Independence Day Poem 2022: इन कविताओं को सुनकर मनाएं स्वाधीनता का जश्न, जोश से लबरेज और आजादी के रंगों से है सराबोर

Independence Day Poem in Hindi 2022: साल 2022 में देश 76वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। इस मौके पर आप देशभक्ति से ओतप्रोत इन कविताओं का किसी भाषण के दौरान पाठ कर सकते है और बतौर शुभकामना संदेश भी भेज सकते है।

 Independence Day, Independence Day 2022, Independence Day poem, Independence Day hindi poem, Independence Day poem in hindi, Independence Day kavita in hindi, Independence Day kavita hindi, Independence Day hindi poem, Independence Day hindi speech
Independence Day Poem in Hindi ,आजादी दिवस की कविताएं  
मुख्य बातें
  • 1947 के बाद से हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।
  • देश इस बार 15 अगस्त को आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है।
  • आप इस मौके पर कविताओं के जरिए भी शुभकामना भेज सकते हैं।

Independence Day Poem in Hindi 2022: देश इस बार आजादी का अमृत महोत्वस मना रहा है। साल 2022 का स्वतंत्रता दिवस काफी खास है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर स्कूलों, कॉलेज और संस्थानों में तिरंगा फहराया जाएगा साथ ही कई जगह रंगारंग कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाएगा। 15 अगस्त को हर साल देश आजादी का जश्न मनाता है।

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लोग कविताओं, नारों, भाषणों से एक-दूसरे में देशभक्ति का जोश भरते हैं और मुबारकबाद देते हैं। तो इस साल आप भी अलग अंदाज में 15 अगस्त को करें सेलिब्रेट और इन कविताओं के जरिए देशभक्ति का जोश भरें। हम आपके लिए लेकर आए हैं  देशभक्ति से भरी कविताएं, जिन्हें भेजकर आप स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं भेज सकते हैं। 

 
हरी भरी धरती हो
नीला आसमान रहे
फहराता तिरँगा,
चाँद तारों के समान रहे।
त्याग शूर वीरता
महानता का मंत्र है
मेरा यह देश

शांति अमन चैन रहे,
खुशहाली छाये
बच्चों को बूढों को
सबको हर्षाये

हम सबके चेहरो पर
फैली मुस्कान रहे
फहराता तिरँगा चाँद
तारों के समान रहे।

प्यारा प्यारा मेरा देश,
सजा -संवारा मेरा देश॥
दुनिया जिस पर गर्व करे,
नयन सितारा मेरा देश॥
चांदी -सोना मेरा देश,
सफ़ल सलोना मेरा देश॥
सुख का कोना मेरा देश,
फूलों वाला मेरा देश॥
झुलों वाला मेरा देश,
गंगा यमुना की माला का मेरा देश॥
फूलोँ वाला मेरा देश
आगे जाए मेरा देश॥
नित नए मुस्काएं मेरा देश
इतिहासों में नाम लिखायें मेरा देश॥

तिरंगा शान से लहराता,
शुभाशीष दे भारतमाता,
जोश से सीने लगे है फूलने,
कदम लगे है आगे चलने,
अपनों से ले रहे बिदाई,
माँ की छाती है भर आई,
शहीद हो पर ना पीठ दिखाना,
भारत माँ की लाज बचाना,
हुक्म यहाँ की माँ है करती,
बेटे की कुर्बानी से नहीं डरती,
दोनों ही करते है कुर्बान,
माँ ममता को,जान को जवान,
इसीलिए तो है “मेरा भारत महान”
सबका प्यारा हिन्दुस्तान!

भारत मेरा प्यारा देश,
सब देशो से न्यारा देश|
भारत मेरा प्यारा देश,
सब देशो से न्यारा देश|
हिन्दू-मुस्लिम भाई-भाई
मिलकर रहते सिख-ईसाई|
हिन्दू-मुस्लिम भाई-भाई
मिलकर रहते सिख-ईसाई|
इसकी धरती उगले सोना,
ऊँचा हिमगिरी बड़ा सलोना|
इसकी धरती उगले सोना,
ऊँचा हिमगिरी बड़ा सलोना|
सागर धोता इसके पाँव,
हैं इसके अलबेले गाँव|
सागर धोता इसके पाँव,
हैं इसके अलबेले गाँव|
भारत मेरा प्यारा देश,
सब देशो से न्यारा देश|

नन्हे–नन्हे प्यारे—प्यारे, गुलशन को महकाने वाले
सितारे जमीन पर लाने वाले, हम बच्चे है हिंदुस्तान के
नए जमाने के दिलवाले, तूफ़ानो से ना डरने वाली
कहलाते हैं हिम्मत वाले, हम बच्चे है हिंदुस्तान के
चलते है हम शान से, बचाते हैं हम द्वेष से
आन पे हो जाएँ कुर्बान, हम बच्चे है हिंदुस्तान के।

हो रहा युग परिवर्तन, उदय हो रहे नव भास्कर मेरे देश में,
मेरे देश की शक्ति युगों से निहीत, प्रगाढ़ सकती है मेरे देश में।
कोई भी देश ना करें यह गलती,की भारत की शक्ति में दम नहीं,
बहुत रण फतेह की है मेरे देश ने, मेरा देश किसी से कम नहीं।।

महाभारत जैसे भयंकर युद्धों का इतिहास है मेरे देश में,
भारती पुत्र अर्जुन जैसे सपूत, रण कौशल है मेरे देश में ।
श्री कृष्ण का अनुसरण करते, यहां शान्ति  भी कोई कम नहीं,
रण कौशलता का तो हम पाठ पढ़ाते, मेरा देश किसी से कम नहीं ।।

वर्षों से शौर्य गाथा का गुणगान है मेरे देश में,
गाएं दसों दिशाएं शौर्य की गाथा, ऐसा कौशल मेरे देश में।
सहन नहीं ऐसी ललकार, जो सोचे भारत शौर्य में दम नहीं,
देशभक्त हर घर में है यहां, मेरा देश किसी से कम नहीं ।।
आओ तिरंगा लहराएं, आओ तिरंगा फहराएं,

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर