Srinagar Killings : शिक्षकों की हत्या के खिलाफ जम्मू से श्रीनगर तक आक्रोश, लोग बोले-हम नहीं, आतंकवाद खत्म होगा  

Sikh Community protests in Jammu and Srinagar : जम्मू में सिख समुदाय के लोगों की नाराजगी देखने को मिली। यहां लोग 'हमें न्याय चाहिए' के नारे लगाते हुए दिखे। रैली में शामिल लोगों ने श्रीनगर में आतंकी घटनाओं के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया।

 Kashmir Killings: Sikh community protests in Srinagar and Jammu, demands justice
श्रीनगर में गुरुवार को आतंकियों ने महिला प्रिंसिपल, शिक्षक को गोली मारी। 

मुख्य बातें

  • गुरुवार को श्रीनगर के एक स्कूल में आतंकियों ने प्रिंसिपल और शिक्षक की हत्या की
  • इन हत्याओं के खिलाफ लोगों में भारी गुस्सा, जम्मू-श्रीनगर में सिख समुदाय का प्रदर्शन
  • जम्मू-कश्मीर में सद्भाव बिगाड़ने के लिए 'टार्गेटेड किलिंग' करने लगे हैं आतंकवादी संगठन

श्रीनगर : गुरुवार को श्रीनगर के एक स्कूल में एक महिला प्रिंसिपल और एक शिक्षक की हत्या के खिलाफ लोगों में काफी नाराजगी देखी जा रही है। इन हत्याओं के खिलाफ जम्मू से श्रीनगर तक सिख समुदाय के लोगों सड़कों पर निकले और पाकिस्तान के खिलाफ अपनी आक्रोश जाहिर किया। श्रीनगर में सिख समुदाय के लोग महिला प्रिंसिपल सुपिंदर कौर के पार्थिव शरीर के साथ मार्च किया। इस दौरान नाराज लोगों ने कहा कि वे चाहते हैं कि इस घटना की निंदा सभी समुदाय के लोग करें। सिख समुदाय के लोगों ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग की। 

जम्मू-श्रीनगर में सड़कों पर सिख समुदाय

जम्मू में भी सिख समुदाय के लोगों की नाराजगी देखने को मिली। यहां लोग 'हमें न्याय चाहिए' के नारे लगाते हुए दिखे। रैली में शामिल लोगों ने श्रीनगर में आतंकी घटनाओं के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया। प्रदर्शन में शामिल एक महिला ने कहा कि हुर्रियत के नेता गिलानी की मौत होने पर पाकिस्तान से लेकर घाटी के लोग बयान देते हैं लेकिन निर्दोष लोगों के मारे जाने पर सभी लोगों ने चुप्पी साध रखी है। आतंकवादियों को इस हिंसा का जवाब देना होगा। एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि इन हत्याओं से हम डरने वाले नहीं हैं। हम नहीं यहां से आतंकवाद खत्म होगा।      

मानवधिकार संगठनों की चुप्पी पर उठाए सवाल

लोगों ने सिविल सोसोयटी और मानवाधिकार संगठनों की चुप्पी पर सवाल उठाए। लोगों ने कहा कि आतंकवादियों के मारे जाने पर ये लोग वैश्विक मंचों पर मानवाधिकारों की दुहाई देते हैं लेकिन यहां परिवार मारे जा रहे हैं लेकिन घाटी के नेता पीड़ितों के प्रति न तो संवेदना जता रहे हैं और न ही एकजुटता दिखा रहे हैं। श्रीनगर में शुक्रवार को प्रिंसिपल कौर के समर्थन में एकजुटता मार्च आयोजित किया गया। लोगों ने उनका पार्थिव शरीर को लेकर मार्च किया। लोगों ने कहा कि वे चाहते हैं कि इस तरह की घटनाओं की निंदा सभी समाज के लोग करें। सिख समुदाय के लोगों ने कहा कि उन्हें न्याय चाहिए। 

गुरुवार को स्कूल की प्रिंसिपल, शिक्षक की हुई हत्या

श्रीनगर के संगम ईदगाह ब्वॉएज हायर सेकेंड्री स्कूल में आतंकियों ने गुरुवार को स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और शिक्षक दीपक चांद की गोली मारकर हत्या कर दी। इस स्कूल में सुबह करीब 10.30 बजे तीन आतंकवादी पिस्टल के साथ दाखिल हुए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि आतंकवादियों ने स्कूल स्टॉफ से पूछकर यह पहले सुनिश्चित किया कि वहां कश्मीरी मुस्लिम के अलावा अन्य किस समुदाय के शिक्षक हैं। रिपोर्ट के मुताबिक प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दोनों को पकड़कर इमारत से बाहर लाया गया और परिसर छोड़ने से पहले आतंकवादियों ने प्रिंसिपल और शिक्षक दोनों को कई बार गोली मारी। गोली लगने पर चांद की मौत तत्काल हो गई जबकि कौर ने अस्पताल जाते समय दम तोड़ दिया। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर