Vikas dubey SIT report: पुलिस- अपराधी गठजोड़ का नतीजा था बिकरु कांड, 80 पुलिसवालों के खिलाफ एक्शन की सिफारिश

कानपुर के बिकरु कांड पर एसआईटी रिपोर्ट आ चुकी है। रिपोर्ट के मुताबिक विकास दुबे और कुछ पुलिसवालों में गठजोड़ था।

Vikas dubey SIT report: एसआईटी की रिपोर्ट में सनसनीखेज जानकारी, पुलिस- अपराधी गठजोड़ का नतीजा था बिकरु कांड
जुलाई 2020 में हुआ था कानपुर का बिकरु कांड 

मुख्य बातें

  • 2 जुलाई 2020 को कानपुर में हुआ था बिकरु कांड
  • कुख्यात बदमाश विकास दुबे ने आठ पुलसिकर्मियों की हत्या की थी
  • विकास दुबे के गांव पुलिस वाले छापेमारी के लिए गए थे

लखनऊ। कानपुर के बिकरू में आठ पुलिसकर्मियों की जघन्य हत्या मामले की जांच के लिए गठित तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) की रिपोर्ट में पुलिस और मारे गए कुख्यात अपराधी विकास दुबे के बीच सांठगांठ का इशारा किया गया है और इस मामले में 80 पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा की गई है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी है।

जुलाई में गठित हुई थी एसआईटी टीम
इसी वर्ष जुलाई माह में हुए बिकरू कांड की जांच के लिये अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी की अध्यक्षता में गठित एसआईटी ने अपनी जांच रिपोर्ट उत्तर प्रदेश के गृह विभाग को सौंप दी है। एक अधिकारी ने बताया कि एसआईटी ने करीब 3500 पन्नों की जांच रिपोर्ट शासन को सौंप दी है। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट में एसआईटी ने करीब 36 अनुशंसाएं की हैं और दोषी अधिकारियों तथा 80 पुलिसकर्मियों की भूमिकाओं का विस्तार से ब्योरा दिया है।

 भ्रष्ट पुलिसवालों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश 
गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद सरकार कार्रवाई करेगी। एसआईटी की रिपोर्ट में पुलिस, प्रशासनिक अधिकारियों और दुबे के बीच सांठगांठ की बात कही गई है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार जांच में यह भी बात सामने आई है कि पुलिसकर्मी विकास दुबे के लिए मुखबिरी करते थे और घटना की रात विकास को मालूम था कि उसके घर पर पुलिस की छापेमारी होने वाली है।

बिकरु में आठ पुलिसकर्मी हुए थे शहीद
राज्य सरकार द्वारा गठित इस एसआईटी में भुसरेड्डी के अलावा अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) हरिराम शर्मा व पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) जे.रवींद्र गौड शामिल थे।गौरतलब है कि दो-तीन जुलाई की दरम्यानी रात कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू निवासी दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को उसके गांव पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया था जिसमें आठ पुलिस कर्मी मारे गये थे। दुबे 10 जुलाई को पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था और 11 जुलाई को एसआईटी का गठन किया गया था।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर