बहुत जल्द आपको कॉल करने के लिए एक निश्चित लाइन से फोन नंबर डायल करने से पहले 0 डायल करने की जरूरत पड़ सकती है। अभी, आप नंबर की शुरुआत में 0 शामिल किए बिना लैंडलाइन का उपयोग करके कॉल कर सकते हैं, लेकिन यदि नई सिफारिशें लागू होती हैं, तो इसे बदल दिया जाएगा।

10 की जगह 11 अंक के मोबाइल नंबर
यह दूसरी सबसे बड़ी सिफारिश है जो ट्राई ने रखी है। वर्तमान मोबाइल नंबर में जो संख्या 10 अंक हैं, उसे 11 अंकों में बदला जा सकता है। अगर आप इस बारे में सोच रहे हैं कि पहला अंक क्या होगा, तो बहुत अधिक न सोचें, यह '9' है। हालांकि यह क्या करेगा? ट्राई मौजूदा सरल और सबकी ओर से स्वीकार कर ली गई प्रणाली को क्यों बदलना चाहती है? इसका जवाब यह है कि इस बदलाव के बाद 100 करोड़ नंबरों की कुल क्षमता मिलेगी।

डोंगल के साथ मिले मोबाइल नंबर में भी हो सकता है बदलाव
वर्तमान में, इंटरनेट डोंगल के साथ आपको आवंटित 10 अंकों की संख्या को भी बदलने का सुझाव दिया गया है। परिवर्तन के लिए सुझाई गई संख्या 13 अंक है। कई डोंगल और डेटा कार्ड का उपयोग 10 अंकों की संख्या के साथ किया जाता है। ट्राई ने सुझाव दिया है कि ऐसे सभी उपकरणों के लिए 13 अंकों की नंबरिंग योजना होनी चाहिए। इससे टेलीकॉम इंडस्ट्री के लिए कुछ नंबर जारी करने में भी फायदा होगा।

लैंडलाइन नंबर में भी आएगा बदलाव
ट्राई ने सिफारिश की है कि लैंडलाइन के लिए नंबर उप-स्तर ‘2 'और' 4 'में ले जाए जाएं। वर्तमान में, कई लैंडलाइन नंबर हैं जो यूजर को, 3 ’,’ 5 ’और, 6’ के उप-स्तर के साथ पेश किए गए थे, और वे उपयोग में नहीं हैं। इससे टेलीकॉम ऑपरेटरों के लिए मोबाइल फोन कनेक्शन के लिए उपयोग किए गए नंबरों का उपयोग करना आसान हो जाएगा।

0 डायल सुविधा के साथ आएंगे फिक्स लाइन
ट्राई ने सुझाव दिया है कि दूरसंचार ऑपरेटरों की ओर से निर्धारित लाइनों को 0 डायल करने की सुविधा प्रदान की जानी चाहिए। वर्तमान में, ’0' डायल करने की सुविधा केवल उन ग्राहकों को प्रदान की जाती है, जिन्होंने ग्राहक ट्रंक डायलिंग (STD) कॉल का विकल्प चुना है। लेकिन ट्राई की ओर से किए गए परिवर्तनों के लिए प्रत्येक लैंडलाइन यूजर के लिए इसे बदला जाना चाहिए।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर