पकड़ा गया चीन का झूठ, गलवान घाटी में मुस्तैद हैं भारतीय जवान, सेना ने जारी की तस्वीरें   

Indian army in Galwan valley : रक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि चीन की इस करतूत के पीछे उसकी बौखलाहट है। गलवान घाटी में पिटने एवं वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत की ओर से जवाबी तैयारी से वह बौखलाया हुआ है।

Indian Army soldiers in Galwan Valley China's claim exposed
गलवान घाटी में मौजूद हैं भारतीय सैनिक।  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • गलवान घाटी में अपनी सेना की मौजूदगी बताने वाला चीन ने जारी किया है प्रोपगैंडा वीडियो
  • चीन के झूठ का पर्दाफाश हो गया है, भारत की तरफ से गलवान घाटी की ताजा तस्वीरें जारी की गई हैं
  • गलवान घाटी में मुस्तैद हैं भारत के जवान, नए साल के जश्न की तस्वीरें सामने आईं

नई दिल्ली : गलवान घाटी पर चीन का झूठ एक बार फिर पकड़ा गया है। दरअसल, चीन की ओर से गलवान घाटी में अपने सैनिकों द्वारा झंडा फहराए जाने का एक वीडियो जारी किया गया है। चीन ने इस वीडियो के जरिए यह जताने की कोशिश है कि गलवान घाटी में पीएलए की मौजूदगी है लेकिन असलियत कुछ और सामने आई है। भारतीय सेना ने उसके इस झूठ वाली तस्वीर की पोल खोल दी है। उसके प्रोपगैंडा का पर्दाफाश हो गया है। भारतीय रक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों की ओर से गलवान घाटी में मौजूद जवानों की दो तस्वीरें शेयर की गई हैं। ये तस्वीरें नए साल 2022 की हैं। गलवान घाटी में तैनात भारतीय जवानों की ये तस्वीरें उन नेताओं को जवाब हैं जो तथ्यों का जानकारी जुटाए बिना चीन के झांसे में आ जाते हैं।  

गलवान घाटी में भारतीय जवान तैनात
भारतीय जवान पूरी मुस्तैदी के साथ गलवान घाटी में तैनात हैं। चीन की ओर से झंडे वाली तस्वीर सामने आने के बाद विपक्ष सरकार पर हमलावर हो गया। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस बारे में चुप्पी तोड़ने के लिए कहा। अपने एक ट्वीट में राहुल ने कहा, 'गलवान पर हमारा तिरंगा ही अच्छा लगता है, चीन को जवाब देना होगा, मोदी जी चुप्पी तोड़ो।' कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि यह चीन का प्रोपगैंडा है, उसके झांसे में नहीं आना चाहिए। 

2022 में क्या चाहता है चीन, जानें गलवान प्रोपेगेंडा, नया सीमा कानून,अरूणाचल में नाम बदलने के पीछे की नीयत

भारती की जवाबी तैयारी से बौखलाहट में है चीन  
रक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि चीन की इस करतूत के पीछे उसकी बौखलाहट है। गलवान घाटी में पिटने एवं वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत की ओर से जवाबी तैयारी से वह बौखलाया हुआ है। वह अपने सैनिकों का मनोबल ऊंचा रखने के लिए इस तरह के हथकंडे अपनाता आया है। सीधी लड़ाई उसके बस की बात नहीं है। वह साइबर, साइकोलॉजिकल वॉरफेयर, प्रोपगैंडा के जरिए अपना झूठ गढ़ता रहता है।

चीन ने पूर्वी लद्दाख में LAC पर किया  60,000 सैनिकों का जमावड़ा, भारतीय सेना भी अलर्ट पर

गलवान में अपने सैनिकों द्वारा झंडा फहराने की जो तस्वीर चीन ने जारी की है, वह गलवान के पीछे करीब दो किलोमीटर पीछे का इलाका है। सीमा पर भारत की जवाबी तैयारी देखकर वह भ्रम फैलाने के लिए कुचक्र रचता रहता है। भारतीय सेना उसकी फितरत से वाकिफ है और उसके झांसे में नहीं आने वाली। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर