Lucknow Bus Service: बाराबंकी के लिए अब अवध बस स्टेशन से मिलेंगी बसें, प्रशासन ने इसलिए लिया फैसला

Lucknow Bus Service: लखनऊ में जाम से निजात पाने के लिए एक और फैसला लिया गया है। पॉलिटेक्निक चौराहे से अब बाराबंकी की बसें नहीं मिलेंगी। अब बाराबंकी जाने के लिए बस पकड़ने के लिए अवध बस स्टैंड जाना पड़ेगा।

Lucknow Bus Stand
बाराबंकी के लिए अवध बस स्टेशन से मिलेंगी बसें  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • बस से सफर करने वाले यात्रियों के लिए जरूरी खबर
  • पॉलिटेक्निक चौराहे पर नहीं मिलेंगी बाराबंकी के लिए बसें
  • अब अवध बस स्टेशन से मिलेंगी बाराबंकी के लिए बसें

Lucknow Bus Service: राजधानी लखनऊ के पॉलिटेक्निक चौराहे पर रोडवेज बसों के ठहराव पर रोक लगाने के बाद अब बाराबंकी की बसों के ठहराव पर भी रोक लगा दी गई है। ऐसे में पॉलिटेक्निक चौराहे पर बसों से लगने वाले जाम को देखते हुए अब बाराबंकी बसों को भी नहीं रोकने का निर्णय लिया गया है। यह बसें अवध बस स्टेशन पर रुकेंगी। क्षेत्रीय प्रबंधक पल्लव बोस ने बताया कि, कैसरबाग बस अड्डे से बाराबंकी जाने वाली बसें पॉलिटेक्निक के बजाए लोहिया हॉस्पिटल, इंदिरागांधी प्रतिष्ठान के रास्ते शहीद पथ के सर्विस लेन से अवध बस स्टेशन पहुंचेगी। इसी रास्ते से बसें वापस आएंगी। 

लखनऊ परिक्षेत्र के उप परिवहन आयुक्त निर्मल प्रसाद ने बताया कि, अवैध बसों के खिलाफ चेकिंग अभियान में बीते एक हफ्ते में 1656 बसों की चेकिंग की गई। 647 बसों के चालान काटे गए। चेकिंग के दौरान 106 ऐसी बसें पकड़ी गईं जिनका फिटनेस नहीं था। ऐसे वाहनों को कल्ली पश्चिम यार्ड में जब्त करके बंद करा दिया गया। इन बसों में सवार यात्रियों को रोडवेज बसों से दिल्ली और बिहार भेजा गया।

जाम लगा तो बस चालकों पर 2000 जुर्माना

वहीं, अब सड़क पर बस रोककर सवारी चढ़ाना और बैठना बस चालकों को महंगा पड़ेगा। बसों से अगर जाम लगा तो इसके जिम्मेदार बस ड्राइवर होंगे। बस चालकों की इस मनमानी पर दो हजार रुपये जुर्माना लगेगा। यह जुर्माना बस चालकों के वेतन से हर महीने की सात तारीख को काटकर मुख्यालय को रिपोर्ट करना होगा। यह आदेश परिवहन निगम के अपर प्रबंध निदेशक अन्नापूर्णा गर्ग ने प्रदेश भर के सभी रोडवेज अफसरों को दिए हैं। 

दस गुना जुर्माने की धनराशि बढ़ाकर दो हजार की

यह आदेश तत्काल प्रभाव से 20 मई से प्रदेश भर में लागू होंगे। जारी आदेश में रोडवेज बसें अपनी क्षमता के अनुसार बस अड्डे पर ठहराव करेंगी। इस दशा में बसें सड़क पर रुकती हैं तो इस स्थिति में चालक के ऊपर प्रथम अवसर पर ही दो हजार रुपये का दंड अधिरोपित किया जाएगा। अभी प्रतिबंधित रूट से बसें ले जाने और बिना स्टॉपेज बसों के ठहराव पर 200 रुपये चालान बस चालकों की मनमानी पर काटे जा रहे हैं। क्षेत्रीय प्रबंधक पल्लव बोस ने बताया कि, सड़क सुरक्षा के मद्देनजर दस गुना जुर्माने की धनराशि बढ़ाकर दो हजार कर दी गई है। इससे मनमानी पर काफी हद तक लगाम लगेगी।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर