शिवसेना ने बीजेपी के साथ गठबंधन में 25 साल बर्बाद कर दिए: उद्धव ठाकरे

देश
किशोर जोशी
Updated Jan 23, 2022 | 23:49 IST

पार्टी संस्थापक और अपने पिता बाल ठाकरे की 96वीं जयंती पर शिवसैनिकों को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि भाजपा का हिंदुत्व सत्ता के लिए है।

Uddhav Thackeray Says Wasted 25 Years In Alliance With BJP
शिवसेना ने बीजेपी के साथ गठबंधन में 25 साल बर्बाद किए: उद्धव 
मुख्य बातें
  • उद्धव ठाकरे बोले- शिवसेना ने भाजपा के साथ रहकर 25 साल बर्बाद कर दिये
  • भाजपा पर राजनीतिक सुविधा के अनुसार हिंदुत्व का इस्तेमाल- उद्धव
  • उद्धव बोले- मैं मानता हूं कि भाजपा का अवसरवादी हिंदुत्व बस सत्ता के लिए है

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनकी पार्टी राज्य के बाहर अपना विस्तार करने और राष्ट्रीय भूमिका निभाने का प्रयास करेगी। इस दौरान उन्होंने भाजपा पर राजनीतिक सुविधा के अनुसार हिंदुत्व का उपयोग करने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सिकुड़ गया है क्योंकि अकाली दल और शिवसेना जैसे पुराने घटक पहले ही गठबंधन से बाहर हो चुके हैं।

25 साल हुए बर्बाद

पार्टी के संस्थापक और अपने पिता बाल ठाकरे की 96वीं जयंती के अवसर पर शिवसैनिकों को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना ने सत्ता के माध्यम से हिंदुत्व के एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए भाजपा के साथ गठबंधन किया था। उन्होंने कहा, 'शिवसेना ने भाजपा के साथ गठबंधन किया था क्योंकि वह हिंदुत्व के लिए सत्ता चाहती थी। शिवसेना ने कभी भी सत्ता की खातिर हिंदुत्व का इस्तेमाल नहीं किया। शिवसेना ने बीजेपी को छोड़ा है हिंदुत्व को नहीं। मेरा मानना ​​है कि भाजपा का अवसरवादी हिंदुत्व सिर्फ सत्ता के लिए है। शिवसेना ने भाजपा के साथ सहयोगी के रूप में जो 25 साल बिताए, वो बर्बाद चले गए थे।'

बीजेपी के साथ गठबंधन खत्म करने का फैसला सही था

2019 के महाराष्ट्र चुनावों के बाद शिवसेना भाजपा से अलग हो गई थी और महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार बनाने के लिए उसने एनसीपी और कांग्रेस के साथ गठजोड़ कर लिया।  2019 के चुनावों के बाद कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ गठबंधन करने के अपने फैसले को सही ठहराते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा, 'हमने भाजपा को उनकी राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने में सक्षम बनाने के लिए पूरे दिल से समर्थन किया। समझ यह थी कि वे राष्ट्रीय होंगे जबकि हम महाराष्ट्र में नेतृत्व करेंगे। लेकिन हमें धोखा दिया गया और हमारे घर में हमें खत्म करने का प्रयास किया गया। इसलिए हमें पीछे हटना पड़ा।' 

ममता का जवाब बनेंगे उद्धव ठाकरे, जानें कांग्रेस से क्या चाहती है शिवसेना

हिंदुत्व को नहीं छोड़ा है

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा अपनी राजनीतिक सुविधा के अनुसार अपने सहयोगियों का इस्तेमाल करती है और उन्हें छोड़ देती है। बीजेपी के इस आरोप पर कि शिवसेना ने सत्ता के लिए हिंदुत्व का परित्याग कर दिया है, का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने हिंदुत्व की विचारधारा को नहीं बल्कि भाजपा को छोड़ा है। उन्होंने कहा, 'भाजपा का मतलब हिंदुत्व नहीं है। मैं अपनी टिप्पणी पर कायम हूं कि शिवसेना ने भाजपा के साथ गठबंधन में 25 साल बर्बाद कर दिए।'

स्थानीय चुनाव का किया जिक्र

हाल के नगर पंचायत चुनावों का जिक्र करते हुए, जहां शिवसेना ने खराब प्रदर्शन किया और चौथा स्थान हासिल किया, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने खुद और शिवसेना के नेताओं ने स्थानीय निकाय चुनावों को गंभीरता से नहीं लिया और उसी के अनुसार प्रचार किया। उद्धव ने कहा,'इसके विपरीत, हमारे नए सहयोगी कांग्रेस और राकांपा ने जमीनी स्तर पर संस्थानों का निर्माण किया है। हमें भी उस दिशा में काम करना है। पिछले दो वर्षों में, हम द्विवार्षिक चुनावों में हमारे द्वारा आयोजित विधान परिषद की दो सीटें हार गए। मुझे लगता है कि हम उपेक्षा के कारण हारे न कि अन्य कारणों से।'

उद्धव ठाकरे पर अमित शाह का निशाना- सत्ता के लिए हिंदुत्व से समझौता कर लिया, तिपहिया ऑटो की तरह है महा विकास अघाड़ी सरकार

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर