Corona Vaccine: अखिलेश यादव के विधायक का दिव्य ज्ञान,वैक्सीन से हो सकते हैं नपुंसक

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि वो कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगवायेंगे। इसके साथ एसपी के एक एमएलसी का कहना है कि नपुंसक होने का भी खतरा हो सकता है।

Corona Vaccine: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का अजीबोगरीब बयान, बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगाएंगे
अखिलेश यादव के बाद एसपी के एमएलसी का विवादित बयान 

मुख्य बातें

  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बोले- बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगवाएंगे
  • अपनी सरकार आने पर हर एक शख्स को फ्री में वैक्सीन देंगे
  • बीजेपी की वैक्सीन पर किसी भी कीमत पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि वो बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगवाएंगे क्योंकि बीजेपी की वैक्सीन में उन्हें भरोसा नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब अपनी सरकार आएगी तो सबको वैक्सीन लगवाएंगे। उनके इस बयान के बाद सियासत तेज हो गई है। अखिलेश यादव के बयान की चारों तरफ आलोचना हो रही हैं। बीजेपी का कहना है कि एक पढ़ा लिखा शख्स अफवाहबाज कैसे हो सकता है। अखिलेश यादव जैसा शख्स इस तरह की बातें कैसे कर सकता है, राजनीति अपनी जगह है, इस तरह से जिम्मेदार लोग जब कुछ बोलते हैं तो उसका संदेश खराब जाता है। 

वैक्सीन से आप हो सकते हैं नपुंसक
मिर्जापुर के सपा एमएलसी आशुतोष सिन्हा कहते हैं कि टीके में कुछ हो सकता है, जो नुकसान पहुंचा सकता है। कल, लोग कहेंगे कि टीका आबादी को मारने / घटाने के लिए दिया गया था। आप नपुंसक भी हो सकते हैं, कुछ भी हो सकता है।

बीजेपी का पलटवार

बीजेपी का कहना है कि अखिलेश यादव का मानसिक संतुलन कहीं सोने चला गया है। कोई भी शख्स इस तरह की बातें कर सकता है। यह बड़े आश्चर्य की बात है कि कोई शख्स सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए गैरजिम्मेदार नजरिया सामने रखा है। जहां तक अखिलेश यादव की बात है को वो पढ़े लिखे हैं क्या वो भी इस तरह की सतही बातें सोचते हैं। बीजेपी ने यह भी कहा कि तुष्टीकरण की राजनीति में किसी की जिंदगी से खिलवाड़ की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

कोविशील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी
बता दें कि कोरोना वैक्सीन के निर्माण में जानवरों की चर्बी के इस्तेमाल पर कुछ मुस्लिम संगठनों ने वैक्सीन नहीं लगवाने की अपील की है। हालांकि वैक्सीन बना रही ज्यादातर कंपनियों का कहा है कि एनिमल का अंश नहीं है। इसके साथ ही एक जनवरी को जानकारी सामने आई कि एसईसी ने कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दे दी है। इसके साथ ही सीडीएससीओ ने कोवैक्सीन के इस्तेमाल की भी मंजूरी दे दी है। 

Lucknow News in Hindi (लखनऊ समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर