Birthmark Astrology: क्या आपके शरीर पर भी है बर्थमार्क? अलग-अलग जन्म चिह्नों का होता है खास मतलब

Astrology For Birthmark: कई लोगों के शरीर पर जन्म के कुछ निशान होते हैं, जोकि शुभ और अशुभ दोनों हो सकते हैं। ज्योतिष के अनुसार अलग-अलग बर्थ मार्क का मतलब भी अलग होता है, जिसका प्रभाव व्यक्ति के जीवन पर पड़ता है।

Birth mark Sign, Astrology For Birthmark, Astro Tips For Body Birthmark, Body Birthmark Meaning,
क्या होता है जन्मचिह्न का मतलब 
मुख्य बातें
  • शुभ-अशुभ संकेत देते हैं जन्मचिह्न
  • बर्थ मार्क का जीवन पर पड़ता है प्रभाव
  • बाएं कंधे पर बर्थ मार्क होता है अशुभ

Astro Tips For Body Birthmark: कई लोगों के शरीर के किसी न किसी स्थान पर बर्थ मार्क जरूर होता है। इसे जन्मचिह्न कहा जाता है। कुछ लोग इसे लहसन भी कहते हैं। कुछ व्यक्ति के शरीर का जन्मचिह्न समय के साथ-साथ बडा भी हो जाता है। लेकिन यह जन्मचिह्न या बर्थ मार्क अनावश्यक नहीं होते। बल्कि इसका संबंध व्यक्ति के सौभाग्य से जुड़ा होता है। बर्थ मार्क का व्यक्ति के जीवन पर शुभ या अशुभ प्रभाव भी पड़ता है। सामुद्रिक शास्त्र में बर्थ मार्क के निशान के बारे विस्तार से बताया गया है। अगर आपके शरीर पर बर्थ मार्क के निशान हैं तो आपके लिए यह जानना जरूरी कि यह आपके लिए गुडलक है या बैडलक। जानते हैं क्या कहता है आपका बर्थमार्क।

पेट पर बर्थ मार्क

जिन लोगों के पेट पर बर्थ मार्क के निशान होते हैं, उनके बारे में ऐसा कहा जाता है कि ऐसे लोग लालची और मतलबी स्वभाव के होते हैं। इनके इसी स्वाभान के काण ऐसे लोगों के दोस्त भी बहुत कम होते हैं।

Also Read: घर की ऐसी दीवार है बर्बादी का संकेत, इन वास्तु टिप्स का रखें ध्यान

माथे पर बर्थ मार्क होना

जिन व्यक्ति के माथे के बीचों-बीच जन्मचिह्न होता है, वे बहुत ही रोमांटिक होते हैं। अगर निशान माथे के दाईं ओर होता है तो ऐसे लोग बुद्धिमानी कहलाते हैं। वहीं माथें के बाईं ओर जन्मचिह्न वाले व्यक्ति बहुत खर्चीले होते हैं और इनके पास कभी भी पैसा नहीं टिकता है।

क्या है गाल पर बर्थ मार्क का मललब

बाएं गाल पर बर्थ मार्क वाले व्यक्ति हमेशा उदास रहते हैं। ये अपने जीवन में हमेशा ही परेशानियों से घिरे रहते हैं। जिसके कारण उन्हें खुशी नहीं मिलती। इसके विपरीत दाएं गाल पर बर्थ मार्क होने से व्यक्ति मेहनती स्वभाव का कहलाता है। ऐसे लोग खूब मेहनती होते हैं और अपनी मेहनत से हर सपने को पूरा करते हैं।

हाथ पर जन्मचिह्न के निशान

जिन लोगों के हाथ पर बर्थ मार्क का होता है वे परिवार के प्रति पूरी तरह से समर्पित होते हैं। वहीं हाथों की उंगलियों में बर्थमार्क होना इस बात का संकेत है कि ऐसे लोग आत्मनिर्भर होते हैं। वह किसी भी बंधन से खुद को स्वतंत्र रखते हैं और किसी भी काम के लिए किसी पर निर्भर नहीं रहते हैं।

कंधे पर बर्थ मार्क होना

कंधे के दाईं और बाईं ओर बर्थमार्क होने के अलग-अलग मतलब होते हैं। अगर बर्थ मार्क बाएं कंधे पर है तो यह अशुभ माना जाता है। ऐसे लोग जीवनभर किसी न किसी समस्या से घिरे होते हैं। लेकिन अगर बर्थमार्क दाएं कंधे पर है तो यह बहुत शुभ होता है। ऐसे लोगों को जीवन में सुख-सुविधा हर चीज की प्राप्ति होती है।

(डिस्क्लेमर: यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर