युवाओं को रोजगार से लेकर किसानों को सही दाम तक, डॉ. अंतुल तेवतिया ने गिनाईं प्राथमिकताएं

जनसेवा और राजनीति में आने की प्रेरणा के सवाल पर अंतुल तेवतिया कहती हैं, 'मुझे इस बात की खुशी है कि मैं हमेशा से जनसेवा से जुडी रही हूं। मेरे पिता राष्ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के पदाधिकारी रहे और चिकित्‍सक थे।

Antul teotia prioritizes Bulandshahr isues after winning Jila panchayat president post
जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर विजयी हुई हैं अंतुल तेवतिया। 

उत्‍तर प्रदेश में 2022 विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी है। सत्‍ताधारी भारतीय जनता पार्टी के अलावा समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी सहित सभी दलों ने कमर कस ली है। हालांकि विधानसभा चुनाव से पहले जिला पंचायत चुनाव में जीत दर्ज कर बीजेपी ने अन्‍य दलों को झटका दे दिया है। बीजेपी इसे 2022 का सेमीफाइनल मार रही है और 300 से अधिक सीटों के साथ एक बार फ‍िर जीत का दावा कर रही है। दूसरी तरफ बीजेपी के सभी जीते हुए पंचायत अध्‍यक्षों ने शपथ ले ली है और सभी 2022 में जीत के लिए ग्राउंड तैयार करने में जुट गए हैं। पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में अहम राजनीतिक महत्‍व रखने वाले बुलंदशहर जिले से इस बार बीजेपी की डॉ. अंतुल तेवतिया निर्विरोध चुनी गई हैं।

'बुलंदशहर का सर्वांगीण विकास मेरी प्रतिबद्धता'
बुलंदशहर जैसे एतिहासिक जिले से जिला पंचायत अध्‍यक्ष चुने जाने के सवाल पर कहा, ' मेरे लिए बड़े गौरव का विषय है कि बुलंशहर, जिसका गौरवशाली इतिहास रहा है, उसकी जिला पंचायत अध्‍यक्ष के रूप में सेवा करने का मौका सम्‍म‍ानित जनता ने मुझे दिया है। कल्‍याण सिंह जी, चौधरी चरण सिंह जी, बाबू बनारसी दास जी, राम प्रकाश गुप्‍ता जी के प्रतिनिधित्‍व वाला जिला है। रज्‍जू भैया का जन्‍म इसी जिले की मिट्टी में हुआ जो विश्‍व के सबसे बड़े संगठन राष्ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ के सरसंघचालक रहे। ऐसी महान विभूतियों की धरती का प्रतिनिधित्‍व करना बड़ी जिम्‍मेदारी है। स्‍वतंत्रता संग्राम से लेकर नए भारत की नींव में भागीदार बुलंदशहर का सर्वांगीण विकास और यहां के लोगों की सेवा ही मेरी प्रतिबद्धता और प्राथमिकता है। यहां हर क्षेत्रवासी मेरे और मेरे परिवार के लिए सम्‍मानित है और उनकी समस्‍याएं मेरी अपनी हैं। मैं उनके हक के लिए ना केवल खड़ी रहूंगी, बल्कि लड़ूंगी। मेरा भ्रष्‍टाचार मुक्‍त जिला पंचायत देने का वादा है। मैं उनके वोट के विश्‍वास की बोली नहीं लगने दूंगी।'

जन जन की सेवा करना मेरा लक्ष्य-अंतुल
जनसेवा और राजनीति में आने की प्रेरणा के सवाल पर अंतुल तेवतिया कहती हैं, 'मुझे इस बात की खुशी है कि मैं हमेशा से जनसेवा से जुडी रही हूं। मेरे पिता राष्ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के पदाधिकारी रहे और चिकित्‍सक थे। मेरी मां भी डॉक्‍टर हैं और दोनों ने ग्रामीण क्षेत्रों के लोग, पिछड़े और गरीबों की सेवा की। संगठन की भावना से माता-पिता के द्वारा दिए गए संस्‍कार ही हैं कि जनसेवा के प्रति मन हमेशा तत्‍पर रहता है। चिकित्‍सक होने के पीछे भी वही ध्‍येय रहा कि लोगों की मदद करूं, उनके कष्‍ट दूर करूं जबकि राजनीति में आने के पीछे भी उद्देश्‍य और भाव यही है कि जन जन की सेवा कर सकूं। अपने क्षेत्र के अंतिम व्‍यक्ति के साथ खड़ी हो सकूं।'

' 2022 में जनता बीजेपी की दोबारा सरकार बनाएगी'
यूपी में जिला पंचायत में बीजेपी की जीत के क्‍या मायने हैं, यह पूछे जाने पर उन्‍होंने कहा, 'उत्‍तर प्रदेश की राजनीति में जिला पंचायत का चुनाव काफी अहम माना जाता है। सूबे के आम विधानसभा चुनाव से पहले होने वाले जिला पंचायत चुनाव प्रदेश की राजनीति का रुख तय करने में अहम भूमिका निभाते हैं। भाजपा ने पूरे प्रदेश में 67 जिला पंचायत की सीटें जीती हैं जोकि साफ दिखाता है कि प्रदेश की जनता का विश्‍वास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्‍व और यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ की नीतियों में है। इसका मतलब साफ है कि विधानसभा चुनाव 2022 में जनता बीजेपी की दोबारा सरकार बनाएगी। जिला पंचायत अध्‍यक्ष चुनाव में भाजपा के अभूतपूर्व प्रदर्शन का श्रेय प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह, महामंत्री संगठन सुनील बंसल और तमाम समर्पित कार्यकर्ताओं की मेहनत का परिणाम है।'

बुलंदशहर की प्राथमिकताएं गिनाईं
बुलंदशहर को लेकर अपनी प्राथमिकताएं गिनाते हुए उन्‍होंने कहा- बुलंदशहर के लिए रोजगार, किसान और दिल्ली एनसीआर से और बेहतर कनेक्टिविटी बड़ा विषय है। दिल्ली और एनसीआर के करीब होने के बावजूद जिले में रोजगार की समस्या है। इसके लिए स्थानीय स्तर पर रोजगार के साधनों को उपलब्ध कराना मेरी बड़ी प्राथमिकता है। बुलंदशहर कृषि प्रधान जिला है, लेकिन इस दिशा में और काम करने की जरूरत है। किसानों को उनकी उत्पाद का सही दाम मिले, किसान खेती किसानी में भिन्नता ला सकें इसके लिए मैं काम करूंगी। बुलंदशहर के करीब नोएडा इंटरनेशल एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है, नोएडा में फिल्म सिटी बन रही है, भाजपा सरकार के इन गतिविधियों से कैसे हम जिले को लाभान्वित करा सकते हैं उस दिशा में काम करूंगी।

क्षेत्र का विकास करने का वादा 
बुलंदशहर धार्मिक दृष्टि से काफी महत्‍वपूर्ण है। यहां बेलौन, चौंढेरे, नवदुर्गा शक्ति मंदिर, आहार, कर्णवास जैसे विश्‍व‍ प्रसिद्ध स्‍थान हैं जहां रोजाना हजारों की संख्‍या में दर्शनार्थी आते हैं। यहां रामघाट, अनूपशहर में गंगा मेले लगते हैं। इस मेलों और मंदिरों का विकास प्राथमिकता होगी। दुग्‍ध उत्‍पादन, गन्‍ना उत्‍पादन से लेकर गेहूं उत्‍पादन में हमारा जिला अग्रणी है, मेरी प्राथमिकता होगी कि ग्रामीण रास्‍तों का विकास हो जिससे किसान अपने उत्‍पादों को आसानी से दूसरे शहरों तक निर्यात कर सकें।

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर