Jammu Kashmir: आतंकियों द्वारा निशाना बनाए जाने के बाद एडवायजरी जारी, पुलिस- आर्मी कैंप में लाए जाएंगे मजदूर

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने गरीब मजदूरों को निशाना बनाया है। आतंकियों के हमले में दो मजदूरों की मौत हो गई जबकि एक का इलाज अस्पताल में चल रहा है।

Jammu and Kashmir, terrorist attack, non-Kashmiri laborers became the target,
कुलगाम में मजदूरों को आतंकियों ने बनाया निशाना, पुलिस- आर्मी कैंप में रखे जाएंगे मजदूर 
मुख्य बातें
  • कुलगाम में आतंकियों मे मजदूरों को मारी गोली, 2 की मौत एक घायल
  • तीनों मजदूर बिहार के रहने वाले
  • श्रीनगर के ईदगाह इलाके और पुलवामा में मजदूरों को आतंकियों ने बनाया था निशाना

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने एक बार फिर प्रवासी मजदूरों को निशाना बनाया है। कुलगाम में तीन मजदूरों को गोली मार दी जिसमें दो की मौत हो चुकी है। तीनों मजदूर बिहार के रहने वाले हैं। एक मजदूर को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से बातचीत की और अपनी चिंता से अवगत कराया। जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने उन्हें भरोसा दिलाया कि मजदूरों की सुरक्षा प्रशासन की पहली प्राथमिकता है। इस संबंध में जम्मू-कश्मीर प्रशासन की तरफ से एडवायजरी जारी की गई है। बाहरी मजूदरों को पुलिस और आर्मी कैंप में रखा जाएगा। 

हाल के दिनों में आतंकी वारदात में इजाफा
बता दें कि शनिवार को श्रीनगर के ईदगाह इलाक में बिहार के रहने वाले अरविंद कुमार साह को गोली मार दी वो गोलगप्पा बेचने का काम करते थे। इसके अलावा आतंकियों ने शनिवार को ही पुलवामा में यूपी के रहने वाले सगीर अहमद को निशाना बनाया था।इससे पहले श्रीनगर में ही बिहार के रहने वाले वीरेंद्र पासवान को भी आतंकियों ने निशाना बनाया था।

जम्मू कश्मीर के एलजी का खास ट्वीट
जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि सरकार दुख की घड़ी में पीड़ितो के साथ है, आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। आतंकियों की कायराना हरकत की जितनी निंदा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि घाटी में जिस तरह से जमीन पर विकास कार्यों को संपन्न कराया जा रहा है और आम लोगों की मदद मिल रही है उसके बाद बौखलाहट में आतंकी कायराना हरकत कर रहे हैं।

बिहार के रहने वाले हैं दोनों मजदूर
राजा ऋषिदेव और जोगिंदर ऋषिदेव की मौत हो चुकी है जबकि चुनचुन ऋषिदेव का अस्पताल में इलाज चल रहा है। मौके पर भारी संख्या में सुरक्षा बलों की मौजूदगी है। जम्मू-कश्मीर पुलिस का कहना है कि आतंकियों को ठिकाने के लिए तेजी से अभियान चलाया जा रहा है। इस घटना के लिए जो लोग जिम्मेदार होंगे उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा। 

कुलगाम में गरीब मजदूर बने निशाना

घबराहट में कायराना हरकत को अंजाम दे रहे हैं आतंकी
बता दें कि इस महीने की 2 तारीख से घाटी के अलग अलग इलाकों में आतंकी गतिविधियों में इजाफा हुआ है। इसके साथ ही 6 अक्टूबर से 15 अक्टूबर के बीच 9 दिन में 9 एनकाउंटर में 13 आतंकियों को मारा गया है जिसमें जैश ए मोहम्मद, लश्कर ए तैय्यबा के साथ साथ टीआरएफ से जुड़े आतंकी शामिल हैं। जानकारों का कहना है कि आतंकियों के खिलाफ पुख्ता कार्रवाई से आतंकी तंजीमें घबराई हुई हैं और इस तरह की कायराना हरकत को अंजाम दिया जा रहा है। बता दें कि नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला का कहना है कि जो दहशतगर्द इस तरह की वारदात में शामिल हैं वो कश्मीरी नहीं हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर