Tractor Rally: संयुक्त किसान मोर्चा ने ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा से खुद को किया अलग

देश
रवि वैश्य
Updated Jan 26, 2021 | 17:32 IST

राजधानी दिल्ली में 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली में खासी हिंसा हुई है, जिसपर पुलिस को लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल करना पड़ा।

 Samyukta Kisan Morcha Press Statement on Protesting farmers in delhi  
किसानों ने लालकिले के कुछ गुंबदों पर भी अपने झंडे लगा दिए 

ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित मार्ग से हटकर प्रदर्शनकारी किसानों का एक समूह मंगलवार को लालकिले में घुस गया और राष्ट्रीय राजधानी स्थित इस ऐतिहासिक स्मारक के कुछ गुंबदों पर झंडे लगा दिए।पुलिस द्वारा आईटीओ से खदेड़े गए प्रदर्शनकारी किसानों का एक समूह अपने ट्रैक्टर लेकर लालकिला परिसर पहुंच गया।

ये प्रदर्शनकारी लालकिला परिसर में घुस गए और उस ध्वज-स्तंभ पर अपना झंडा लगाते दिखे जहां से प्रधानमंत्री 15 अगस्त को राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। उन्होंने लालकिले के कुछ गुंबदों पर भी अपने झंडे लगा दिए।

इससे पहले प्रदर्शनकारी किसान आईटीओ पहुंच गए और लुटियंस इलाके की तरफ बढ़ने की कोशिश की। इसपर पुलिस को लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल करना पड़ा।

इस मामले पर किसानों की भूमिका की खासी आलोचना हो रही है वहीं इस मामले पर संयुक्त किसान मोर्चा (Samyukta Kisan Morcha Press Statement) का प्रेस स्टेटमेंट सामने आया है, इसमें लिखा है-

आज के किसान गणतंत्र दिवस परेड में अभूतपूर्व भागीदारी के लिए हम किसानों को धन्यवाद देते हैं। हम उन अवांछनीय और अस्वीकार्य घटनाओं की भी निंदा और खेद करते हैं जो आज घटित हुई हैं और ऐसे कृत्यों में लिप्त होने वाले लोगों से खुद को अलग कर लेते हैं।

हमारे सभी प्रयासों के बावजूद, कुछ संगठनों और व्यक्तियों ने मार्ग का उल्लंघन किया और निंदनीय कृत्यों में लिप्त रहे। असामाजिक तत्वों ने अन्यथा शांतिपूर्ण आंदोलन में घुसपैठ की थी। हमने हमेशा माना है कि शांति हमारी सबसे बड़ी ताकत है, और किसी भी उल्लंघन से आंदोलन को नुकसान पहुंचेगा।अब 6 महीने से अधिक समय तक लंबा संघर्ष, और दिल्ली की सीमाओं पर 60 दिनों से अधिक का विरोध भी इस स्थिति का कारण बना।

हम अपने आप को ऐसे सभी तत्वों से अलग कर लेते हैं जिन्होंने हमारे अनुशासन का उल्लंघन किया है। हम परेड के मार्ग और मानदंडों पर चलने के लिए सभी से दृढ़ता से अपील करते हैं, और किसी भी हिंसक कार्रवाई या राष्ट्रीय प्रतीकों और गरिमा को प्रभावित करने वाली किसी भी चीज़ में लिप्त नहीं होते हैं। हम सभी से अपील करते हैं कि वे ऐसे किसी भी कृत्य से दूर रहें।

SKM आज की योजना बनाई गई कई किसान परेडों के संबंध में सभी घटनाओं की पूरी तस्वीर लेने की कोशिश कर रहा है और जल्द ही एक पूर्ण विवरण साझा करेगा।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर