Masik Shivratri 2021: कब है आश्‍व‍िन मास 2021 की शिवरात्रि, भोलेनाथ के पूजन के ल‍िए जानें डेट और शुभ मुहूर्त

October 2021 masik shivratri date, आश्विन मास 2021 की श‍िवरात्र‍ि : हिंदू धर्म में आश्विन मास की मासिक शिवरात्रि का विशेष महत्व है। जानें अक्‍टूबर में कब है श‍िवरात्र‍ि।

Masik Shivratri ka date n significance, Masik Shivratri 2021 date n significance,  Masik Shivratri 2021, Masik Shivratri 2021 date or mahatva, Masik Shivratri ka date or mahatva, मासिक शिवरात्रि का डेट और महत्व, मासिक शिवरात्रि पूजा का डेट और महत्व, मासिक
Masik Shivratri in October 2021 : date n significance 

मुख्य बातें

  • हिंदू धर्म में आश्विन मास की मासिक शिवरात्रि का विशेष महत्व है
  • यह पूजा भगवान शिव को समर्पित है
  • सोमवार के साथ शुभ संयोग में आ रही है आश्विन मास की मास‍िक श‍िवरात्र‍ि

Masik Shivratri in October 2021: मासिक शिवरात्रि भगवान शिव को समर्पित है। ऐसी मान्यता है इस पूजा को श्रद्धा से किया जाए, तो भोलेनाथ अपने भक्तों की हर मनोकामनाएं बहुत जल्द पूर्ण कर देते हैं। यह पूजा इस साल 4 अक्टूबर दिन सोमवार को मनाई जाएगी। मान्यताओं के अनुसार इस पूजा को श्रद्धा पूर्वक करने से भोलेनाथ के साथ माता पार्वती का भी आशीर्वाद मिलता हैं। इस दिन भोलेनाथ के भक्त सुबह-सुबह स्नान ध्यान करके त्रिलोकीनाथ की पूजा जल, बेलपत्र, धूप, दीप और चंदन लगाकर करते हैं। हिंदू पंचांग में यह पूजा हर साल आश्विन मास में मनाई जाती है। शास्त्रों के अनुसार भोलेनाथ एकमात्र ऐसे देवता है, जो बहुत जल्द प्रसन्न होते हैं। यदि आप भगवान शिव से आशीर्वाद पाना चाहते है, तो उनकी यह पूजा विधि विधान से जरूर करें। यहां आप मासिक शिवरात्रि पूजा का डेट और महत्व जान सकते हैं।

अक्‍टूबर 2021 में मासिक शिवरात्रि पूजा डेट, Ashwin Month Masik Shivratri 2021 date

हिंदू पंचांग के अनुसार मासिक शिवरात्रि इस साल 4 अक्टूबर 2021 दिन सोमवार को मनाई जाएगी। इस दिन मासिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि है। सोमवार के द‍िन मास‍िक श‍िवरात्र‍ि आने से इस त‍िथ‍ि का महत्‍व और बढ़ गया है। 

पंचाग के अनुसार,  04 अक्टूबर 2021 यानी सोमवार को रात 09:05 पर चतुर्दशी की तिथि प्रारंभ होगी। यह 05 अक्टूबर 2021 यानी मंगलवार को शाम 07:04 बजे तक रहेगी। 

मासिक शिवरात्रि पूजा का महत्व

हिंदू धर्म में मासिक शिवरात्रि का विशेष महत्व है। यह पूजा भगवान शिव को समर्पित है। इस दिन भोलेनाथ के भक्त श्रद्धा पूर्वक उनकी पूजा करते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस पूजा को करने से हर मुराद हर मुराद जल्द पूर्ण होती है। मासिक शिवरात्रि की पूजा करने से भोलेनाथ बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। मान्यताओं के अनुसार भोलेनाथ को यह पूजा बेहद प्रिय है।

मान्‍यता है क‍ि शास्त्रों के अनुसार इस पूजा को यदि भक्त विधिवत करें, तो उनकी हर मनोकामनाएं त्रिलोकीनाथ बहुत जल्द पूरे कर देते हैं। यदि आप इस दिन भोलेनाथ की पूजा के साथ-साथ माता पार्वती की भी पूजा करें, तो आपके घर में दुख दरिद्रता कभी नहीं आएगी। आपके घर में हमेशा लक्ष्मी का वास बना रहेगा। धर्म के अनुसार भोलेनाथ की पूजा करने से भगवान कुबेर बहुत प्रसन्न होते हैं और उस व्यक्ति के घर में धन की कमी कभी नहीं होने देते हैं। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर