'केंद्रीय मंत्रिपरिषद' की बैठक आज,शामिल होंगे सभी मंत्री, क्या कैबिनेट विस्तार पर होगी बात!

Union Council of Ministers meeting:बैठक में कैबिनेट फेरबदल पर चर्चा के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली पिछले एक महीने के भीतर इस तरह की यह तीसरी बैठक है।

PM MODI CABINET MEETING
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक (फाइल फोटो) 
मुख्य बातें
  • कोविड संकट पर व्यापक चर्चा बैठक का प्रमुख मुद्दा है
  • कुछ मंत्रालयों के काम-काज की भी हो सकती है समीक्षा
  • ये अहम बैठक बुधवार शाम को वर्चुअली होने जा रही है

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार यानी 30 जून को केंद्रीय मंत्रिपरिषद की बैठक की अध्यक्षता करेंगे, जिसमें देश में कोविड की स्थिति, संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी और कुछ मंत्रालयों के कामकाज पर चर्चा होगी। भाजपा के अंदरूनी सूत्रों का मानना है कि मंत्रिपरिषद की बैठक महत्वपूर्ण हो जाती है, क्योंकि यह ऐसे समय में हो रही है, जब राजनीतिक गलियारों में मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल की अटकलें लगाई जा रही हैं।

बैठक बुधवार शाम को वर्चुअली होने जा रही है, जिसमें प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सचिव, सदस्य (स्वास्थ्य) नीति आयोग डॉ वी.के.पॉल द्वारा कोविड महामारी के प्रबंधन पर एक प्रस्तुति दिए जाने की उम्मीद है।

मंत्रालयों के काम-काज की भी होगी समीक्षा

यह भी बताया गया है कि कोविड पर व्यापक चर्चा बैठक का प्रमुख मुद्दा है, जिस दौरान सड़क और परिवहन मंत्रालय, नागरिक उड्डयन और दूरसंचार द्वारा किए गए कार्यो की समीक्षा की जा सकती है।बैठक के एक सप्ताह बाद प्रधानमंत्री ने विभिन्न समूहों में कैबिनेट और राज्य मामलों के मंत्रियों के साथ अपने विभागों और संबंधित मंत्रालयों में चल रहे कार्यो के बारे में चर्चा की।

प्रधानमंत्री ने 30 अप्रैल को मंत्रिपरिषद के साथ बैठक की थी

ये बैठकें प्रधानमंत्री के सरकारी आवास 7, लोक कल्याण मार्ग पर हुईं और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने भी भाग लिया।प्रधानमंत्री ने देश में कोविड की दूसरी लहर से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा करने के लिए 30 अप्रैल को मंत्रिपरिषद के साथ बैठक की थी, जिसमें यह नोट किया गया कि मौजूदा महामारी इस सदी का बड़ा संकट है और दुनिया के लिए एक बड़ी चुनौती है।उस बैठक में केंद्र, राज्य सरकारों और भारत के लोगों के सामूहिक प्रयासों के आधार पर कोविड से लड़ने के लिए भारत सरकार की टीम इंडिया के दृष्टिकोण पर प्रकाश डाला गया।

'स्थानीय स्तर पर मुद्दों की तुरंत पहचान की जाए और उनका समाधान किया जाए'

प्रधानमंत्री ने कहा था कि सरकार के सभी अंग स्थिति से निपटने के लिए एकजुट और तेजी से काम कर रहे हैं। उन्होंने मंत्रियों से अपने-अपने क्षेत्रों के लोगों के संपर्क में रहने, उनकी मदद करने और उनकी प्रतिक्रिया प्राप्त करने का भी आग्रह किया था। उन्होंने यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर बल दिया था कि स्थानीय स्तर पर मुद्दों की तुरंत पहचान की जाए और उनका समाधान किया जाए।मंत्रिपरिषद ने पिछले 14 महीनों में केंद्र और राज्य सरकारों और भारत के लोगों द्वारा किए गए सभी प्रयासों की भी समीक्षा की थी।

Drone Attack के बाद पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन (IAF) पर ड्रोन से हमला (Drone Attack) किए जाने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और एनएसए अजीत डोभाल के साथ करीब दो घंटे तक उच्च स्तरीय बैठक (High Lavel Meeting) की इसमें रक्षा क्षेत्र में भविष्य की चुनौतियों पर चर्चा की, गौर हो कि रविवार आधी रात जम्मू एयरबेस के तकनीकी इलाके में दो विस्फोट हुए थे।

ये धमाके विस्फोटकों से लदे दो ड्रोन से किए गए थे इन धमाकों में एक इमारत को नुकसान पहुंचा। सुरक्षा मामलों से जुड़ी इस बैठक में जम्मू-कश्मीर की स्थिति, लद्दाख में चीन के साथ चल रही तनातनी और जम्मू-कश्मीर में दिखाई दे रहे ड्रोन के बाबत चर्चा हुई ड्रोन आने के स्रोत, इसे रोकने के उपाय समेत अन्य बिंदुओं पर चर्चा हुई है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर