Exam Tips: कॉम्पिटिटिव एग्‍जाम को क्रैक करने के लिए आजमाएं ये प्रिपरेशन टिप्स, सरकारी जॉब होगी पक्‍की

Exam Tips: कॉम्पिटिटिव एग्‍जाम को क्रैक कर अच्‍छी जॉब हासिल करने का सपना हर युवा देखता है, लेकिन यह इतना भी आसान नहीं है। इसके लिए बेहतर तैयारी की जरूरत पड़ती है। अगर आप भी किसी कॉम्पिटिटिव एग्‍जाम की तैयारी कर रहे हैं तो इन प्रिपरेशन टिप्‍स की मदद ले सकते हैं...

Exam Tips
कॉम्पिटिटिव एग्‍जाम प्रिपरेशन के लिए असरदार टिप्‍स   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • एग्‍जाम प्रिपरेशन के लिए बेहतर टाइम टेबल जरूरी
  • अच्‍छी तैयारी के लिए रिवीजन और डिस्‍कस पर रखें पूरा फोकस
  • मॉडल पेपर और मॉक टेस्‍ट से अपनी तैयारी को बनाएं पुख्‍ता

Exam Tips: देश में प्रतिवर्ष करोड़ों युवा विभिन्‍न तरह के कॉम्पिटिटिव एग्‍जाम में बैठते हैं। वो इन एग्‍जाम को क्रैक कर अच्‍छी जॉब हासिल करना चाहते हैं। हालांकि यह इतना आसान भी नहीं होता, क्‍योंकि हर एक सीट पर सैकड़ों उम्‍मीदवारों की दावेदारी होती है। युवाओं के बीच सबसे ज्‍यादा कंपटीशन रेलवे, बैंक, सिविल व डिफेंस जैसे क्षेत्रों में आयोजित होने वाले कॉम्पिटिटिव एग्‍जाम में होता है। इन्‍हें क्रैक करने के लिए कई उम्‍मीदवार सालों तक मेहनत करते हैं, लेकिन एग्‍जाम का समय नजदीक आते ही छात्रों में स्‍ट्रेस और डर बढ़ जाता है। इस प्रेशर में आकर कई बार उम्‍मीदवार अच्‍छी प्रिपरेशन के बाद भी एग्‍जाम को क्‍लीयर नहीं कर पाते। अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखेंगे तो आप न केवल परीक्षा की अच्‍छी प्रिपरेशन कर पाएंगे साथ ही आप अपना स्‍ट्रेस भी दूर कर सकेंगे। यहां हम इस आर्टिकल के माध्‍यम से आपको एग्‍जाम की प्रिपरेशन के कुछ टिप्‍स बता रहे हैं, जो आपकी कॉम्पिटिटिव एग्‍जाम की तैयारी में मदद करेंगे।

सही टाइम टेबल बनाएं

एग्‍जाम की प्रिपरेशन के लिए सबसे पहले सही टाइम बनाना जरूरी है। साथ ही यह भी डिसाइड कर लीजिए की आपको कब, क्‍या, कैसे और कितना पढ़ना है। चाहें तो पढ़ाई के बीच बीच में 10 से 15 मिनट का ब्रेक भी ले सकते हैं, इसके बाद जब आप दोबारा पढ़ाई करने बैठेंगे, तो आपका माइंड थोड़ा रिलेक्‍स हो जाएगा। साथ ही आप अच्‍छे से पढ़ भी सकेंगे। टाइम टेबल के हिसाब से पढ़ाई करने पर आप सभी सब्‍जेक्‍ट्स पर बराबर ध्यान भी दे पाएंगे।

रिवीजन भी जरूरी

एग्‍जाम की प्रिपरेशन में सभी विषयों का रिवीजन समय समय पर करते रहना चाहिए। अगर आप रिवीजन नहीं करेंगे तो जो भी पढ़ा है, वह सब समय आने पर भूल भी सकते हैं। इसलिए जितना भी पढ़ें, उसका नियमित तौर पर रिवाइज भी करते रहें। इससे, परीक्षा के लॉस्‍ट मिनट आपको रिवीजन करने में कोई समस्‍या नहीं होगी।

Read More - पीसीबी व पीसीएम लेने का मतलब सिर्फ इंजीनियर और डॉक्‍टर बनना नहीं, ये भी हैं बेस्ट ऑप्‍शन

टीचर से रेगुलर डिस्‍कस करते रहें

अगर आपको अपने सब्‍जेक्‍ट में कुछ समझ नही आ रहा है, तो आप किसी भी टॉपिक पर अपनी टीचर से डिस्‍कस कर सकते हैं। जब भी इस तरह का डिस्‍कस करेंगे तो आपके साथ दूसरे छात्र भी इसमें शामिल होंगे। वे भी अपने विचार उस टॉपिक पर रखेंगे, तो इससे आपको उनकी प्रिपरेशन और नॉलेज के बारे में भी पता लग जाएगा। इसकी मदद से आप अपने आप को इंप्रूव भी कर सकते हैं।

अच्‍छे स्‍टडी मटेरियल से करें पढ़ाई

सब्‍जेक्‍ट के अनुसार ज्‍यादा से ज्‍यादा स्‍टडी मटेरियल होना बेहतर माना जाता है। इसलिए तैयारी शुरू करने से पहले ही सभी बुक्स को खरीद लें, इस दौरान ध्‍यान रखें की आपके पास अच्‍छे स्‍टडी मटेरियल होने चाहिए। साथ ही मैथ और साइंस जैसे सब्‍जेक्‍ट्स की बेहतर प्रैक्‍टिस करने के लिए रफ कॉपी भी अधिक मात्रा में लें।

Read More - पहले जॉब इंटरव्‍यू में अक्सर पूछे जाते हैं यह सवाल, अभी से कर लें तैयारी

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर