Udaipur murder: गिरफ्तार चारों आरोपियों को 10 दिन की NIA रिमांड पर भेजा, कोर्ट परिसर में आरोपियों की पिटाई

Kanhaiya lal murder: उदयपुर के कन्हैया लाल की हत्या के मामले में 4 आरोपियों को 10 दिन की NIA रिमांड पर भेज दिया गया है।

udaipur murder case
उदयपुर हत्याकांड  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • अदालत ने आरोपियों को 12 जुलाई तक NIA रिमांड में भेज दिया
  • अदालत परिसर के बाहर वकीलों के एक समूह ने आरोपियों पर हमला किया
  • इस मामले में अब तक 4 लोगों की गिरफ्तारी हुई है

उदयपुर हत्याकांड के चारों आरोपियों को आज जयपुर की NIA कोर्ट में पेश किया गया, जहां कोर्ट ने उन्हें 10 दिन की एनआईए रिमांड पर भेज दिया। खबर ये भी है कि जयपुर जिला एवं सत्र न्यायालय में स्थानीय वकीलों ने कन्हैया लाल के आरोपियों की पिटाई की। आक्रोशित वकीलों ने आरोपियों को अदालत से वापस ले जाते समय अदालत परिसर के बाहर लात और घूंसे चलाए, उनके कपडे फाड़ दिए और अभ्रद भाषा का प्रयोग करते हुए उनपर लातों और घूसों से हमला किया। पुलिस ने किसी तरह उन्हें वकीलों के लातों और घूसों के बीच पुलिस वाहन में चढाया।

रियाज अख्तरी और गौसस मोहम्मद को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया था। दो अन्य मोहसिन और आसिफ को गुरुवार रात साजिश में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उन्हें कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अदालत में पेश किया गया। एक वकील के अनुसार, अदालत ने 12 जुलाई तक पुलिस रिमांड का आदेश दिया है। 

अदालत परिसर में भारी पुलिस व्यवस्था थी और कई वकीलों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद और कन्हैया के हत्यारों को फांसी दो जैसे नारे लगाए। 
जब आरोपियों को पुलिस वाहन में वापस ले जाया जा रहा था, तो उत्तेजित वकीलों की भीड़ ने उन पर हमला करने की कोशिश की।

वहीं उदयपुर के कर्फ्यूग्रस्त इलाकों में शनिवार को चार घंटे की ढील दी गई। मंगलार को दर्जी कन्हैयालाल की उसकी दुकान में निर्मम हत्या के बाद तनाव के चलते सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया था। जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि शनिवार दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई है। स्थिति की समीक्षा के बाद निर्णय लिया गया है। उदयपुर के सात थाना क्षेत्रों धानमंडी, घंटाघर, हाथीपोल, अंबा माता, सूरज पाले, भूपाल पुरा और सवीना थाना क्षेत्रों में मंगलवार को कर्फ्यू लगा दिया गया था।

उदयपुर में आतंक का असली गुनहगार कौन, नूपुर शर्मा बहाना मकसद आतंक फैलाना?

सोशल मीडिया पर एक विवादित पोस्ट को लेकर दर्जी कन्हैयालाल की मंगलवार को दो मुस्लिमों ने हत्या कर दी थी। दोनों आरोपियों को वारदात के कुछ घंटों बाद राजसमंद के भीम क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया था।

उदयपुर हत्याकांड में बड़ा खुलासा, कन्हैयालाल की हत्या के जरिए दंगा भड़काने की थी साजिश

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर