Happy Independence Day 2022 Hindi Shayari, Wishes: आजादी के रंगों से लबरेज शायरियां, स्वतंत्रता दिवस पर अपनों को भेजकर दें बधाई

Happy Independence Day 2022 Wishes Hindi Shayari, Images, Messages: 15 अगस्त का दिन इस बार खास होगा क्योंकि इस दिन को अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जाएगा। इस मौके पर आप आप इन शानदार शायरियों के जरिए आजादी दिवस की मुबारकबाद दे सकते हैं।

Independence Day, Independence Day 2022, happy Independence Day, happy Independence Day, Independence Day shayari in hindi, Independence Day wishes shayari in hindi, happy Independence Day shayari in hindi, happy Independence Day shayari in hindi
Happy Independence Day 2022 Hindi Shayari, Wishes, आजादी दिवस की शायरी 
मुख्य बातें
  • 1947 के बाद से हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।
  • इस दिन पूरा देश देशभक्ति में डूबे नजर आता है।
  • इस बार देश आजादी का अमृत महोत्सव मनाने जा रहा है।

Happy Independence Day 2022 Wishes Hindi Shayari, Images, Messages: 15 अगस्त का दिन इस बार बेहद खास है। क्योंकि आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। इस मौके पर देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। स्वतंत्रता दिवस के दिन आजादी के सेनानियों को याद किया जाता है और जगह-जगह झंडा फहराया जाता है। 

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लोग कविताओं, नारों, भाषणों से एक-दूसरे में देशभक्ति का जोश भरते हैं और मुबारकबाद देते हैं। तो इस साल आप भी अलग अंदाज में 15 अगस्त को करें सेलिब्रेट और इन मैसेज, कोट्स, दोहो, नारों, शायरी के जरिए लोगों में भरें देशभक्ति का जोश। आप इन शानदार शायरियों के जरिए अपनों को शानदार तरीके से मुबारकबाद दे सकते हैं।

Independence Day Speech 2022 LIVE Updates: पीएम बोले- सैल्यूट, सैल्यूट.. मेरे सेना के अधिकारियों, जवानों को सैल्यूट

मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूं,
यहां की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूं,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफन मेरा, बस यही अरमान रखता हूं।

जमाने में मिलते हैं आशिक कई, जमाने में मिलते हैं आशिक कई
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता
नोटों में लिपट कर सोने में सिमटकर नोटों में लिपट कर सोने में सिमटकर मरे हैं कई
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता

 मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूं
यहां की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूं
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूं।

काश मेरी जिंदगी मे सरहद की कोइ शाम आए
मेरी जिंदगी मेरे वतन के काम आए
ना खौफ है मौत का ना आरजू है जन्नत की
लेकीन जब कभी जिक्र हो शहीदों का
काश मेरा भी नाम आए, काश मेरा भी नाम आए।।

कुछ नशा तिरंगे की आन का है
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा
नशा ये हिन्दुस्तान की शान का है।

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे
बची हो जो एक बूंद भी लहू की
तब तक भारत माता का आंचल नीलाम नहीं होने देंगे।।

खुशनसीब है वो जो वतन पर मिट जाते हैं
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं
करता हूं उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों
तुम्हारी हर सांस में तिरंगे का नसीब बसता है।

इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने
ऐसे तिरंगे को दिल में हमेशा बसाए रखना।

ना जियो धर्मं के नाम पर
ना मरो धर्मं के नाम पर
इंसानियत ही है धर्मं वतन का बस जियो वतन के नाम पर।

हम आजाद हैं, ये आजादी कभी छिनने नहीं देंगे
तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नहीं देंगे
कोई आंख भी उठाएगा जो हिंदुस्तान की तरफ
उन आंखों को फिर दुनिया देखने नहीं देंगे।।

 ये बात हवाओं को बताए रखना
रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमनें की
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाए रखना।।

 न रंग का नही वस्त्र, ये ध्वज देश की शान है
हर भारतीय के दिलों का स्वाभिमान है
यही है गंगा, यही है हिमालय, यही हिन्द की जान है
और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान है।

 चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में है
इंकलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में है
मौत जहां जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैॉ
कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में है।

 ना सरकार मेरी है ना रौब मेरा है
ना बड़ा सा नाम मेरा है
मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है
मै हिन्दुस्तान का हूं और हिन्दुस्तान मेरा है।।

 गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा
चमक रहा आसमान में देश का सितारा
आजादी के दिन आओ मिलकर करें दुआ
बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा।

रिश्ता हमारा ऐसे ना तोड़ पाए को
दिल हमारे एक है एक है हमारी जान
हिन्दुस्तान हमारा है हम है इसकी शान
जान लूटा देंगे वतन पे हो जाएँगे क़ुरबान
इसलिए हम कहते है मेरा देश महान

  इश्क तो करता हैं हर कोई
मेहबूब पे मरता हैं हर कोई
कभी वतन को मेहबूब बना कर देखो
तुझ पे मरेगा हर कोई

 पूछो जमाने में हमारी क्या कहानी है,
हमारी तो बस पहचान ये कि हम हिंदुस्तानी हैं

 
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर