डॉ. कफील की रिहाई के लिए प्रियंका ने CM योगी को लिखा खत तो BJP ने साधा निशाना

जेल में बंद गोरखपुर स्थित बीआरडी मेडिकल कॉलेज के निलंबित डॉ. कफील खान की रिहाई को लेकर प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्‍यनाथ को खत ल‍िखा तो भाजपा प्रवक्‍ता ने उन पर करारा हमला बोला।

Dr Chandramohan vs Priyanka Gandhi
Dr Chandramohan vs Priyanka Gandhi 

मुख्य बातें

  • बीआरडी मेडिकल कॉलेज के निलंबित डॉ. कफील की र‍िहाई की प्रियंका ने की मांग
  • गुरु गोरखनाथ की कविता ल‍िखकर सीएम योगी को भेजी च‍िट्ठी
  • भाजपा ने साधा न‍िशाना- कांग्रेस का हाथ 'हत्यारों' के साथ

जेल में बंद गोरखपुर स्थित बीआरडी मेडिकल कॉलेज के निलंबित डॉ. कफील खान की रिहाई को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्‍यनाथ को खत ल‍िखा तो भाजपा प्रवक्‍ता ने उन पर करारा हमला बोला द‍िया। यूपी भाजपा के प्रवक्‍ता डॉ. चंद्रमोहन ने प्रियंका गांधी के खत के जवाब में कांग्रेस पार्टी पर कई आरोप लगा दिए। डॉ. कफील नागरिकता संशोधन कानून को लेकर अलीगढ में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में मथुरा जेल में बंद हैं। उन्‍हें मुंबई से गिरफ्तार किया था और योगी सरकार ने एनएसए के तहत कार्रवाई की थी।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को पत्र लिखकर कहा है, 'मैं इस पत्र के माध्यम से डॉक्टर कफील खान का मामला आपके संज्ञान में लाना चाहती हूं। वे अब तक लगभग 450 दिन से ज्यादा जेल में गुजार चुके हैं। डॉ. कफील ने कठिन परिस्थितियों में निस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा की है। मुझे उम्मीद है कि आप अपनी संवेदनशीलता का परिचय देते हुए डॉ. कफील को न्याय दिलवाने का पूरा प्रयास करेंगे।

मुझे आशा है कि गुरु गोरखनाथ के ये सबदी आपको मेरे इस निवेदन को मानने के लिए प्रेरित करेगी। मन में रहिणां, भेद न कहिणां, बोलिबा अमृत वाणी। अगिला अगली होईबा, हे अवधू तौ आपण होईबा पाणी।'

इस खत के जवाब में डॉ. चंद्रमोहन ने ल‍िखा- 'शैतान' की रिहाई की मांग कर प्रियंका गांधी आपने यह साबित कर दिया कि कांग्रेस का हाथ 'हत्यारों' के साथ। कांग्रेस का हाथ टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ। कांग्रेस का हाथ तुष्टिकरण के साथ। कांग्रेस का हाथ निजी स्वार्थ के हाथ।' डॉ. चंद्रमोहन ने कहा कि जो व्‍यक्ति भड़काऊ भाषण देने के आरोप में बंद है और जिस पर एनएसए लगी हुइ है, उसकी रिहाई की मांग कांग्रेस और प्रियंका गांधी किस मकसद से कर रही हैं। 

अगली खबर