LIVE BLOG
More UpdatesMore Updates

Mahant Narendra Giri Updates: ब्रह्मलीन नरेंद्र गिरी को दी गई भू समाधि, हजारों की संख्या में उमड़े श्रद्धालु

Narendra Giri Case Updates: बाघंबरी मठ के महंत नरेंद्र गिरी ब्रह्मलीन हो चुके हैं। उन्हें पर्दे के पीछे बाघंबरी मठ में भू-समाधि दी गई। उनकी अंतिम इच्छा थी कि मठ में ही नींबू के पेड़ के पास भू-समाधि दी जाए जिसका जिक्र सुसाइड नोट में था। बता दें कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक दम घुटने की वजह से उनकी मौत हुई हालांकि विसरा को सुरक्षित रखा गया है।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरी केस में पोस्टमार्टम की रिपोर्ट से पता चला है कि उन्होंने फांसी लगाई थी। लेकिन अभी भी अहम सवाल यह है कि आनंद गिरी की उसमें भूमिका क्या है। सुसाइड नोट में नरेंद्र गिरी ने आनंद गिरी से हो रही परेशानी का जिक्र किया है। लेकिन आरोपी आनंद गिरी खुद को पाक साफ बता रहा है, हालांकि मामले की तह तक पहुंचने के लिए एसआईटी जांच भी जारी है। 

Sep 22, 2021  |  02:43 PM (IST)
बाघंबरी मठ में महंत नरेंद्र गिरी को भू-समाधि

महंत नरेंद्र गिरी को बाघंबरी मठ में भू-समाधि देने की प्रक्रिया संपन्न हुई। नींबू के पेड़ के पास उनकी इच्छा के मुताबिक भू-समाधि देने का काम विधि विधान से पर्दे के पीछे अंतिम क्रिया कर्म को पूरा कराया गया। 

Sep 22, 2021  |  02:17 PM (IST)
नरेंद्र गिरी के पार्थिव शरीर को गंगा में कराया गया स्नान

पोस्टमार्टम के बाद महंत नरेंद्र गिरी के पार्थिव शरीर को संगम ले जाया गया और गंगा में स्नान कराया गया। उस मौके पर यूपी सरकार के कई मंत्री मौजूद रहे। गंगा स्नान के बाद उनके शव को बाघंबरी पीठ लाया जा रहा है जहां भू- समाधि दी जाएगी

Sep 22, 2021  |  11:56 AM (IST)
महंत नरेंद्र गिरी की अंतिम यात्रा शुरू

पोस्टमार्टम के बाद महंत नरेंद्र गिरी की अंतिम यात्रा शुरू हो चुकी है, भू-समाधि से पहले पार्थिव शरीर को गंगा स्नान कराया जाएगा। संगम में स्नान कराए जाने के बाद उनके पार्थिव शरीर को भू-समाधि दी जाएगी। 

Sep 22, 2021  |  11:11 AM (IST)
नरेंद्र गिरी केस में शिवसेना का खास बयान

शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत का कहना है अगर महंत नरेंद्र गिरी केस की जांच एसआईटी कर रही है तो मामला गंभीर है। उन्होंने कहा कि इस केस की मॉनिटरिंग सीएम योगी आदित्यनाथ को खुद करनी चाहिए। इसके साथ सीबीआई जांच के लिए एक और अर्जी दायर की गई है। यह याचिका बार एसोसिएशन के सचिव अभिषेक शुक्ला की तरफ से इलाहाबाद हाईकोर्ट में दायर की गई है। 

Sep 22, 2021  |  11:03 AM (IST)
आनंद गिरी से करीब 12 घंटे पूछताछ

नरेंद्र गिरी के शिष्य आनंद गिरी से प्रयागराज पुलिस लाइन में करीब 12 घंटे पूछताछ की गई। बताया जा रहा है कि उसका महंत जी हाल फिलहाल में किसी तरह का विवाद नहीं था। उसे फंसाने की कोशिश की जा रही है। उसका नरेंद्र गिरी केस से किसी तरह का लेना देना नहीं है। 

Sep 22, 2021  |  08:25 AM (IST)
नरेंद्र गिरी के शव का पोस्टमार्टम जारी

महंत नरेंद्र गिरी के शव का पोस्टमार्टम पांच डॉक्टरों की टीम कर रही है, पोस्टमार्टम के बाद शव को बाघंबरी मठ को सौंप दिया जाएगा। शव को गंगा स्नान कराए जाने के बाद दोपहर 12 बजे के करीब भू समाधि दी जाएगी। इस बीत आरोपियों को 2 बजे इलाहाबाद हाईकोर्ट में पेश किया जाएगा। 

Sep 22, 2021  |  07:55 AM (IST)
थोड़ी देर में शुरू होगा पोस्टमार्टम

महंत नरेंद्र गिरी के पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम थोड़ी देर में शुरू होगा। उनके शव को बाघंबरी मठ से अस्पताल ले जाया जा रहा है। पांच डॉक्टरों की टीम पोस्टमार्टम करेगी।

Sep 22, 2021  |  06:49 AM (IST)
8 बजे पोस्टमार्टम और 12 बजे भू समाधि

महंत नरेंद्र गिरी के पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम सुबह 8 बजे होगा और 12 बजे उन्हें बाघंबरी पीठ में ही भू समाधि दी जाएगी। बता दें कि उनका निधन सोमवार को हुआ था जिसे लेकर कई तरह के सवाल हैं।

Sep 22, 2021  |  06:49 AM (IST)
18 सदस्यों वाली एसआईटी कर रही हैं जांच

प्रयागराज एसएसपी द्वारा गठित 18 सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) में दो क्षेत्राधिकारी शामिल होंगे।इस बीच, लखनऊ में अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि राज्य पुलिस ने सोमवार रात हरिद्वार में संत के शिष्य आनंद गिरि को हिरासत में ले लिया। कुमार ने कहा कि आनंद गिरि के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज होने के बाद उन्हें हिरासत में लिया गया।कुमार ने कहा कि सुसाइड नोट में तीन लोगों के नाम थे और प्राथमिकी के आधार पर आनंद गिरि को हिरासत में लिया गया। उन्होंने कहा, ‘‘उसे आगे की जांच के लिए प्रयागराज लाया जा रहा है।’’ उन्होंने कहा कि मामले में सबूत एकत्र किए जा रहे हैं।

Sep 22, 2021  |  06:48 AM (IST)
समाजवादी पार्टी ने न्यायिक जांच की मांग की है

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को उच्च न्यायालय के किसी मौजूदा न्यायाधीश से न्यायिक जांच की मांग की।उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री यादव ने इलाहाबाद में बाघंबरी मठ का दौरा भी किया और दिवंगत महंत को श्रद्धांजलि दी।इस बीच, एक वकील, सुनील चौधरी ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को एक याचिका भेजकर मामले की सीबीआई जांच की मांग की। चौधरी ने कहा कि कुछ समाचार पोर्टलों के अनुसार, मामले में उत्तर प्रदेश के एक उच्च पदस्थ पुलिस अधिकारी और भू-माफिया शामिल है।