कोरोना वायरस का डर: महिला ने कुएं में कूदकर की खुदकुशी, छोड़ा सुसाइड नोट

देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इसका डर लोगों में समा गया है। महाराष्ट्र में एक महिला ने संक्रमित होने के डर से खुदकुशी कर ली। 

Coronavirus Fear: woman commits suicide by jumping into a well, leaves suicide note, Ahmednagar, Maharashtra
कोरोना वायरस से संक्रमित होने के डर से महिला ने खुदकुशी की 

मुख्य बातें

  • कोरोना वायरस से संक्रमित होने के डर से महिला ने खुदकुशी की
  • इससे पहले दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में एक व्यक्ति ने छत से कूदकर खुदकुशी कर ली थी
  • महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 106 तक पहुंच गई है

अहमदनगर: बुधवार को महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 106 तक पहुंच गई। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इस संख्या की पुष्टि की। सोमवार को मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में 65 वर्षीय कोरोना वायरस मरीज का निधन हो गया। देश भर में जहां कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीं नागरिकों में डर और दहशत भी बढ़ते जा रहे हैं। इसका एक उदाहरण बुधवार को सामने आया जब महाराष्ट्र के अहमदनगर में एक बुजुर्ग महिला ने कोरोन वायरस से संक्रमित होने के डर से कथित तौर पर कुएं में कूदकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। पुलिस के मुताबिक 50 वर्षीय महिला ने शनिवार को अपने घर के पास स्थित एक कुएं में छलांग लगा दी। जब पुलिस जांच कर रही थी, तब मृतक के बेटे ने उन्हें एक सुसाइड नोट सौंपा। इससे पहले दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में एक व्यक्ति ने खुदकुशी कर ली थी।

कोरोनो वायरस की मरीज नहीं थी महिला- पुलिस
सुसाइड नोट में कोरोना वायरस के डर को खुदकुशी का कारण बताया गया है। हालांकि, पुलिस ने पुष्टि नहीं की है कि मृतक द्वारा सुसाइड नोट लिखा गया था या नहीं। सुसाइड नोट की सत्यता की जांच के लिए सुसाइड नोट को एक हस्तलेख विशेषज्ञ को भेजा जाएगा। पुलिस जांच में सामने आया है कि बुजुर्ग महिला कोरोनो वायरस की मरीज नहीं थी। आगे की जांच जारी है।

सफदरजंग अस्पताल में  छत से कूदकर की थी खुदकुशी
इससे पहले कोरोना वायरस के डर से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में एक व्यक्ति ने अस्पताल की छत से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। मृत युवक का नाम तनवीर सिंह था और उम्र 35 साल थी वो पंजाब का रहने वाला था, वह ऑस्ट्रेलिया के सिडनी से दिल्ली लौटा था वहीं उसे सिरदर्द की शिकायत के बाद ही कोरोना संदिग्‍ध मानते हुए एयरपोर्ट से सीधे सफदरजंग भेजा गया था और वहां जांच से पहले ही छत से कूद कर खुदकुशी कर ली थी।

पूरे महाराष्ट्र में लॉकडाउन
महामारी को रोकने के लिए पूरे महाराष्ट्र में तालाबंदी की गई है। लॉकडाउन के दौरान, राज्य की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया और सार्वजनिक परिवहन वाहन नहीं चलेंगे। केवल आवश्यक वस्तुओं और स्वास्थ्य सेवाओं की खरीद के लिए प्राइवेट वाहनों को स्थानांतरित करने की अनुमति है। सीआरपीसी की धारा 144 राज्य भर में लगाई गई है, जो सार्वजनिक स्थानों पर 5 से अधिक व्यक्तियों के जमावड़े को रोकती है। 

चालू रहेंगी ये सुविधाएं
किराना स्टोर, डेयरियां, होम डिलीवरी रेस्तरां, फार्मेसियों, बैंक और एटीएम इस दौरान खुले रहेंगे। किसी भी संप्रदाय के धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। 


 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर