योगी सरकार में गिरा क्राइम का ग्राफ, अपराधियों पर कार्रवाई में यूपी टॉप पर, देखें NCRB की ये रिपोर्ट

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो द्वारा जारी क्राइम डाटा (Crime Data) के मुताबिक यूपी में अपराध का ग्राफ गिरा है, जबकि अपराधियों पर कार्रवाई के मामले में यूपी पहले और दूसरे स्‍थान पर है।

Yogi adityanath CM Uttar Pradesh
Yogi adityanath CM Uttar Pradesh 

उत्‍तर प्रदेश में अपराध के मामले में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की सख्‍ती का असर देखने को मिल रहा है। एक समय अपराध का गढ़ माना जाने वाला यूपी अब क्राइम के मामले में अन्‍य राज्‍यों से बेहतर तस्‍वीर बना रहा है। यह दावा हमारा नहीं, बल्कि नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के डाटा का है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन आने वाला एनसीआरबी 1954 से लगातार अपराध के आंकड़े जारी कर रहा है। 

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों पर नजर 

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो द्वारा जारी क्राइम डाटा 2018 (Crime Data) के मुताबिक यूपी में अपराध का ग्राफ गिरा है, जबकि अपराधियों पर कार्रवाई के मामले में यूपी पहले और दूसरे स्‍थान पर है। डाटा के अनुसार, देशभर में कुल 31,32,954 अपराध आईपीसी के तहत दर्ज हुए जिनमें से 3,42, 355 मामले यूपी में दर्ज हुए। यह कुल मामलों का 10.92 प्रतिशत है, जबकि जनसंख्‍या के आधार पर यूपी की आबादी देश की 16.85 प्रतिशत है।

अन्‍य राज्‍यों से बेहतर है यूपी का स्थिति

अलग अलग तरह के क्राइम में यूपी के स्‍थान की बात करें तो डकैती में यूपी 31वें, लूट में 20वें, हत्‍या में 26वें, हत्‍या के प्रयास में 21 वें, नकबजनी में 32वें, बलात्‍कार में 24वें, शीलभंग में 14वें, पॉक्‍सो एक्‍ट के मामलों में 23वें, महिला अपराध में 15 वें नंबर पर है। देश के अन्‍य राज्‍यों और केंद्र शासित राज्‍यों से यूपी की तुलना करें तो अपराध का ग्राफ काफी बेहतर दिखाई देता है। शीलभंग और महिला अपराध के अलावा हर श्रेणी में यूपी टॉप 20 से बाहर है। वहीं डकैती में 31वां स्‍थान बताता है कि यूपी से आगे देश का लगभग हर राज्‍य है। 

अपराधियों पर कार्रवाई में सबसे आगे यूपी

अपराध पर अंकुश लगाने और अपराधियों पर कार्रवाई में यूपी का स्‍थान टॉप पर है। कई मामलों में यूपी पहले नंबर और कई में दूसरे पर है। डाटा के अनुसार महिला अपराधों में कार्रवाई के मामले में यूपी पहले, साइबर अपराधों में कार्रवाई में पहले, शस्‍त्रों के जब्‍तीकरण में पहले, जाली मुद्रा जब्‍तीकरण में पहले, अपराधों की गिरफतारी में दूसरे, संपत्ति की बरामदगी में छठवें स्‍थान पर है। आंकड़े बताते हैं कि यूपी पुलिस अपराधियों के विरुद्ध की गई कार्रवाई एवं अपराधियों को सजा दिलाने के मामले में अन्‍य राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों से बेहतर है। 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर