हैंड सैनिटाइजर के ज्यादा इस्तेमाल से हो सकता है त्वचा को नुकसान, जरूर जान लें ये बातें

Hand Sanitizer: हैंड सैनिटाइजर भले ही कीटाणुओं को साफ करता हो लेकिन इसके ज्यादा प्रयोग हमारे शरीर को नुकसान पहुंचता है। हैंड सैनिटाइजर के बार-बार प्रयोग से बेहतर है कि अगर आपके आसपास साबुन पानी मौजूद है तो आप उससे हाथ धो लें।

Hand Sanitizer
ज्यादा न करें हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल  |  तस्वीर साभार: Instagram
मुख्य बातें
  • हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा प्रयोग आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है
  • हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल से बेहतर है कि आप साबुन से हाथ धोएं
  • हैंड सैनिटाइजर बनाने में बेंजाल्कोनियम क्लोराइड जैसे केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है

Hand Sanitizer Disadvantages: देश में कोरोना महामारी के बीच लोगों को हैंड सैनिटाइजर इस्तेमाल करने की सलाह दी गई। यह अच्छी बात है कि लोग अपनी सुरक्षा के लिए हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन हैंड सैनिटाइजर का अत्यधिक उपयोग करना नुकसानदायक भी हो सकता है। भले ही हैंड सैनिटाइजर कीटाणुओं को हमारे हाथों से निकाल देता है लेकिन कुछ लोगों को बार-बार हाथ धोने की आदत सी होती है। ऐसे लोगों को हर काम में हाथ धोने की आदत होती है और ऐसे में वे बार-बार हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करते हैं। 

हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा प्रयोग आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है और आपके स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक हो सकता है। इसलिए हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल से बेहतर है कि आप साबुन से हाथ धोएं। आइए जानते हैं हैंड सैनिटाइजर के अत्यधिक इस्तेमाल से क्या समस्या हो सकती हैं। हैंड सैनिटाइजर में ट्राइक्लोसान नाम का एक केमिकल होता है, जो हाथ की स्किन सोख लेती हैं। इसके ज्यादा इस्तेमाल से यह केमिकल आपकी त्वचा से होते हुए आपके रक्त में मिल जाता है। रक्त में मिलने के बाद आपकी मांसपेशियों में ऑर्डिनेशन को नुकसान पहुंचता है।

Also Read: मकड़ी के जालों से परेशान, इन घरेलू उपायों से मकड़ी भूल जाएगी आपके घर का रास्ता

हैंड सैनिटाइजर में मिला रहता है कई केमिकल्स

इसके साथ ही हैंड सैनिटाइजर बनाने में बेंजाल्कोनियम क्लोराइड जैसे केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें बेंजाल्कोनियम क्लोराइड की खूबी ये है कि हाथ की त्वचा पर मौजूद कीटाणुओं को लगभग पूरी तरह मार देता है, लेकिन इसके अधिक इस्तेमाल से एलर्जी, खुजली या जलन जैसी शिकायत भी हो सकती है। खासकर उन लोगों को, जिनकी त्वचा बेहद ही संवेदनशील है। 

लिवर और किडनी में भी हो सकता है इफेक्ट

हैंड सैनिटाइजर को सुगंधित बनाने के लिए फैथलेट्स जैसे केमिकल्स का उपयोग किया जाता है। इस केमिकल के अधिक इस्तेमाल से लिवर और किडनी पर नकारात्मक असर पड़ता है। ऐसे में यह उन लोगों को दिक्कत दे सकता है, जो पहले से ही पेट या पाचन से जुड़ी बीमारियों से परेशान हैं। 

डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। क‍िसी भी तरह के ब्‍यूटी रुटीन से पहले एक्‍सपर्ट की सलाह जरूर लें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर