गहलोत के भाई के ठिकानों पर ED की छापेमारी, कस्टम विभाग पहले ही लगा चुका है 7 करोड़ का जुर्माना

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबियों पर शिकंजा और कसता जा रहा। एक घोटाले के संबंध में आज जोधपुर स्थित गहलोत के भाई के ठिकानों पर ईडी ने छापेमारी की।

Rajasthan ED conducting raid at Anupam Krishi in Jodhpur, it is owned by Agrasen Gehlot brother of Ashok Gehlot
जोधपुर: अशोक गहलोत के भाई के ठिकानों पर ED की छापेमारी 

मुख्य बातें

  • उर्वरक घोटाले से जुड़े धन शोधन के मामले में बढ़ी गहलोत के भाई की मुश्किलें
  • मुख्यमंत्री के भाई के परिसरों तथा देश में कई अन्य स्थानों पर छापे मारे
  • छापेमारी पर बोली कांग्रेस- पीएम के रेडराज से नहीं डरेंगे

जयपुर: राजस्थान में जहां एक तरफ सियासी संकट चल रहा है वहीं दूसरी तरफ प्रवर्तन निदेशालय (ई़डी) की कार्रवाई जारी है। अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत की कंपनी अनुपम कृषि (जोधपुर) में ईडी ने छापा मारा है। इसके अलावा अन्य जगहों पर भी छापेमारी जारी है। कस्टम डिपार्टमेंट पहले ही इस कंपनी पर 7 करोड़ का जुर्माना लगा चुका है। इस छापेमारी पर कांग्रेस की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई है। कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश में 'रेडराज' पैदा किया, परंतु हम डरेंगे नहीं।

ये है आरोप

ईडी ने राजस्थान ही नहीं बल्कि पश्चिम गुजरात में चार जगहों और दिल्ली में एक तथा  बंगाल में दो जगहों जगह पर छापेमारी की है। कुछ दिन पहले ही गहलोत की भाई की कंपनी का नाम इस घोटाले में आया था। गहलोत की भाई की कंपनी पर आरोप है कि उसने रियायती दर पर खरीदे गए उर्वरकों को मलेशिया तथा वियतनाम को बेचा। इस घोटाले को कथित रूप से 150 करोड़ रुपये का बताया जा रहा है।

सरकार पर बरसी कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'जब मोदी जी और उनकी सरकार के सारे हथकंडे फेल हो गए, जब मोदी सरकार जनमत का अपहरण करने में नाकामयाब हो गई तो आज बौखलाई हुई केंद्रीय भाजपा सरकार ने मुख्यमंत्री जी के बड़े भाई अग्रसेन गहलोत के घर पर सुबह से ही ED को भेज कर छापेमारी शुरू कर रखी है। मोदी जी और उनकी सरकार की रणनीति विफल होने के बाद, उन्होंने विधायक कृष्णा पूनिया के स्थान पर छापेमारी करने के लिए एक सीबीआई टीम भेजी, जिसने खेल के क्षेत्र में भी देश में बेहतरीन योगदान दिया है। यह विधायकों पर दबाव बनाने का एक तरीका था।'

अगली खबर