योगी के मंत्री का विवादित बयान, 'देशद्रोहियों को कुत्ते की मौत मारेंगे, पुलिस को दे दिया है निर्देश' [VIDEO]

भड़काऊ भाषणों और विवादित बयान देने का सिलसिला लगातार जारी है। योगी के मंत्री ने कहा कि मैं अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के 'मुल्ला' से यह कहना चाहता हूं।

Yogi minister Raghuraj Singh controversial statement
योगी के मंत्री रघुराज सिंह ने फिर विवादित बयान दिया  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • मंत्री ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) का नाम बदलकर हिंदुस्तान यूनिवर्सिटी किया जा सकता है
  • उन्होंने कहा कि मैं अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के 'मुल्ला' से यह कहना चाहता हूं कि जब भी हम चाहेंगे, कर देंगे
  • इससे पहले उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी और सीएम योगी के खिलाफ नारे लगाने वालों को जिंदा दफन कर देंगे

अलीगढ़ : माननीयों द्वारा विवादित बयान देने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। हाल में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और बीजेपी सांसद परवेश वर्मा के बाद उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री रघुराज सिंह ने बुधवार को कहा कि एंटी नेशनल कुत्ते के मौत मारे जाएंगे। साथ ही कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) का नाम बदला जा सकता है। उसका नाम हिंदुस्तान यूनिवर्सिटी किया जा सकता है। उन्होंने अलीगढ़ में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि वे चाहते हैं और जब चाहें, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का नाम बदलकर 'हिंदुस्तान यूनिवर्सिटी' कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि जो कोई भी देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त है, उसे 'कुत्तों की मार' दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि पुलिस को निर्देश दिया गया है कि ऐसे लोगों को मुठभेड़ में तुरंत मार दिया जाए। उन्होंने कहा कि मैं अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के 'मुल्ला' से यह कहना चाहता हूं कि जब भी हम चाहेंगे, इसका नाम बदलकर हिंदुस्तान यूनिवर्सिटी कर देंगे।

मंत्री जी का यह विवादास्पद बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारे लगाने वालों को "जिंदा दफनाने" की धमकी देने के हफ्तों बाद आया है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिर्सिटी के छात्रों के विरोध प्रदर्शन का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि तुम अपने यूनिवर्सिटी से टैक्सपेयर का पैसा लोगे और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारे लगाओगे।, मैं तुम्हें जिंदा दफना दूंगा। मंत्री जी रविवार को नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में आयोजित एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए ये बात कही थी।

अगली खबर