Namaz Room: झारखंड विधानसभा में नमाज रूम अलॉट करने पर घमासान,BJP विधायकों ने किया कीर्तन [VIDEO]

देश
रवि वैश्य
Updated Sep 06, 2021 | 13:20 IST

Jharkhand BJP MLAs performed kirtan: झारखण्ड विधानसभा में नमाज के लिए अलग से कमरा देने को लेकर बीजेपी तीव्र विरोध कर रही है, इसी क्रम में विधायकों ने वहां पर भजन-कीर्तन किया।

BJP MLA Jharkhand
बीजेपी विधायकों ने सदन के बाहर कीर्तन किया 

झारखण्ड विधानसभा में नमाज़ के लिए अलग नमाज़ रूम अलॉट करने को लेकर वहां की राजनीति गर्मा गई है और हेमंत सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने सरकार के खिलाफ आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है।बवाल शुरू तब हुआ जब झारखण्ड में नमाज़ के लिए अलग नमाज़ रूम अलॉट करने की बात की गई, आज उसी क्रम में BJP विधायकों ने अपना विरोध दर्ज कराते हुए विधानसभा भवन में कीर्तन शुरू कर दिया और जय श्री राम के नारे लगाए।

आज मानसून सत्र की कार्यवाही शुरू होने से पहले बीजेपी विधायकों ने सदन के बाहर कीर्तन किया हरे-राम, हरे कृष्णा भजन गाते हुए बीजेपी विधायकों ने नमाज के लिए आवंटित कमरे को रद करने की मांग की।

गौर हो कि झारखंड सरकार ने विधानसभा में नमाज अदा करने के लिए अलग से कमरा अलॉट किया है। इस संबंध में शुक्रवार को विधानसभा अध्यक्ष की ओर से आदेश जारी कर दिया गया है।

सरकार के इस फैसले के बाद विवाद बढ़ गया है

झारखंड विधानसभा अध्यक्ष ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि मुस्लिम विधायकों के लिए विधानसभा में  नमाज़ अदा करने के लिए अलग से जगह अलॉट किया जाएगा। सरकार के इस फैसले के बाद विवाद बढ़ गया है और बीजेपी ने इसका विरोध करते हुए  सरकार को निशाने पर ले लिया है। इस बात पर BJP ने विरोध जताते हुए कहा है कि हर धर्म के लोगों के लिए उपासना कक्ष होना चाहिए।

... तो हिंदू धर्मावलंबी हनुमान चालीसा क्यों ना पढ़ें

भाजपा नेता विरंची दास ने कहा, 'सरकार ने एक फैसला लिया है जिसके तहत विधानसभा में एक कमरा अलॉट किया गया है, जहां मुस्लिम समाज के लोग नमाज अदा कर सकते हैं। तो जब मुस्लिम समाज नमाज अदा कर सकते हैं तो हिंदू धर्मावलंबी हनुमान चालीसा क्यों ना पढ़ें। मैं माननीय विधानसभा अध्यक्ष से आग्रह करता हूं कि जिस तरह आपने मुस्लिम समुदाय के लिए नमाज अदा करने हेतु कमरा अलॉट किया है उसी तरह कम से कम पांच कमरे का अलॉटमेंट या एक हॉल का अलॉटमेंट हमारे लिए भी हनुमान चालीसा के लिए करें, क्योंकि संख्याबल में तो हम ज्यादा है।'

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर