Vastu Tips for Evening: सूर्यास्त के समय गलती से भी ना सोए, माना जाता है अशुभ, घर से रूठ जाती हैं मां लक्ष्मी

Vastu Sleeping In Evening: ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक संध्या के समय सोना व झाड़ू लगाना अशुभ माना जाता है। शास्त्रों में ऐसा कहा गया है कि सूर्यअस्त के समय सोने या झाड़ू लगाने से मां लक्ष्मी उस घर से रूठ जाती है।

sunset
vastu tips  |  तस्वीर साभार: Instagram
मुख्य बातें
  • संध्या के वक्त सोने के लिए हमेशा टोका जाता है, क्योंकि ऐसा करना अशुभ माना जाता है
  • संध्या के टाइम सोने या झाड़ू लगाने या कुछ अन्य कार्य करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती है
  • इसके साथ ही व्यक्ति को आर्थिक संकट का सामना भी करना पड़ता है

Do Not Sleep In Evening: कुछ लोगों की आदत होती है कि जब भी नींद आती है तो वह तुरंत सो जाते हैं। चाहे सुबह हो, दोपहर या शाम बेटाइम सोना कुछ लोगों की आदत होती है। ऐसे में अक्सर बड़े बुजुर्ग संध्या के वक्त सोने व कुछ काम करने के लिए हमेशा टोकते हैं, क्योंकि ऐसा करना अशुभ माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि संध्या के टाइम सोने या झाड़ू लगाने या कुछ अन्य कार्य करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती है। इसके साथ ही व्यक्ति को आर्थिक संकट का सामना भी करना पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक संध्या काल में घर में तीन देवी माता सरस्वती, माता लक्ष्मी और मां दुर्गा का आगमन होता है।

पढ़ें- सूर्य के कमजोर होते ही जकड़ती हैं ये 5 बीमारियां, इन उपायों से मिलेगी सूर्यदेव की कृपा

शाम के टाइम नहीं सोना चाहिए

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक जो व्यक्ति शाम को सोता है या शाम को सोने की आदत होती है, वह व्यक्ति कई रोगों से घिर जाता है और व्यक्ति की आयु भी कम हो जाती है। हिंदू धर्म में मान्यता है कि सूर्यास्त व शाम के बीच मां लक्ष्मी का घर में आगमन होता है और उस समय घरों के कपाट खोल कर रखना चाहिए, लेकिन अगर आप इस समय सो जाते हैं तो इसका नकारात्मक प्रभाव आपके जीवन में पड़ता है। स्वास्थ्य से लेकर व्यक्ति के निजी जीवन में भी इसका असर पड़ता है।

 सूर्यास्त के समय नहीं लगानी चाहिए झाड़ू

सूर्यास्त के समय कभी भी घर में झाड़ू नहीं लगानी चाहिए। ऐसा करना अशुभ माना जाता है। माना जाता है कि मां लक्ष्मी नाराज होकर उस घर से रूठ कर चली जाती हैं। सूर्यास्त के समय ईश्वर की पूजा करनी चाहिए। ईश्वर का ध्यान करना चाहिए। ऐसा करना शुभ माना जाता है।

(डिस्क्लेमर : यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्स नाउ नवभारत इसकी पुष्टि नहीं करता है।) 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर