दिल्ली से बनेगी यूपी को जीतने की रणनीति! राज्य के BJP सांसदों की बैठक में CM योगी भी रहेंगे मौजूद

इससे पहले सीएम योगी गत जून में दिल्ली पहुंचे थे। उनकी यह यात्रा मंत्रिमंडल में विस्तार की अटकलों के बीच हुई थी। चर्चा यह भी थी कि भाजपा यूपी में नेतृत्व परिवर्तन भी कर सकती है।

UP Chunav: Yogi Adityanath JP Nadda to attend two-day BJP MPs meeting in Delhi
यूपी के भाजपा सांसदों की दिल्ली में बैठक। 

मुख्य बातें

  • उत्तर प्रदेश के भाजपा सांसदों की दिल्ली में दो दिनों तक चलेगी बैठक
  • इस बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ, पार्टी अध्यक्ष नड्डा शामिल होंगे
  • सांसदों को अपने निर्वाचन क्षेत्रों में प्रचार की जिम्मेदारी दी जा सकती है

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों की तैयारी में जुटी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) हर स्तर पर सक्रिय हो गई है। अगले साल होने वाले चुनाव में संगठन और पार्टी की भूमिका एवं रणनीति को जांचने-परखने एवं आकंलन करने का काम शुरू हो गया है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश से पार्टी के सभी सांसदों की दो दिनों की बैठक दिल्ली में शुरू हो रही है। इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शामिल होंगे। समझा जा रहा है कि इस बैठक में सांसद आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर पार्टी के समक्ष अपनी राय रखेंगे। सांसदों की राय एवं सुझाव को चुनावी रणनीति में इस्तेमाल किया जाएगा। 

सीएम योगी के चेहरे पर चुनाव लड़ेगी भाजपा
इससे पहले सीएम योगी गत जून में दिल्ली पहुंचे थे। उनकी यह यात्रा मंत्रिमंडल में विस्तार की अटकलों के बीच हुई थी। चर्चा यह भी थी कि भाजपा यूपी में नेतृत्व परिवर्तन भी कर सकती है लेकिन सीएम योगी की दिल्ली यात्रा के बाद इन सभी अटकलों पर विराम लग गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने वाराणसी दौरे के समय योगी सरकार की जमकर तारीफ की। इससे जाहिर हो गया कि भाजपा अगला विस चुनाव सीएम योगी के चेहरे पर लड़ेगी। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी यह स्पष्ट कर चुके हैं कि पार्टी अगला चुनाव योगी आदित्यनाथ के चेहरे पर लड़ेगी।

चुनाव में 2017 का प्रदर्शन दोहराना चाहती है पार्टी
राज्य में विधानसभा चुनाव फरवरी-मार्च में होने हैं। इसे देखते हुए पार्टी ने अपनी तैयारी अभी से शुरू कर दी है। भाजपा के लिए यूपी चुनाव काफी अहमियत रखता है। पार्टी को उम्मीद है कि 2017 की तरह इस बार भी वह अपना प्रदर्शन दोहराएगी। भाजपा इस चुनाव में योगी सरकार के पांच सालों के कार्यकाल के दौरान हुए विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं को लेकर जनता के बीच जाएगी। चर्चा यह भी है कि पार्टी इस बार 40 फीसदी मौजूदा विधायकों को टिकट नहीं देगी। टिकट वितरण में प्रदर्शन को आधार बनाया जाएगा। 

दिल्ली में दो दिनों तक होगा मंथन
दिल्ली में दो दिनों तक चलने वाली इस बैठक में डिप्टी मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एवं दिनेश शर्मा भी शामिल होंगे। लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों के सांसदों को इस बैठक में शामिल होने के लिए कहा गया है। भाजपा अध्यक्ष नड्डा सांसदों से अपने निर्वाचन क्षेत्रों में सरकार की कल्याणकारी नीतियों एवं विकास कार्यों की चर्चा जनता के बीच करने का निर्देश दे सकते हैं। 

इससे पहले कार्यसमिति की हुई बैठक
इससे पहले गत 16 जुलाई को नड्डा ने भारतीय जनता पार्टी की कार्यसमिति की बैठक को दिल्ली से संबोधित किया। इस बैठक में मिशन-2022 की रणनीति पर मंथन हुआ। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा, प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल सहित कार्यसमिति के सदस्य एवं पदाधिकारी शामिल हुए।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर