अस्पतालों में आज OPD बंद होने से बढ़ सकती हैं मरीजों की मुश्किलें, रेजिडेंट्स डॉक्टर्स ने बुलाई है हड़ताल

राजधानी के तीन शीर्ष तीन अस्पतालों सहित देशभर के कई रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने नीट पीजी 2021 काउंसलिंग आयोजित करने में हो रही देरी के खिलाफ आज हड़ताल पर जाने की घोषणा की है।

Resident doctors' calls for nationwide strike today in protest against NEET-PG counselling delay
रेजिडेंट्स डॉक्टर्स आज हड़ताल पर,बढ़ेंगी मरीजों की मुश्किलें  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • NEET PG काउंसलिंग जल्द शुरू करने की मांग को लेकर हड़ताल पर रेजीडेंट डॉक्टर
  • रेजिडेंट्स डॉक्टर बंद रखेंगे OPD, मरीजों को हो सकती हैं दिक्कतें
  • दिल्ली के आरएमएल, सफदरजंग तथा लेडी हार्डिंग अस्पताल रहेंगे हड़ताल में शामिल

नई दिल्ली: दिल्ली समेत देशभर में आज कई अस्पतालों में OPD सेवाएं बंद रहेंगी। डॉक्टरों ने आज हड़ताल का ऐलान किया है जिसकी वजह से अस्पतालों में OPD बंद रहेगी। नीट पीजी 2021 काउंसलिंग आयोजित करने में देरी के खिलाफ डॉक्टरों के तमाम संगठनों ने हड़ताल का ऐलान किया है। फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन आज से देश भर में आउट पेशेंट डिपार्टमेंट सेवाएं बंद रखने की घोषणा की है।

राजधानी दिल्ली के ये अस्पताल रहेंगे बंद में शामिल

राजधानी दिल्ली के अस्पतालों में राम मनोहर लोहिया अस्पताल, सफदरजंग अस्पताल अस्पताल और लेडी हार्डिग अस्पताल इस हड़ताल में शामिल हैं जिससे मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया मेडिकल एसोसिएशन (एफएआईएमए) के महासचिव ने डॉ सुवरंकर दत्ता ने हड़ताल को लेकर ट्वीट भी किया है और सरकार से अपनी मांग फिर दोहरायी है।

डॉ सुवरंकर दत्ता ने ट्वीट कर कहा, 'डॉक्टरों को सांसदों द्वारा राजनीति से प्रेरित पॉलिसी अपडेट के कारण क्यों नुकसान उठाना चाहिए? हम तत्काल नीट पीजी परामर्श और भर्ती की मांग करते हैं! अन्यथा, सरकार को देश भर के डॉक्टरों द्वारा राष्ट्रव्यापी अनिश्चितकालीन हड़ताल की तैयारी करनी चाहिए! अधिकांश राज्य आरडीए ने भागीदारी की पुष्टि की है।'

नीट काउंसलिंग की मांग

नोटिस के अनुसार, "देश के पहले से ही बोझ से दबे और थके हुए रेजिडेंट डॉक्टर, जो कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद से अग्रिम पंक्ति में लड़ रहे हैं, पहले से ही विलंबित नीट-पीजी 2021 काउंसलिंग के मामले में सुप्रीम कोर्ट की कार्यवाही के कुछ सकारात्मक परिणामों के लिए धैर्यपूर्वक प्रतीक्षा कर रहे हैं। हालांकि, उन्हें कोई राहत नहीं मिल रही है, अगली अदालती सुनवाई 6 जनवरी 2022 को निर्धारित है।"


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर