INS गोमती युध्दपोत 28 मई को मुम्बई से लखनऊ के लिए होगा व रवाना, जानिए क्यों है ये इतना खास

INS Gomti उत्तर प्रदेश के लखनऊ के लोगों को योगी सरकार ने एक बड़ा तोहफा दिया है. सरकार ने राजधानी में नौसेना शौर्य स्मारक (Naval Gallantry Memorial) बनाने का फैसला लिया है। म्यूजियम में युद्धपोत के सारे लड़ाकू उपकरणों को भी प्रदर्शित किया जाएगा।

Lucknow news
नौसेना शौर्य स्मारक (प्रतीकात्मक फोटो)  |  तस्वीर साभार: Facebook
मुख्य बातें
  • लखनऊ वासियों को योगी सरकार का बड़ा तोहफा
  • नौसेना के शौर्य स्मारक में बेहतरीन म्यूजियम बनेगा
  • म्यूजियम में युद्धपोत के सारे लड़ाकू उपकरणों को प्रदर्शित किया जाएगा

Lucknow news : उत्तर प्रदेश मे सरकार ने राजधानी में नौसेना शौर्य स्मारक (Naval Gallantry Memorial) बनाने का फैसला लिया है। इसके लिए नौसेना से सेवानिवृत्त INS गोमती युद्धपोत लखनऊ आएगा। नौसेना के शौर्य स्मारक में बेहतरीन म्यूजियम बनेगा। म्यूजियम में युद्धपोत के सारे लड़ाकू उपकरणों को भी प्रदर्शित किया जाएगा। इस म्यूजियम के आस-पास म्यूरल गैलरी, हर्बल गार्डन, रेस्टोरेंट भी होंगे। मनोरंजन स्थल, लैंडस्कैपिंग, कॉन्प्लेक्स ओपन एयर थिएटर की भी व्यवस्था भी होगी। 

28 को मिलेगा आईएनएस गोमती 

28 मई को नौसेना का सेवानिवृत्त INS गोमती यूपी को मिलेगा। प्रमुख सचिव पर्यटन मुकेश मुंबई में इसे आधिकारिक तौर पर प्राप्त करेंगे। 126 मीटर लंबे और 14 मीटर चौड़े युद्धपोत के पार्ट्स अलग कर सड़क मार्ग के जरिए लखनऊ लाया जायेगा। युद्धपोत के साथ RAW राडार, एंकर, मिसाइल लॉन्चर, लार्ज प्रोपेलर, C हैरियर एयरक्राफ्ट, स्मार्ट टारपीडो लॉन्चर, शिप मैनगन, एके 725 C किंग हेलीकॉप्टर भी लखनऊ लाया जाएगा। INS गोमती 19 मार्च 1984 को लॉन्च हुआ था। 34 वर्ष की शानदार सेवा के बाद नौसेना से सेवानिवृत्त हुआ है। 

युध्दपोत की खासियत 

गोमती नदी के नाम पर इस युद्धपोत का नामकरण किया गया था। ऐसे में नौ सेना से सेवानिवृत्त होने के बाद इस युद्धपोत को गोमती नदी के किनारे स्थापित करने का फैसला लिया गया है। इसके लोगो में गोमती किनारे स्थित छतरमंजिल को भी दर्शाया गया है। नौसेना अधिकारी आइएनएस गोमती पर्यटन विभाग को हस्तगत करेंगे। उत्तर प्रदेश के लिए यह उपलब्धि है कि तीन दशक तक देश की रक्षा करने वाले इस जहाज को नौसेना ने इस राज्य को नि:शुल्क सौंपने का निर्णय लिया है।

युद्धपोत की खासियत यह है कि यह दुश्मन का जहाज देखते ही अपने डेक से एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल लॉन्च कर सकता है। युद्धपोत में मध्यम दूरी की सतह से हवा में वार करने वाली मिसाइलें, सतह से सतह पर वार करने वाली मिसाइलें लगी हैं।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर