मुश्किल में आजम खान, चोरी हुई शेरों की मूर्तियां जौहर विश्वविद्यालय से बरामद

देश
Updated Jul 31, 2019 | 21:06 IST | पल्लव मिश्रा

सपा सांसद आजम खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अभी मदरसा से किताबों की चोरी का मामला शांत नहीं हुआ था कि अब जौहर विश्वविद्यालय से दो शेरों की चोरी कि हुई मूर्तियां बरामद की गई हैं।

Azam Khan
आजम खान (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: PTI
मुख्य बातें
  • रामपुर क्लब से दो शेरों की मूर्तियां हुई थी चोरी
  • पुलिस की जांच में जौहर विश्वविद्यालय से कब्जे में ली गई शेरों की चोरी हुईं मूर्तियां
  • सपा सांसद आजम खान के ऊपर दर्ज हो चुके हैं कई मुकदमे

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामुपर से सासंद आजम खान पर कानूनी शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। ताजा जानकारी के मुताबिक, सपा नेता आजम खान पर एक और एफआईआर दर्ज की गई है। रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस को जानकारी मिली थी कि रामपुर क्लब से 2 बड़े शेर की मूर्तियों चोरी हो गई हैं और उसे मौलाना अली जौहर विश्वविद्यालय में स्थापित किया गया है।

क्लब से चोरी हुई थी शेरों की मूर्तियां
सपा सांसद आजम खान पर आरोप है कि उनके आदेश पर रामपुर क्लब से 2 बड़े शेरों की मूर्तियां चोरी कर मौलान अली जौहर विश्वविद्यालय में लगाई गई। इसके बाद पुलिस ने जौहर विश्वविद्यालय में जांच की और शेरों की मूर्तियों को अपने कब्जे में ले लिया। जानकारी के अनुसार, पुलिस जब्त मूर्तियों को उनके मालिक को दे देगी। 
बता दें कि नवाब काजिम खान नाम के शख्स ने पुलिस से शिकायत की थी कि आजम खान और उनके ठेकेदार रामपुर क्लब से मूर्तियां उठाकर विश्वविद्यालय में स्थापित कर दिया। वहीं पुलिस ने मूर्तियां बरामद कर लिया है और अब वह इसकी जांच में जुटी है।

किताबें चोरी का आरोप
इससे पहले मदरसा आलिया के प्रधानाचार्य जुबैद खान ने पुलिस में शिकायत दर्ज किताबों की चोरी की बात कही थी। इसके बाद मंगलवार को पुलिस की टीम ने जौहर विश्वविद्यालय में छापा मारा था। छापे के दौरान पुलिस को विश्वविद्यालय की सेंट्रल लाइब्रेरी से कई ऐसी किताबें मिली थी जो मदरसे से चोरी हुई बताई गई थी। वहीं रामपुर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अजयपाल शर्मा ने दावा किया था कि विश्वविद्यालय से करीब 2 हजार किताबें और पांडुलिपियां बरामद की गई जो चोरी की हैं।

सरकारी काम में पहुंचाई बाधा
पुलिस की टीम जब विश्वविद्यालय में जांच करने पहुंची थी तो उस वक्त कई छात्रों विरोध किया था। इस दौरान पुलिस ने पांच कर्मचारियों को हिरासत में लिया था जिसमें एक महिला भी शामिल थी। जांच के वक्त सपा सांसद के बेटे और रामपुर के स्वार सीट से विधायक अब्दुल्ला आजम खान को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। रिपोर्ट के अनुसार, अब्दुल्ला सरकारी काम में बाधा उत्पन्न कर रहे थे। हालांकि अब्दुल्ला आजम खान को बाद में निजी मुचलके पर जमानत मिल गई थी।

बता दें कि इससे पहले अब्दुल्ला आजम खान के खिलाफ फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पासपोर्ट बनवाने की शिकायत दर्ज कराई गई थी। बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने एफआईआर दर्ज कराते हुए आरोप लगाया था कि सपा विधायक ने झूठे दस्तावेज पेश कर अपना पासपोर्ट बनावाया था। वहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने आजम खान का नाम भू माफिया की सूची में शामिल कर दिया था।

ABDULLA AZAM KHAN

(तस्वीर साभार- फेसबुक)

सपा सांसद पर दर्ज हो चुके हैं कई मामले
रिपोर्ट के मुताबिक,सपा सांसद और उनके करीबियों पर पुलिस  का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। बीते दिनों आजम खान और उनके सहयोगी अले हसन खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी। इसके साथ ही पुलिस ने आले हसने के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी किया था। रिपोर्ट के अनुसार, आजम खान के खिलाफ अब तक करीब एक दर्जन से अधिक केस दर्ज किए जा चुके हैं।

Azam khan

(तस्वीर साभार- पीटीआई)

इससे पहले उप जिलाधिकारी (एसडीएम) ने जौहर विश्वविद्यालय के गेट को हटाने का आदेश दिया था। एसडीएम कोर्ट ने कहा था कि गेट पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट की भूमि पर बनाया गया। कोर्ट ने 15 दिनों के भीतर इसे हटाने का आदेश दिया था। बता दें कि इससे पहले आजम खान बीजेपी सांसद रमा देवी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने की वजह से चर्चा में थे। हालांकि लोकसभा अध्यक्ष के फैसले के बाद आजम खान ने बीजेपी सांसद रमा देवी से बिना शर्त दो बार माफी मांग ली थी। 
वहीं जौहर विश्वविद्यालय की 140 बीघा जमीन का पट्टा भी रामपुर में एसडीएम सदर की अदालत ने रद्द कर दिया था। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर