Uttar pradesh thunderstorm: आंधी-तूफान का ऐसा कहर, यूपी में गई 43 लोगों की जान, अब मुआवजे का ऐलान

Uttar pradesh thunderstorm: उत्तर प्रदेश में 30 मई को इतना भयंकर आंधी-तूफान आया कि राज्य में 43 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुआवजे का ऐलान किया है।

lightning
प्रतीकात्मक तस्वीर 

मुख्य बातें

  • उत्तर भारत के कई हिस्सों में बारिश के साथ आंधी तूफान चलने से हुआ नुकसान
  • राज्य के अलग-अलग जिलों में कुल 43 लोगों की मौत हुई है
  • मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया गया है

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने बताया है कि 30 मई को आई आंधी और बारिश-तूफान की वजह से राज्य में 43 लोगों की जान चली गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पर दुख व्यक्त किया है और अधिकारियों को निर्देश दिया है कि मृतक के हर परिवार को 4 लाख रुपए तुरंत प्रदान किए जाएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि राहत कार्य तुरंत किए जाएं, साथ ही कहा कि घायल व्यक्तियों को पर्याप्त उपचार दिया जाए।

सीएम ऑफिस ने ट्वीट कर कहा, 'मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने (30 मई, 2020 को) प्रदेश के विभिन्न जनपदों में आकाशीय बिजली/आंधी-तूफान जैसी दैवीय आपदा में हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया है एवं दिवंगतों के परिजनों को 04-04 लाख रुपए की राहत राशि तत्काल वितरित किए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री जी ने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की हैं एवं कहा है कि इस आपदा में घायल हुए लोगों का समुचित उपचार कराया जाए। उन्होंने अधिकारियों को पूरी तत्परता से प्रभावितों को राहत एवं मदद पहुंचाने का कार्य करने के निर्देश दिए हैं। ज्ञातव्य है कि राहत आयुक्त कार्यालय द्वारा आज जारी अद्यतन रिपोर्ट में (30 मई, 2020 को) प्रदेश के विभिन्न जनपदों में आंधी-तूफान व आकाशीय बिजली से कुल 43 जनहानि की सूचना दी गई है।' 

मकान गिरने से मौत

अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को लखनऊ में धूल भरी आंधी के कारण मकान गिरने की अलग-अलग घटनाओं में दो लोगों की जान चली गई, जबकि छह घायल हो गए। उन्नाव से आठ और कन्नौज से पांच लोगों की मौत हुई। ललौली पुलिस स्टेशन के एसएचओ प्रदीप कुमार यादव ने कहा, 'शनिवार की रात धूलभरी आंधी ने बहुआ इलाके में तबाही मचाई, जिसमें एक कच्चा मकान ढह गया, जिसमें 55 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई।' 

ताज महल को भी पहुंचा नुकसान

इस आंधी-तूफान से आगरा में ताजमहल की इमारत को भी खासा नुकसान पहुंचा। ताजमहल के मुख्य मकबरे की संगमरमर की रेलिंग टूट गयी और उसकी जालियां भीं गिर गईं। भारतीय पुरातत्व विभाग के अधीक्षण पुरातत्वविद् डॉ.बसंत स्वर्णकार ने बताया, 'आंधी से ताजमहल में संगमरमर की जालियां और लाल पत्थर की जालियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। परिसर में पेड़ उखड़ गए वहीं एक दरवाजा भी उखड़ गया है। इसके अलावा ताजमहल परिसर में पर्यटकों की सुविधा के लिये बनायी गई शेड की फॉल्स सीलिंग उखड़ गई है।'

अगली खबर