Vastu Tips: घर की खूबसूरत बालकनी को ना लगे किसी की नजर, ऐसे दूर करें वास्तु दोष

Balcony Vastu Tips: बालकनी घर का खूबसूरत हिस्सा होता है। बालकनी से हम घर के भीतर रहकर बाहर के नजारे और शुद्ध हवा का आनंद लेते हैं। इसलिए जरूरी है कि आपकी खूबसूरत बालकनी में कोई वास्तु दोष ना हो।

Balcony Vastu Tips
बालकनी वास्तु टिप्स 
मुख्य बातें
  • खूबसूरत बालकनी के लिए अपनाएं वास्तु टिप्स
  • अनावश्यक सामान रखकर बालकनी को न बनाएं कबाड़
  • सकारात्मक ऊर्जा को रोकते हैं बालकनी में रखे भारी-भरकम फर्नीचर

Vastu Tips For Home Balcony: नए घर का निर्माण करते समय बालकनी जरूर बनाई जाती है। खासकर बड़े शहरों की ऊंची इमारत और अपार्टमेंट में बालकनी जरूर होती है। इसके अलावा ढलाई के मकानों में भी बालकनी का निर्माण कराया जाता है। बालकनी से शुद्ध हवा और रोशनी घर के भीतर आती है। वहीं बालकनी से हम बाहर के खूबसूरत नजारे और शुद्ध हवा का आनंद लेते हैं। व्यस्तता के कारण अगर आप कहीं बाहर नहीं जा पा रहे तो बालकनी में टहलने भर से ही मन-मस्तिष्क में शांति का अनुभव होता है। शाम की चाय पीना, परिवार के साथ बैठना, किताबें पढ़ना, बच्चों का खेलना जैसे कई काम बालकनी में होते हैं। इसलिए बालकनी घर का खूबसूरत और जरूरी हिस्सा होता है। लेकिन इसके लिए यह जरूरी है कि आपकी खूबसूरत बालकनी में कोई वास्तु दोष ना हो।

ये भी पढ़ें: आईने से वास्तु का कनेक्शन, घर में भूलकर भी ना रखें इस तरह के आईने, नेगेटिव एनर्जी का होता है संचार

वास्तु के अनुसार घर और घर की छोटी से बड़ी चीज वास्तु से जुड़ी होती है। घर अगर वास्तु के अनुसार हो तो सकारात्मक उर्जा का संचार होता है। लेकिन अगर घर पर वास्तु दोष हो तो परिवार के लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए बालकनी बनवाते और साज-सजावट करते समय वास्तु का ध्यान रखें।

बालकनी को ना बनाएं कबाड़

जैसा की हमने कहा, बालकनी घर का सबसे खूबसूरत हिस्सा होता है। घर के मुख्य द्वार की तरह बालकनी से भी पॉजिटिव एनर्जी का घर पर प्रवेश होता है। इसलिए जरूरी है कि बालकनी को घर की तरह ही साफ-सुथरा रखें। कुछ लोग घर का बेकार और अनावश्यक सामान बालकनी में रख देते हैं,जोकि वास्तु के अनुसार बहुत गलत माना जाता है। वास्तु के अनुसार बालकनी को कबाड़ नहीं बनाना चाहिए। जानते हैं बालकनी में कौन-कौन सी चीजों को नहीं रखना चाहिए।

  • बालकनी में भारी-भरकम फर्नीचर नहीं रखने चाहिए।
  • बालकनी में पूराने न्यूज पेपर या बेकार सामानों को स्टोर करने की जगह ना बनाएं।
  • बहुत बड़े गमले या पेड़ भी बालकनी में नहीं लगाने चाहिए।

वास्तु के अनुसार बालकनी की सही दिशा

घर के रसोई, पूजा मंदिर, लिविंग रूम, बेडरूम की ही तरह बालकनी का निर्माण भी वास्तु के अनुसार होना चाहिए, तभी घर पर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा।

  • वास्तु के अनुसार बालकनी हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा की ओर होनी चाहिए।
  • अगर आपका घर पश्चिम मुख की ओर है तो ऐसे में उत्तर या पश्चिम की दिशा में बालकनी होनी चाहिए।
  • अगर घर उत्तर मुखी है तो बालकनी पूर्व या उत्तर दिशा में बेहतर माना जाता है।
  • वहीं दक्षिण मुखी घर में बालकनी पूर्व या दक्षिण की ओर होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें: बिना तोड़-फोड़ किए सुधारे घर का वास्तु, इन उपायों से दूर करें दोष

पेड़-पौधों से बालकनी बनाएं खूबसूरत

आजकल घर पर बड़े स्पेस जैसे आगंन या बड़े छत कम ही देखने को मिलते हैं। ऐसे में लोग बालकनी में ही पेड़-पौधे लगाते हैं। इससे बालकनी खूबसूरत तो दिखती ही है साथ ही इससे वास्तु दोष भी समाप्त होता है। इसलिए इस बात का खास ध्यान रखें कि चाहे बालकनी में स्पेस कितना भी कम क्यों ना हो आप उसमें पौधे जरूर लगाएं। लेकिन बालकनी में बहुत बड़े पेड़ या गमले रखने से बचें। पॉजिटिव एनर्जी वाले पौधे आप बालकनी में लगा सकते हैं।

(डिस्क्लेमर: यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर