झांसी में बिल्डरों की सम्पत्ति देख आईटी अधिकारी रह गए हैरान, अब तक करोड़ों की ज्वेलरी और कैश मिला, जानिए पूरा मामला

UP IT Raid: आईटी के निशाने पर आए घनाराम इंफ्रा समूह सहित इससे जुड़े बिल्डरों के ठिकानों पर चल रही आइटी महकमे की जांच 4 दिन बाद रविवार को भी जारी रही। जांच में बिल्डरों के यहां से करीब 6 करोड़ रुपए के जेवर व 3 करोड़ से अधिक की नकद रकम मिली है।

UP IT Raid
झांसी में बिल्डरों के यहां आईटी की रेड  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • आईटी विभाग को रेड में कई अहम सबूत मिले
  • 6 करोड़ के जेवर सहित 3 करोड़ से अधिक कैश मिले
  • कार्रवाई दो दिन और जारी रहने की संभावना

UP IT Raid: यूपी के झांसी में आईटी के निशाने पर आए घनाराम इंफ्रा समूह सहित इससे जुड़े बिल्डरों के ठिकानों पर चल रही आईटी महकमे की जांच 4 दिन बाद रविवार को भी जारी रही। महकमे से मिले इनपुट के मुताबिक जांच में बिल्डरों के यहां से करीब 6 करोड़ रुपए के जेवर व 3 करोड़ से अधिक की नकद रकम मिली है। इसके अलावा विभाग को बड़े स्तर पर आयकर चोरी के प्रूफ मिले हैं।

आपको बता दें कि, इनकम टैक्स विभाग की ओर से बुधवार को इंफ्रा समूह के 32 ठिकानों पर रेड की कार्रवाई शुरू की गई थी। अधिकारियों की मानें तो कार्रवाई अभी दो दिन और चलने की संभावना है। कार्रवाई के दौरान विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार को जहां सवा 2 करोड़ नकद सहित 2 करोड़ कीमत के आभूषण बरामद कर सीज किए थे। वहीं शनिवार को महकमे के अधिकारियों ने बिल्डरों के यहां से 1 करोड़ कैश सहित उनके लॉकरों से 4 करोड़ की अनुमानित कीमत के आभूषण बरामद किए थे। 

कई ठिकानों की जांच अभी बाकी 

आईटी के अधिकारियों के मुताबिक इनकम टैक्स चोरी के मामले को लेकर धन कुबेरों के कई ठिकाने अभी विभाग के निशाने पर हैं। जिनमें 10 लॉकरों की जांच सहित कई ठिकानों की तलाशी ली जानी शेष है। अधिकारियों ने बताया कि, अब तक की जांच में टैक्स चोरी के बड़े पैमाने पर दस्तावेज विभाग को मिले हैं। इनका मिलान किया जा रहा है। वहीं कई दस्तावेजों में 4 साल के फर्जी बिलों के भुगतान सहित काम किसी और से करवाना बिल किसी और के नाम का बनाना सामने आया है। विभाग के मुताबिक अचल संपत्ति की खरीद में स्टांप चोरी की बात भी सामने आई है। विभाग के मुताबिक आईटी की जांच के रडार पर घनाराम समूह सहित कई बिल्डर आए हैं। आगे की जांच में ही पूरी टैक्स चोरी सहित दस्तावेजों की हेराफेरी का खुलासा होगा। 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर