ओवैसी की पार्टी की जीत पर भड़के मुनव्वर राणा, बोले-भारत में एक और जिन्ना को पनपने नहीं देगें मु्स्लिम

बिहार विधानसभा चुनाव में एआईएमआईएम की शानदार सफलता को लेकर प्रसिद्ध शायद मुनव्वर राणा ने ओवैसी पर हमला बोला है। उन्होंने ओवैसी की तुलना मोहम्मद अली जिन्ना से की है।

Urdu poet Munawwar Rana slams Asaduddin Owaisi for dividing muslim votes in Bihar Assembly polls
ओवैसी की पार्टी की जीत पर भड़के मुनव्वर राणा, किया बड़ा हमला 

मुख्य बातें

  • मुस्लिम वोटों को विभाजित करने पर मुनव्वर राना का ओवैसी पर बड़ा हमला
  • ओवैसी की पार्टी ने बिहार चुनाव में जीती हैं पांच सीटें
  • मुनव्वर राणा ने ओवैसी पर लगाया मुस्लिम वोटों को विभाजित करने का आरोप

लखनऊ: जाने-माने उर्दू शायर मुनव्वर राना ने कहा है कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी जैसे नेताओं ने मुसलमानों को विभाजित कर दिया है। पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना के साथ ओवैसी की तुलना करते हुए उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय भारत में एक और जिन्ना को पनपने नहीं देगा। 67 वर्षीय मुनव्वर राना बिहार चुनाव में एआईएमआईएम की पांच सीटों पर जीत पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। उन्होंने कहा कि कई सीटों पर ओवैसी की पार्टी ने विपक्ष के वोट काटे।

मुस्लिम वोटों का विभाजन करती है AIAMIM

उन्होंने कहा, एआईएमआईएम नेता हमेशा मुस्लिम वोटों को विभाजित करते हैं जो अंत में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को फायदा पहुंचाता है। शायर ने कहा, ओवैसी भाजपा का एजेंट है और हमेशा वोट डिवाइडर के रूप में काम करता रहा है। असदुद्दीन और उनके छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी दोनों ही मेरे लिए गुंडे हैं, मुसलमानों को गुमराह करते हैं, विशेष रूप से युवाओं को, और मुस्लिमों में विभाजन पैदा करते हैं। उन्होंने कहा कि ओवैसी को अपनी 15,000 करोड़ रुपये की संपत्ति बचानी है, जिसमें मेडिकल कॉलेज, जमीन और अन्य व्यवसाय शामिल हैं।

महागठबंधन से मिलाना चाहिए था हाथ

राना ने कहा, बिहार में सीमांचल के लिए, जो कि एक मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र है, ओवैसी को तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले महागठबंधन से एनडीए को बाहर करने के लिए हाथ मिलाना चाहिए था। लेकिन इसके बजाय उन्होंने अपने हितों की रक्षा के लिए भाजपा की मदद ली। उन वोटों और सीटों से बिहार की राजनीति की पूरी तस्वीर बदल सकती थी। उन्होंने आगे कहा, बिहार में पांच सीटें जीतकर ओवैसी मुसलमानों का क्या कल्याण करेंगे या न्याय करेंगे? असदुद्दीन के लिए, यूपी-बिहार उनके निहित स्वार्थ के लिए एक दूध देने वाली गाय है। इस क्षेत्र की 'गंगा जमुनी तहजीब' अभी भी उसके लिए एक दूर की सोच है।

बंगाल में भी करेंगे मतों का विभाजन

राना ने कहा कि वो असदुद्दीन को तब से जानते हैं जब वो एक किशोर थे। मुनव्वर राना ने कहा कि बिहार के बाद, ओवैसी अब बंगाली मुस्लिम वोटों को विभाजित करने के लिए पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ रहे हैं, जबकि अमित शाह बंगाली हिंदू वोटों का विभाजन करेंगे।उन्होंने कहा, मरने से पहले, मैं मुसलमानों, खासकर युवाओं की मदद करना चाहता हूं, ताकि असली अपराधियों की पहचान की जा सके जो उन्हें नष्ट कर रहे हैं और उन्हें विभाजित कर रहे हैं। इस राष्ट्र की सुंदरता विविधता में है और इससे समझौता नहीं किया जाना चाहिए।

मुनव्वर राना पर इस महीने की शुरूआत में, लखनऊ पुलिस ने फ्रांस में हुई हत्याओं पर विवादास्पद टिप्पणी की थी। राना ने कहा था कि पैगंबर मोहम्मद के कार्टून बनाना और उस पर हत्याएं करना, दोनों गलत है। लेकिन उन्होंने कहा कि वो भी ऐसा ही करते अगर वो वहां होते।
 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर