Bengal: तबाही के ना भूलने वाले निशान छोड़ गया अम्फान, पानी में तैरते रहे आसमान की ऊंचाई नापने वाले विमान

देश
किशोर जोशी
Updated May 22, 2020 | 14:02 IST

West Bengal News: पश्चिम बंगाल में अम्फान तूफान ने ऐसी तबाही मचाई कि कई लोग बेघर हो गए। तूफान की वजह से लगभग 80 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

West Bengal CM Mamata Banerjee Says Never Seen Anything Like This Amphan Toofan In My Life
West Bengal: तबाही के ना भूलने वाले निशान छोड़ गया अम्फान 

मुख्य बातें

  • बंगाल में तबाही के ना भूलने वाले कई निशान छोड गया चक्रवाती तूफान
  • अभी तक के आंकड़ों के मुताबिक लगभग 80 लोगों की मौत
  • ममता बनर्जी ने खुद कहा- मैंने अपनी जिंदगी में ऐसा तूफान नहीं देखा

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान ने इस कदर तबाही मचाई है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खुद कहा कि उन्होंने अपनी जिंदगी में ऐसी तबाही कभी नहीं देखी।  लगभग 80 लोगों को अपनी चपेट में लेने वाले इस तूफान की वजह से जो हालात पैदा हुए हैं उनसे उबरने में बंगाल को शायद काफी समय लगेगा। अम्फान ने बंगाल में करीब सात से आठ जिलों में तबाही मचाई है।

त्वरित सहायता

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्थिति का जायज़ा लेने के लिए शुक्रवार को पश्चिम बंगाल का दौरा किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ तूफान से प्रभावित इलाकों को सर्वे किया और बाद में कहा कि इस संकट की घड़ी में वह बंगाल के साथ में है। इस दौरान उन्होंने एक हजार करोड़ रुपये की त्वरित सहायता देने का ऐलान भी किया। इसके अलावा पीएम मोदी ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये देने का ऐलान भी किया।

जिंदगी में नही देखा ऐसा तूफान

 टाइम्स नाउ से बात करते हुए एक शख्स ने कहा कि उसने अपनी जिंदगी में ऐसा चक्रवात कभी नहीं देखा। यहीं नहीं एक शख्स ने कहा, 'मैंने तो क्या, मेरे पुरखों ने भी ऐसा तूफान नहीं देखा होगा। यह एक तबाही वाला मंजर था। हमारे पास जो कुछ भी था वो सब तूफान ने छीन लिया।' कई जिलों से तबाही की जो तस्वीरें सामने आई हैं वो दर्दनाक हैं। घर ढह गए हैं या तो उनकी छतें गायब हैं। बिजली के खंभे ताश के पत्तों की तरह बिखरे हुए हैं। संचार के साधनों को भारी नुकसान हुआ है।


जलमग्न हुआ कोलकाता एयरपोर्ट

कोलकाता हवाई अड्डे का नजारा ऐसा था कि मानों वो पानी में डूब गया हो। जो विमान कभी आसमान की दूरी चंद मिनटों में नाप देते थे वो पानी में तैरते हुए नजर आए। एक विमान कंपनी के कार्यालय की छत ही उड़ गई।  तबाही के मंजर को बयां करते  हैं सड़कों पर गिरे सैकड़ों बिजली के खंभे, ट्रैफिक सिग्नल और पेड। किसानों को तो इस कदर नकुसान हुआ कि उनकी पूरी की पूरी फसल बर्बाद हो गई। 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर