कल शाह से, आज NSA डोभाल से मिले कैप्टन अमरिंदर, PM मोदी से भी हो सकती है मुलाकात

Captain Amrinder meets Ajit Doval : एनएसए डोभाल से कैप्टन की मुलाकात के बारे में कहा जा रहा है कि पूर्व सीएम ने पंजाब के मौजूदा सियासी हालात की जानकारी एनएसए को दी है।

Captain Amrinder Singh meets NSA Ajit Doval, may join BJP
कैप्टन अमरिंदर के भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज।  |  तस्वीर साभार: PTI
मुख्य बातें
  • कल दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले कैप्टन अमरिंदर सिंह
  • समझा जाता है कि डोभाल से मिलकर पंजाब के हालात की जानकारी दी है
  • कैप्टन ने पीएम मोदी से भी मिलने के लिए समय मांगा है, BJP में जाने की अटकलें

नई दिल्ली : कैप्टन अमरिंदर सिंह दिल्ली में मौजूद हैं। गुरुवार को उनकी मुलाकात राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल से हुई। सूत्रों का कहना है कि कैप्टन की मुलाकात आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के बड़े नेताओं से हो सकती है। सूत्रों यह भी बताते हैं कि कृषि कानूनों पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक विधेयक तैयार किया है। बताया जा रहा है कि इस कृषि विधेयक पर भाजपा के साथ अगर उनकी बात बन जाती है तो वह भाजपा के साथ आ सकते हैं। उधर, कैप्टन पर कांग्रेस बड़ा फैसला कर सकती है। कैप्टन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात का समय मांगा है। 

पंजाब के सियासी हालात की दी जानकारी

दूसरा, एनएसए डोभाल से कैप्टन की मुलाकात के बारे में कहा जा रहा है कि पूर्व सीएम ने पंजाब के मौजूदा सियासी हालात की जानकारी एनएसए को दी है। वह पहले भी कह चुके हैं कि पंजाब सरहदी राज्य है और यह संवेदनशील प्रदेश है। कैप्टन, नवजोत सिंह को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए ठीक नहीं मानते। अमरिंदर सिंह ने कहा है कि सिद्धू के संबंध पाकिस्तान में ऐसे कुछ लोगों से हैं जो भारत विरोधी रुख रखते हैं। कैप्टन को राष्ट्रवादी व्यक्ति माना जाता है। उन्होंने सिद्धू की बाजवा के साथ मुलाकात का विरोध किया और पाकिस्तान पर 'सर्जिकल स्ट्राइक' का समर्थन किया। 

कैप्टन पर बड़ा फैसला कर सकती है कांग्रेस

कैप्टन का आगे का रुख क्या होगा, इस पर सभी की नजरें लगी हैं। कांग्रेस ने कैप्टन को दोबारा पार्टी में लाने की कोशिश की। इसकी जिम्मेदारी कमलनाथ और अंबिका सोनी को दी गई थी लेकिन अब यह बात सामने आई है कि राहुल गांधी ने पार्टी नेता केसी वेणुगोपाल को कैप्टन अमरिंदर सिंह पर बड़ा फैसला करने के लिए कहा है। सूत्र यह भी बताते हैं कि अमरिंदर सिंह को कांग्रेस से निकाला भी जा सकता है। पंजाब में अगले साल विस चुनाव होने हैं। कृषि कानूनों पर सरकार बैकपुट पर है। सरकार चाहती है कि किसानों के साथ सुलह हो जाए और वे अपना प्रदर्शन वापस ले लें। कैप्टन यदि किसानों के साथ बीच का रास्ता निकाल लेते हैं तो सरकार के लिए राहत वाली बात होगी। उसे पंजाब में कैप्टन के रूप में एक बड़ा चेहरा मिल सकता है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर