Malaria Prevention Tips: मलेरिया से बचना है तो घर में पनपने न दें मच्छर, इससे बचने के लिए आजमाएं ये सरल उपाय

Malaria Prevention: बारिश में खुले जगहों पर पानी इकट्ठा हो जाता है जिससे मच्छरों को पनपने का मौका मिलता है। मलेरिया, बरसात के मौसम में सबसे अधिक होता है, ऐसे में इससे बचने के लिए कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए।

Malaria Prevention
मलेरिया से बचना है तो घर में पनपने न दें मच्छर 

मुख्य बातें

  • बरसात के मौसम में होने वाले सभी रोगों में सबसे आम मलेरिया है।
  • मलेरिया से बचने के कई तरीके हैं।
  • वहीं इन आसान तरीकों को अपनाकर इस बीमारी से बच सकते हैं।

मानसून अपने साथ कई बीमारियों को भी साथ लेकर आता है। बरसात के मौसम में होने वाले सभी बीमारियों में से सबसे आम मलेरिया है। मलेरिया की रोकथाम के लिए जरूरी कदम उठाना आवश्यक है। बता दें कि सही वक्त इलाज नहीं होने पर यह बीमारी खतरनाक साबित हो सकती है। मलेरिया होने का मुख्य कारण एनॉफिलीज मादा मच्छर है जिसके कारण मलेरिया बुखार होता है। ऐसे में इससे बचने के लिए कई तरीके हैं। वहीं अगर आप कुछ आसान तरीके या फिर कुछ बातों का ख्याल रखें तो इस बीमारी से खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

बाहर निकलने से पहले समय का ध्यान रखें- शाम के समय पार्क या फिर बाहर निकलना लोगों को खूब पसंद है। लेकिन आपको पता है इस वक्त मच्छर होने की संभावना अधिक है। साथ ही कचड़ा या गंदगी वाले स्थान पर न जाए। क्योंकि ऐसी जगहों पर मच्छर काफी होते हैं, यह आपको काट सकते हैं।

खुद को हाइड्रेट रखें- मानसून और गर्मी में खुद को हमेशा हाइड्रेट रखें, अगर आप हाइड्रेट रहेंगे तो मलेरिया से बच सकते हैं।बदलते मौसम में शरीर गर्म रहता है, ऐसे में नॉर्मल रखने के लिए अधिक से अधिक पानी पिएं। पर्याप्त पानी पीने के साथ-साथ जूस, नारियल पानी आदि चीजों का भी सेवन करें। इससे बॉडी की टेम्परेचर नॉर्मल रहेगी।

मच्छरदानी का इस्तेमाल करें- बदलते लाइफस्टाइल में लोगों ने मच्छरदानी का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है। लेकिन मानसून के वक्त पनपने वाले मच्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी का इस्तेमाल जरूर करें। रात के अलावा अगर आप दिन में सो रहे हैं तो भी मच्छरदानी का इस्तेमाल करें। क्योंकि मानसून के वक्त मच्छर का खतरा हर वक्त रहता है।

बारिश के मौसम में मच्छरों को पनपने से रोकें- बारिश के मौसम में पानी को खुले स्थानों पर इकट्ठा न होने दें। घर के आसपास नालियों की साफ-सफाई रखें और कूलर को भी साफ करते रहें। इससे न सिर्फ मच्छरों को पनपने से रोक सकते हैं बल्कि कई बार इन पानी में मच्छर अंडा दे देते हैं। वहीं मानसून में मच्छरों को मारने वाली दवा का भी नियमित रूप से छिड़काव करवाएं। यह मच्छरों को पनपने से रोकता है।

लक्षण दिखने पर डॉक्टर से संपर्क करें- मलेरिया में कंपकंपी के साथ-साथ तेज बुखार होता है। ऐसे में लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा कई ऐसे घरेलू नुस्खें भी हैं, जैसे तुलसी की पत्तियों को चबाना या फिर खट्टे फलों का सेवन करना। इससे आपको काफी फायदा मिलेगा।

मच्छरों से बचने के लिए सिंट्रोनेला तेल युक्त क्रीम लगाएं- मच्छरों से बचने के लिए फुल आस्तीन के कपड़े पहने। साथ ही हाथ पैरों में सिंट्रोनेला तेल वाली क्रीम लगाएं, इससे मच्छर नहीं काटेंगे। इसके अलावा मार्केट में कई तरह के क्रीम उपलब्ध हैं, अगर आप चाहे तो इसका प्रयोग कर सकते हैं। वहीं सिंट्रोनेला युक्त तेल पानी में मिलाकर घर पर पोछा भी लगा सकते हैं।

गहरे नहीं हल्के रंग के कपड़ें पहनें- अगर आप बाहर निकल रहे हैं तो हल्के रंग के कपड़े, इससे मच्छर आसपास नहीं भटकेंगे। वहीं गहरे रंग के कपड़े पहनने से मच्छर आपके पास जल्दी पहुंचते हैं। कोशिश करें कि मानसून के वक्त हल्के रंग और फुल आस्तीन वाले कपड़े पहने।

अगली खबर