FICCI पदाधिकारियों से बातचीत में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने रखा विकास का रोडमैप

देश
आलोक राव
Updated Jun 26, 2020 | 22:56 IST

Yogi Adityanath meeting with FICCI : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में आर्थिक गतिविधियां बढ़ाने के लिए शुक्रवार को फिक्की के पदाधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की।

 Yogi Adityanath presents roadmap of developments with FICCI
फिक्की पदाधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बैठक। 

मुख्य बातें

  • राज्य में निवेश बढ़ाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने फिक्की के पदाधिकारियों के साथ की चर्चा
  • मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के बारे में धारणा बदलने में फिक्की का योगदान भी अहम रहा है
  • कोविड-19 से निपटने में योगी सरकार के कदमों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सराहा है

लखनऊ : कोविड-19 के संकट से पटरी से उतरी उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को दोबारा बहाल करने के लिए योगी सरकार लगातार कदम उठा रही है। इसी क्रम में राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को वेबिनार के जरिए भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) के पदाधिकारियों से बात की और राज्य में आर्थिक गतिविधियां बढ़ाने के बारे में उनके विचार सुने। मुख्यमंत्री ने इसके बाद कोरोना संकट के दौर में राज्य में विकास का रोड मैप पदाधिकारियों के सामने रखा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि देश एवं दुनिया में उत्तर प्रदेश के बारे में पहले चली आ रही धारणा को बदलने में फिक्की का एक बड़ा योगदान रहा है। प्रदेश के बारे में सकारात्मक संदेश देने के लिए मुख्यमंत्री ने फिक्की का आभार जताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार इस वर्ष के अंत तक गंगा एक्सप्रेस-वे पर भी काम शुरू कर देगी। 

'प्रदेश के बारे में धारणा बदलने में फिक्की का भी योगदान'
मुख्यमंत्री ने उद्यमियों के सवालों का जवाब देते हुए कहा, 'जब हम सत्ता में आए थे तो यूपी के बारे में गलत धारणाएं थीं लेकिन उसे दूर करने में उद्योग जगत ने सहयोग किया। इन्वेस्टर सम्मिट के बाद दो ग्राउंड ब्रेकिंग सेरिमनी का आयोजन, डिफेंस एक्सपो का आयोजन उत्तर प्रदेश में हुआ। आबादी के लिहाज से उत्तर प्रदेश दुनिया के 4 देशों के बाद आता है। इस लिहाज से कोरोना काल में चुनौतियां ज्यादा थीं। कोरोना संकट में समाज के सभी तबकों के साथ उद्योग जगत ने सरकार को भरपूर सहयोग किया।' 

मुख्यमंत्री ने उद्यमियों को सुरक्षा की गारंटी दी
मुख्यमंत्री ने आगे कहा, 'राज्य में एक निवेश फ्रेंडली माहौल बनाने का कार्य हो रहा है। सेक्टोरियल पॉलिसी के माध्यम से यूपी सरकार ने आगे बढ़ने का काम किया है। राज्य में लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए सरकार श्रम सुधारों की दिशा में अपने कदम आगे बढ़ाए। राज्य सरकार अपने सभी उद्यमियों को निवेश की सुरक्षा की गारंटी देती है। पिछले तीन वर्षों से काम कर रहे उद्यमी पहले की स्थिति से तुलना कर सकते हैं। आर्थिक जगत को वर्तमान स्थिति को और सुदृढ़ करने में जो सहयोग होगा वह सहयोग उत्तर प्रदेश सरकार करेगी।'

Yogi

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की प्रशंसा की
कोविड-19 से निपटने में राज्य ने जो तैयारी की और जो तत्परता दिखाई उसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की प्रशंसा की। राज्य में 'आत्म निर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान' की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संकट से निपटने के लिए जो कदम उठाए हैं, वे अद्भुत हैं। पीएम ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने अपने प्रयासों से कम से कम 85 हजार लोगों का जीवन बचाया है, इसकी 2017 से पहले कल्पना नहीं की जा सकती थी। पीएम ने कहा कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने इस महामारी को अवसर के रूप में बदल दिया है। पीएम ने कहा कि योगी सरकार ने कोरोना संकट को काफी गंभीरता से लिया और इससे निपटने के लिए युद्ध स्तर पर काम किए। 

बैठक में सरकार के मंत्री एवं अधिकारी हुए शामिल
इस कार्यक्रम में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, सिद्धार्थ नाथ सिंह, आईडी से आलोक टंडन अपर मुख्य सचिव इंडस्ट्री आलोक कुमार, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल के अलावा फिक्की की ओर से संगीता रेड्डी, उदय शंकर, जेके मोदी, रूद्र चटर्जी, शरद जयपुरिया, ज्योत्सना सूरी, राकेश शाह, उमाशंकर भरतिया, विपुलराय जैसे उद्यमी भी शामिल हुए।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर