Mumbai: पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की मुश्किलें बढ़ीं, CID करेगी वसूली मामले की जांच

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की मुश्किलें लगातार बढ़ रही हैं। बिल्डर केतन तन्ना की शिकायत पर ठाणे नगर थाने में पिछले हफ्ते उनके खिलाफ वसूली का मामला दर्ज किया गया था।

Police start process of lookout notice against Param Bir Singh in Extortion case
Mumbai: पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की मुश्किलें बढ़ीं 

मुख्य बातें

  • ठाणे पुलिस ने मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ शुरू की जांच
  • ठाणे में में पिछले हफ्ते सिंह और अन्य के खिलाफ दर्ज किया गया था मामला
  • सिंह ने राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए थे भ्रष्टाचार के आरोप

ठाणे: मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की मश्किलें बढ़ गई हैं। महाराष्ट्र की ठाणे पुलिस ने परमबीर सिंह द्वारा अवैध वसूली की जांच का फैसला किया है। एक बिल्डर की शिकायत पर परमबीर सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। ठाणे पुलिस ने इसके लिए SIT का गठन कर लिया है। आईपीएस परमबीर सिंह के खिलाफ बिल्डर केतन तन्ना ने पिछले हफ्ते ठाणे नगर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज कराया है। इस केस में अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

परमबीर पर पैसे ऐंठने का आरोप

एफआईआर में परमबीर सिंह के अलावा  डीसीपी दीपक देवराज, ACP प्रदीप शर्मा, इंस्पेक्टर राजकुमार कोथमिरे, जेल में बंद गैंगस्टर रवि पुजारी और ठाणे के एक पत्रकार के नाम हैं। एफआईआर में बिल्डर तन्ना ने आरोप लगाया है कि परमबीर सिंह जब ठाणे के पुलिस आयुक्त थे, तब जनवरी 2018 से फरवरी 2019 के बीच आरोपियों ने उन्हें एंटी एक्सटॉर्शन सेल में तलब कर गंभीर आपराधिक मामलों में फंसाने को लेकर धमकाया और उनसे 1.25 करोड़ रुपये ऐंठ लिए। 

CID कर रही है जांच

इस मामले के अलावा महाराष्ट्र आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) सट्टे के बुकी सोनू जालान द्वारा सिंह के खिलाफ लगाए गए कथित फिरौती के आरोपों की जांच की जा रही है।  पहले से ही सिंह के खिलाफ सट्टेबाज सोनू जालान द्वारा कथित जबरन वसूली के संबंध में दर्ज कराई गई एक और शिकायत की जांच कर रहा है।

गंवानी पड़ी थी गृह मंत्री को कुर्सी

आपको बता दें कि दक्षिण मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के पास संदिग्ध अवस्था में एक एसयूवी मिलने के बाद परमबीर सिंह को मुंबई पुलिस प्रमुख पद से हटा दिया गया था। भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी सिंह ने तत्कालीन गृह मंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। उनके द्वारा लगाए गए आरोपों के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में खलबली मच गई थी जिसके बाद अनिल देशमुख को गृह मंत्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा था। बाद में परमबीर सिंह ने भी इस्तीफा दे दिया था।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर